यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

धर्मस्थल निर्माण को लेकर अलीगढ़ और हापुड़ में टकराव, पथराव और फायरिंग


🗒 शनिवार, मई 20 2017
🖋 Unite For Humanity, Admin ALL INDIA

अलीगढ़ और हापुड़ के संवेदनशील इलाकों में आज रात धर्मस्थल निर्माण को लेकर जबरदस्त बवाल हुआ। इस दौरान दो समुदायों के बीच मारपीट, तोड़फोड़, पथराव और फायरिंग से पूरे इलाके में दहशत फैल गई। अलीगढ़ में संवेदनशील फूल चौक के पास निर्माणाधीन मस्जिद के गुंबद को लेकर बवाल शांत करने पहुंची पुलिस पर एक पक्ष ने पथराव और फायरिंग कर दी। इससे माहौल और गरमा गया। पुलिस ने उपद्रवियों को खदेड़कर स्थिति पर काबू पाया है। इसी तरह हापुड़ के देवली गांव में धार्मिकस्थल के पुनरुद्धार को लेकर दो समुदायों के बीच जमकर पथराव और तोडफ़ोड़ में तीन महिला सहित 11 लोग घायल हो गए। दोनोंभावित इलाकों में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर हालात से लखनऊ को अवगत करा दिया है। 

धर्मस्थल निर्माण को लेकर अलीगढ़ और हापुड़ में टकराव, पथराव और फायरिंग

अलीगढ़ कोतवाली इलाके के फूलचौक प्याऊ के पास मस्जिद में निर्माण चल रहा है। पास में ही राजकुमार वर्मा का मकान है। शुक्रवार को उन्होंने मस्जिद में बनाए गुंबद का यह कहते हुए विरोध किया कि उसका कुछ हिस्सा मकान उनके ऊपर आ रहा है। विरोध के बाद भी निर्माण नहीं रुका तो राजकुमार ने स्वर्णकार कमेटी के अध्यक्ष रवि वर्मा को बताया। शाम को सराफा व्यवसायी व हिंदूवादी लोग पहुंच गए और हंगामा हो गया। कुछ ही देर में दोनों संप्रदाय के लोग जमा हो गए। बड़ी संख्या में पुलिस लेकर अधिकारी भी पहुंच गए। दोनों पक्षों से बात की। 

हिंदूवादियों का कहना था कि गुंबद को रातोंरात तैयार किया गया है। इसे तत्काल हटाया जाए। रात करीब नौ बजे अफसरों की मौजूदगी में गुंबद को हटाने पर बात चल रही थी, तभी एक संप्रदाय के लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने दौड़ाया तो फायरिंग कर दी। पांच-छह राउंड फायरिंग  होने से दहशत फैल गई। पुलिस ने हवाई फायरिंग व आंसू गैस के गोले छोड़कर स्थिति पर काबू पाया। शहर विधायक संजीव राजा ने एसएसपी राजेश कुमार पांडेय से साफ कह दिया कि शनिवार सुबह 6 बजे तक गुंबद नहीं हटी तो हम हटाएंगे। एसएसपी ने रात में ही गुंबद हटाने का वादा कर कार्रवाई शुरू कराई। 

हापुड़ के सिंभावली क्षेत्र के गांव देवली में धार्मिकस्थल के पुनरुद्धार को लेकर दो समुदायों के बीच जमकर पथराव और दुकान में तोडफ़ोड़ की गई। पथराव में तीन महिला सहित 11 लोग घायल हो गए। तनाव के मद्देनजर गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है। गांव में एक समाज विशेष का धार्मिकस्थल है। झारखंड के मूल निवासी जहांगीर आलम इसके धर्मगुरु हैं। शुक्रवार को धार्मिक स्थल में निर्माण कार्य की तैयारियां की जा रही थीं। दोपहर में बाहर से आए कुछ लोगों ने धर्मगुरु के साथ मारपीट कर दी। बचाव में आई उनकी पत्नी, बच्चों व पड़ोसी की भी पिटाई की गई। धार्मिकस्थल में तोडफ़ोड़ भी की। जमकर पथराव हुआ। इसमें 11 लोग घायल हो गए। इस दौरान एक दुकान में कुछ लोगों ने तोडफ़ोड़ की। दोनों समुदाय के लोगों के बीच मारपीट और पथराव की सूचना पर पुलिस बल के साथ अधिकारी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन देकर उन्हें शांत करवाया। पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने बताया कि माहौल खराब करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर शीघ्र ही गिरफ्तार किया जाएगा।

अलीगढ़ से अन्य समाचार व लेख

» एएमयू और बीएचयू जैसी संस्थाओं को किसी समुदाय से जोड़ कर देखने की जरूरत नहींः राष्ट्रपति

» एएमयू और बीएचयू को किसी समुदाय से जोड़ कर देखना गलतः राष्ट्रपति

» कल्याण सिंह की नातिन की शादी आज, बरात लेकर पहुंचे दूल्हे प्रवीण राज

» एएमयू के दीक्षांत समारोह में शामिल होने अलीगढ़ पहुंचे राष्ट्रपति, कल्याण सिंह की नातिन की शादी में लेंगे हिस्सा

» नगर निगम भूमि पर अवैध कब्जें की सूचना पर पहुॅचे नगर आयुक्त

 

नवीन समाचार व लेख

» बहराइच के मोतीपुर क्षेत्र मे जमीनी विवाद में दबंगों ने युवक को जिंदा जलाने की कोशिश

» बाराबंकी जनपद मे खाना बनाते समय लगी आग, बच्ची जिंदा जली

» पूर्वौत्तर के बाद अब मेरठ में तोड़ी गई अंबेडकर प्रतिमा, गांव बना छावनी

» समाजवादी पार्टी ने जया बच्चन को बनाया यूपी से राज्यसभा उम्मीदवार,बसपा को समर्थन पर असमंजस

» एएमयू और बीएचयू जैसी संस्थाओं को किसी समुदाय से जोड़ कर देखने की जरूरत नहींः राष्ट्रपति