यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बागपत जेल में पूर्वांचल के माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या


🗒 सोमवार, जुलाई 09 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

पूर्वांचल के माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की आज सुबह बागपत जेल में हत्या कर दी गई। जेल में हुई इस वारदात से शासन-प्रशासन हिल गया। जेल में इस हत्या के बाद जेलर समेत चार कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

बागपत जेल में पूर्वांचल के माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या

मुन्ना बजरंगी के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल लाया गया है। मुन्ना बजरंगी को बागपत के बहुजन समाज पार्टी के पूर्व विधायक लोकश दीक्षित से रंगदारी मांगने के मामले में झांसी जेल से बागपत में अदालत में पेश करने के लिए रविवार रात नौ बजे एंबुलेंस से लाया गया था। उसे थाना खेकड़ा के अब्दुलपुर गांव के बागपत जेल में रखा गया था।

आज सुबह करीब जैसे ही उसे बैरक से बाहर निकाला गया वैसे ही उसपर अंधाधुंध गोलियां बरसा दी गई। मुन्ना बजरंगी को दस गोली लगी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बजरंगी के वकील ने जेल में बंद कुख्यात सुनील राठी पर हत्या का आरोप लगाया है। दोपहर को मुन्ना बजरंगी के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल लाया गया। अस्पताल में मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह समेत परिवार के अन्य लोग भी पहुंच गए हैं।

परिवारीजन ने बताया सुनियोजित हत्याकांड

इस घटना को लेकर मुन्ना बजरंगी के परिवार के लोगों ने तीखा आक्रोश जताया है। मुन्ना बजरंगी के रिश्तेदार तथा उनके प्रमुख अधिवक्ता विकास श्रीवास्तव ने बताया कि यह मामला पूरी तरह से सुनियोजित है। इसमें राजनैतिक, प्रशासनिक व अपराधिक गठजोड़ करने के बाद ही मुन्ना की हत्या की गई है। इसका अंदेशा मुन्ना बजरंगी को पहले से था, यही वजह थी कि उनकी पत्नी सीमा सिंह ने लखनऊ में एक सप्ताह पूर्व लखनऊ में प्रेस कांफ्रेस कर हत्या की आशंका जता दी थी।

बागपत में पेशी के लिए जिस मामले में मुन्ना बजरंगी को लाया गया, उसमें मुन्ना बजरंगी नामजद नहीं थे, ना ही रंगदारी के मामले में वायस सैंपलिंग में उसकी आवाज मैच की थी। विकास का कहना है कि जबरन प्रशासन ने इस मामले में मुन्ना बजरंगी को पेश किया और बीमार होने के बावजूद एंबुलेंस से बागपत लाया गया। इसके बाद उनकी अलसुबह छह बजे के करीब सुनील राठी से हत्या करवा दी। सुनील राठी बागपत के कस्बा टीकरी का कुख्यात बदमाश है और उम्र कैद काट रहा है।

मुन्ना बजरंगी की हत्या जिस हथियार से की गई, उसे जेल के गटर में फेंके जाने की सूचना है। इसी के चलते पुलिस ने गटर सफाई करने वाली मशीन को जेल के अंदर बुला लिया। मशीन से गटर की सफाई कर हथियार को बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है। सुबह से ही जेल में डीएम ऋषिरेन्द्र कुमार व एसपी जयप्रकाश समेत अन्य आला अधिकारी मौजूद है। आज जेल में मिलाई बंद है।

जेल के अंदर कैसे आया हथियार

जेल के अंदर मोबाइल व हथियार ले जाने पर पाबंदी है। इसके बावजूद जेल के अंदर हथियार पहुंच गया, जिससे मुन्ना बजरंगी की हत्या की गई। जेल की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो रहे है। प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। 

बागपत से अन्य समाचार व लेख

» फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में बंद राठी की वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेशी

» राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह सक्रिय राजनीति से दूर, कहा-नहीं लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

» अब मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की जांच रिपोर्ट तैयार, जेलर समेत चार पर कार्रवाई तय

» बागपत मे भाजपा नेता की मौजूदगी में पंचायत मे न्याय न मिलने पर सीओ के टुकड़े-टुकड़े करने की धमकी

» पुलिस मुन्ना बजरंगी की हत्या के साजिशकर्ताओं को तलाश रही

 

नवीन समाचार व लेख

» बाइक सवार युवक के सामने अचानक अज्ञात जानवर आ जाने से बाइक लड़ गई

» महोबा कोतवाली क्षेत्र मे सड़क निर्माण पूरा न होने पर नगर पालिका पर उठाई अवाज

» महोबा जनपद में घर के बाहर सो रहे युबक की हत्या

» इलाहाबाद में रेस्टोरेंट बंद करने में हुई 10 मिनट की देरी तो दरोगा ने कर दी दुकानदार की पिटाई

» मुझे देख दो कदम पीछे हट जाते हैं BJP के सांसद, कहीं उन्हें गले न लगा लूं: राहुल गांधी