यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अब मुन्ना बजरंगी की हत्या की न्यायिक जांच शुरू, पुलिस व जेल अधिकारियों से मांगे साक्ष्य


🗒 शुक्रवार, जुलाई 13 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की सोमवार को जिला जेल में हत्या की न्यायिक जांच शुरू हो गई है। कल जांच अधिकारी एडीएम ने पुलिस के साथ जेल प्रशासन से इस हत्याकांड से जुड़े साक्ष्य मांगे हैं।

अब मुन्ना बजरंगी की हत्या की न्यायिक जांच शुरू, पुलिस व जेल अधिकारियों से मांगे साक्ष्य

बागपत जिला जेल में पूर्वाचल के माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की मजिस्ट्रेट जांच शुरू हो चुकी है। जांच अधिकारी एडीएम ने पुलिस व जेल अधिकारियों से हत्याकांड से जुड़े साक्ष्य मांगे हैं। इसके साथ ही आमजन भी एडीएम के समक्ष उपस्थित होकर लिखित या मौखिक साक्ष्य दे सकते हैं। इसके अलावा एसपी को निर्देश दिए गए हैं कि वह मुन्ना बजरंगी के परिवार वालों को बयान देने के लिए उपस्थित होने की सूचना प्रेषित कराएं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की मजिस्ट्रेट जांच कराने की बात कही थी। इस पर डीएम ऋषिरेंद्र कुमार ने एडीएम वित्त व राजस्व लोकपाल सिंह को जांच अधिकारी नामित किया। एडीएम ने जांच शुरू करते हुए तीन दिन में जेल अधीक्षक से हत्याकांड से संबंधित उपलब्ध अभिलेखों की प्रमाणित प्रति तथा थाना खेकड़ा प्रभारी निरीक्षक से समस्त अभिलेख, एफआइआर तथा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आदि की प्रमाणित प्रति उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा आमजन भी 25 जुलाई तक किसी भी कार्य दिवस में सुबह 10 से शाम पांच बजे तक एडीएम के समक्ष उपस्थित होकर साक्ष्य उपलब्ध करा सकते हैं। एडीएम ने इसकी पुष्टि की है।

मुन्ना बजरंगी की हत्या का राज मोबाइल की कॉल डिटेल खोलेगी। कल को क्राइम ब्रांच की सर्विलांस टीम दिनभर डाटा खंगालने में लगी रही। सूत्रों की माने दर्जनों कॉल संदिग्ध पाई गई हैं। आठ जुलाई की रात व नौ की सुबह कई संदिग्ध कॉल हुई हैं। पुलिस उसकी पड़ताल में लगी है। पूर्वाचल के नंबरों पर भी बातचीत की गई है। पुलिस को जल्द कामयाबी हाथ लगने की उम्मीद है। इसमें कई सफेदपोश भी बेनकाब हो सकते हैं। एसपी जय प्रकाश ने दो घंटे अफसरों के साथ मीटिंग की। जेल में अपराधी मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे हैं। सूत्रों की माने तो कई बंदियों के पास स्मार्ट फोन भी हैं। वह तो वाट्सएप का इस्तेमाल करते हैं। सूत्रों की मानें तो मुन्ना बजरंगी की हत्या से पहले और बाद में मोबाइल का खूब इस्तेमाल हुआ। वाट्सएप पर भी चैट हुई। सर्विलांस की मदद से पुलिस की टीम पता लगा रही है कि किसने और क्या बातें की हैं।

सूत्रों की माने तो पूर्वाचल के कई लोगों से लंबी बातें हो रही हैं। वहां की जेल में बंद अपराधी से भी फोन पर बात होने की जानकारी मिल रही है। कई लोग एक सप्ताह के अंदर जेल में आकर राठी से गुपचुप मिले। वे कौन थे, इसका पता लगाने में पुलिस लगी हुई है। पुलिस के अधिकारियों ने गुरुवार को भी जेल में पहुंचकर राठी समेत कई से पूछताछ की तथा बयान दर्ज किए।एसपी जय प्रकाश का कहना है इस केस में सर्विलांस की मदद ली जा रही है। कई महत्वपूर्ण जानकारी मिली हैं। उनको तस्दीक किया जा रहा है। 

बागपत से अन्य समाचार व लेख

» बागपत मे भाजपा नेता की मौजूदगी में पंचायत मे न्याय न मिलने पर सीओ के टुकड़े-टुकड़े करने की धमकी

» पुलिस मुन्ना बजरंगी की हत्या के साजिशकर्ताओं को तलाश रही

» अब मुन्ना बजरंगी हत्याकंड में पूर्व सांसद समेत पांच आरोपितों के बयान दर्ज होंगे

» बागपत जेल में दोबारा संघर्ष जेल में सुनील राठी और हप्पू के गुर्गों में तनातनी, अलग-अलग बैरक में किये गये शिफ्ट

» पहली बार में तीन, दूसरी में पांच तथा तीसरी में दो गोली मारी गई मुन्ना बजरंगी को

 

नवीन समाचार व लेख

» जिले में सात लाख पौधे रोपित होंगे

» पुलिस ने पकड़ी कार सवार दो लड़कों से 97 ग्राम चरस पकडी

» इलाहाबाद कुंभ मेले के नाम पर निकाला फर्जी टेंडर, ठगी का शिकार हुआ कारोबारी

» इलाहाबाद के कांग्रेस नेताओं द्वारा जारी किये गए पोस्टर राहुल और PM मोदी के गले लगने पर

» ममता सरकार ने किया समझौता, आयुष्मान भारत योजना में बंगाल भी शामिल