यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अलीगढ मे एएमयू के मेडिकल में 72 घंटे बाद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त, दीपावली पर परेशान रहे मरीज


🗒 गुरुवार, नवंबर 08 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

एएमयू के जेएन मेडिकल कॉलेज में 72 घंटे बाद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल गुरुवार  को समाप्त हो गई। हड़ताल की वजह से दीपावली के मौके पर तीन दिन तक मरीज परेशान रहे। मरीजों को इमरजेंसी से लौटना पड़ा। इमर्जेंसी में तैनात सीनियर डॉक्टरों ने एएमयू कर्मचारियों व छात्रों को देखने के अलावा किसी और मरीज को हाथ नहीं लगाया।

अलीगढ मे एएमयू के मेडिकल में 72 घंटे बाद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त, दीपावली पर परेशान रहे मरीज

एएमयू जेएन मेडिकल कालेज के  जूनियर डॉक्टरों ने सोमवार की सुबह सातवें वेतनमान को लेकर हड़ताल शुरू कर दी थी। हालांकि कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने हड़ताल समाप्त करने की बात जूनियर डॉक्टरों को समझाई थी, लेकिन डॉक्टर नहीं माने। बुधवार की देर रात रजिस्ट्रार अब्दुल हामिद ने हड़ताली डॉक्टरों का समझाया। साथ ही उनकी मांग मानव संसाधन विकास मंत्रालय तक पहुंचाने तक आश्वासन दिया। इसके बाद जूनियर डॉक्टर मान गए। गुरुवार सुबह आठ बजे से काम पर लौट आए।सातवें वेतनमान की मांग को लेकर हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टरों की आम सभा हुई। दो घंटे चली आमसभा में निर्णय लिया गया कि सातवां वेतनमान लागू होने पर ही हड़ताल खत्म होगी। जूनियर डॉक्टरों की ऐसी मांग है, जिसे एएमयू इंतजामिया पूरी नहीं कर सकता। इसी कारण डॉक्टरों की हड़ताल का तुक समझ में  नहीं आया। सवाल यह भी रहा है कि जूनियर डॉक्टरों ने दीपावली पर ही हड़ताल क्यों की? इससे पहले तो किसी त्योहार पर हड़ताल पर नहीं गए।इमर्जेंसी में तैनात डॉक्टरों ने एएमयू कर्मियों व छात्रों को ही देखा। सामान्य मरीजों को लौटा दिया। कैंसर पीडि़त मरीज को तो इंजेक्शन तक नहीं लग सका। कासगंज जेल से आए बंदी को भी नहीं देखा। उसकी आंख का ऑपरेशन हुआ था। परेशानी होने पर वह पुलिस हिरासत में दिखाने आया था

जूनियर डॉक्टर अपनी जिद के आगे की किसी की नहीं सुन रहे। सोमवार रात कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने आरडीए अध्यक्ष डॉ. अब्दुल्ला आजमी व अन्य को बुलाकर बात की थी। मरीजों की परेशानी का हवाला देते हुए डॉक्टरों को समझाया कि सातवें वेतनमान को लेकर इंतजामिया गंभीर है। यूजीसी से पत्राचार किया गया है। यह जानने के लिए डॉक्टर फाइनेंस ऑफीसर के साथ यूजीसी जा भी सकते हैं। डॉक्टर नहीं माने।आरडीए पदाधिकारियों का दावा है कि वह 107 दिन से धरना दे रहे हैं, लेकिन इंतजामिया ने उनकी नहीं सुनी। धरना किस तरह का चल रहा है, इसकी सच्चाई जानकार आप हैरान रह जाएंगे। हकीकत यह है कि प्रिंसिपल ऑफिस के सामने चल रहे धरने पर डॉक्टर बैठते ही नहीं हैं। कभी-कभी जरूर नजर आ जाएंगे। बिना चादर बिछे तीन गद्दे, बिना कवर के दो तकिया और आठ-नौ कुर्सी नजर आती हैैं। मंगलवार को भी यही नजारा था। आरडीए अध्यक्ष डॉ. अब्दुल्ला आजमी का कहना है कि हम हर समय धरने पर नहीं बैठ सकते। मरीजों को भी देखते हैं। यह बात इंतजामिया को भी पता है। प्रिंसिपल प्रो. एससी शर्मा का कहना है कि जूनियर डॉक्टरों को हर तरह से समझाया गया है, लेकिन वह जिद से पीछे नहीं हट रहे। उनकी मांग ही ऐसी है, जिसे यहां से पूरा नहीं किया जा सकता। इमर्जेंसी में मरीजों को परेशानी न हो, इसके लिए और व्यवस्था की जा रही है।विहिप के विभाग मंत्री रामकुमार आर्य ने कहा है कि दीवाली पर्व पर हड़ताल से साफ है कि मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर हिंदू विरोधी हैं। उन्होंने अपने तो सारे त्योहार मना लिए।हिंदुओं के त्योहार पर हड़ताल कर दी। डीएम को उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। अखिल भारतीय हिंदू महासभा की राष्ट्रीय महासचिव डॉ. पूजा शकुन पांडेय ने कहा है कि हड़ताल जानबूझकर की गई है। डॉक्टरों को पता है कि दीवाली पर्व पर हिंदु मरीजों की संख्या बढ़ सकती है, इसलिए साजिश के तहत यह फैसला लिया है। प्रशासन को चिकित्सकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष गजेंद्र पाल सिंह ने कहा है कि जेएन मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टरों ने दीवाली पर हड़ताल कर दिखा दिया है कि वे हिंदू  विरोधी मानसिकता के हैैं। ऐसा लग रहा है कि वे हिंदू त्योहार का इंतजार कर रहे थे।

 

अलीगढ़ से अन्य समाचार व लेख

» जिला अलीगढ़ में दीपावली पर युवती से छेड़छाड़, पथराव के साथ जमकर फायरिंग

» जिला अलीगढ़ के दो गांवों में बदमाशों का धावा, लाखों की लूट

» जिला अलीगढ़ में चार दिन से लापता कारोबारी की नाले में मिली लाश

» जिला अलीगढ़ में फेसबुक पर लड़कियों के संग लगाई फोटो, गंजा करके गांव में घुमाया

» एएमयू यूनियन के चुनाव मे अलीगढ़ के सलमान एएमयू छात्रसंघ अध्यक्ष, आजमगढ़ के हमजा उपाध्यक्ष और हुजैफा सचिव बने

 

नवीन समाचार व लेख

» जनपद बांदा मे तेज आवाज में गाना बजाने के बाद पत्नी व दुधमुंहे बच्चे की कुल्हाड़ी से काटकर मार डाला

» जिला अलीगढ़ में दीपावली पर युवती से छेड़छाड़, पथराव के साथ जमकर फायरिंग

» जिला अलीगढ़ के दो गांवों में बदमाशों का धावा, लाखों की लूट

» मेरठ मे युवती का धर्म परिवर्तन करा देह व्यापार में धकेला, रिपोर्ट दर्ज कराने पर की फायरिंग

» मुरादाबाद मे दारोगा ने किसान की पीठ पर चढ़कर पार की नदी, वीडियो वायरल