यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शराब के अस्थायी लाइसेंस पर पूछा- क्या सरकार नशे का कारोबार करना चाहती है?


🗒 बुधवार, दिसंबर 12 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शादी व अन्य समारोहों में आयोजकों को कुछ घंटे के लिये समारोह में शराब पिलाने का अस्थायी लाइसेंस देने की नीति पर तीखा कटाक्ष किया है. कोर्ट ने कह सरकार को राजस्व वसूली की चिंता है, युवा पीढ़ी बर्बाद हो जाए, इसकी कत्तई परवाह नहीं है. नशे की लत से युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है. कोर्ट ने कहा कि शराब, ड्रग्स, हुक्काबार पर नियंत्रण होना चाहिए. कोर्ट ने पूछा क्या सरकार नशे का कारोबार करना चाहती है? कोर्ट ने नशे के लाइसेंस पर 21 दिसम्बर तक राज्य सरकार से जवाब मांगा है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शराब के अस्थायी लाइसेंस पर पूछा- क्या सरकार नशे का कारोबार करना चाहती है?

यह आदेश मुख्य न्यायाधीश गोविन्द माथुर तथा न्यायमूर्ति वाईके श्रीवास्तव की खंडपीठ ने कानपुर नगर के पैरेंट गार्जियन एसोसिएशन व दो अन्य की याचिका पर दिया है. याची अधिवक्ता रमेश उपाध्याय का कहना है कि सरकार की इस नीति के चलते युवाओं सहित बच्चों पर बुरा असर पड़ रहा है. शादी समारोहों में परिवार शामिल होता है और समारोह में नशे की अनुमति देने से बच्चों पर नशे के प्रति जिज्ञासा बढ़ेगी.आबकारी विभाग ऐसे समारोहों में शराब, हुक्काबार आदि नशे के इस्तेमाल की अनुमति दे कर नशे के कारोबार से राजस्व वसूली में लगा है. जबकि राज्य सरकार के अपर मुख्य स्थायी अधिवक्ता रामानन्द पांडेय का कहना था कि केवल शराब की अस्थायी अनुमति दी जाती है. वह भी आयोजक के मांगे जाने पर ही दिया जाता है. यह लाइसेंस साढ़े सात बजे से साढ़े 10 बजे तक ही दिया जाता है. अन्य नशे अफीम, चरस, गांजा आदि की अनुमति नहीं दी जाती. इस पर कोर्ट ने तल्ख टिप्पणी की कि क्या सरकार नशे का कारोबार कर राजस्व वसूलना चाहती है.

इलाहाबाद से अन्य समाचार व लेख

» जिला प्रयागराज मे पुरानी रंजिश में राड से पीटकर पूर्व बीडीसी सदस्‍य की हत्या

» परिषदीय स्कूलों की 68500 सहायक अध्यापक भर्ती में नियुक्ति और पुनर्मूल्यांकन का रास्ता साफ

» डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पर दर्ज मुकदमा वापसी की अनुमति, वन मंत्री के खिलाफ वारंट

» अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती परीक्षा में अधिकारी मिलने मुश्किल, जैसे-तैसे होगी परीक्षा

» उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि 16 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा अंदावा में होगी

 

नवीन समाचार व लेख

» जरूर पढ़े। तालाबो के किनारे ही आखिर क्यों बनवाये नगर पालिका चरखारी ने सार्वजनिक शौचालय

» कांग्रेस को माया-अखिलेश के समर्थन से 2019 के लिए विपक्षी गठबंधन की तस्वीर साफ

» प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान में उत्तीर्ण हुए छात्र छात्राओं को मुख्य अथति म0 विधायक श्री आर0के0 सिंह पटेल द्वारा प्रमाण पत्र वितरित किया गया

» 32वर्षीय महिला की कुल्हाड़ी के की गयी नृशंग हत्या

» प्रतापगढ़ में यूपी के राज्‍यपाल राम नाईक ने कहा सामाजिक मूल्यों को बचाए रखना सबका दायित्व