यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बागपत पुलिस ने पचास हजार का ईनामी बदमाश रामबीर बावरिया को मुठभेड़ में घायल कर दिया


🗒 शनिवार, जनवरी 26 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश के साथ ही पांच राज्यों की पुलिस की नाक में दम करने वाले बदमाश को कल देर रात नोएडा व बागपत पुलिस ने मुठभेड़ में घायल कर दिया है। कल देर रात 50 हजार के इनामी कुख्यात रामबीर बावरिया को नोएडा व बागपत पुलिस ने संयुक्त रूप से मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया।

बागपत पुलिस ने पचास हजार का ईनामी बदमाश रामबीर बावरिया को मुठभेड़ में घायल कर दिया

रामबीर बावरिया के साथ पुलिस की मुठभेड़ करीब एक घंटा तक चली। इस दौरान रामवीर के पैर में गोली लगी तथा दो सिपाही भी गोली लगने से घायल हो गए। पुलिस के मुताबिक हरियाणा के गुरुग्राम के पटोदी निवासी रामबीर पुत्र अमरसिंह, बावरिया गिरोह का सरगना है। वह साथियों के साथ मिलकर लूट व डकैती की घटना को अंजाम देता था। विरोध करने पर इस गिरोह के लोग परिवार के सदस्यों को गोली मार देते हैं।बागपत में कल देर रात रामबीर अपने साथी के साथ बाइक से मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना की ओर से बागपत आ रहा था। नोएडा एसटीएफ के इंचार्ज आरके पालीवाल को मुखबिर से जानकारी मिली तो उन्होंने अपनी टीम के साथ बागपत क्राइम ब्रांच और दोघट थाना पुलिस के साथ मिलकर पुसारा बस स्टैंड पर चेकिंग अभियान चलाया। जैसे ही उनकी बाइक रोकने का पुलिस ने इशारा किया, आरोपित बाइक तेज गति से भगाने लगे। पुलिस ने पीछा किया तो आदमपुर गांव की पुलिया के पास बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। इसके जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। जिसमें कुख्यात रामबीर पैर में गोली लगने से घायल हो गया तथा एसटीएफ के सिपाही मुकेश और देवदत्त भी घायल हुए। रामबीर का साथी भागने में कामयाब हो गया। एसपी शैलेश कुमार पांडेय का कहना है कि आरोपित रामबीर के पास से एक बंदूक, छह कारतूस व छह खोखे बरामद हुए हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आरोपित से पूछताछ की जाएगी। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक रामबीर पर दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज है। उस पर लखनऊ के चिनहट थाने से 50 हजार का इनाम घोषित था।पुलिस मुठभेड़ में घायल 50 हजार का इनामी कुख्यात रामबीर बावरिया उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, और महाराष्ट्र में डकैती, लूट और हत्या की वारदातों को अंजाम देता था। एसओ दोघट अजय शर्मा ने बताया कि रामबीर के गिरोह में एक दर्जन से ज्यादा शातिर अपराधी शामिल है, जो लूटपाट और डकैती के दौरान लोगों की हत्या कर देते हैं। इस गिरोह के खिलाफ पांच राज्यों में 24 से ज्यादा मुकदमे कायम हैं। रामबीर बावरिया यूपी व हरियाणा में हत्याओं की आठ घटनाओं में वांछित चल रहा था। यह पांच राज्यों की पुलिस का बड़ा सिरदर्द बना हुआ था, जिसके चलते लखनऊ से इस पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया गया था। वह कई बार एसटीएफ को चकमा देकर भाग चुका था। इस गिरोह के कई सदस्य जेल के अंदर हैं तो कहीं बाहर इसके साथ जघन्य वारदातों में शामिल रहते थे। 

बागपत से अन्य समाचार व लेख

» बागपत में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा योगी बाबा आदित्यनाथ को फिर मठ जाना पड़ेगा

» अगर PM Modi श्रीलंका गए होते तो कहते रावण को मैंने ही मारा : अजित सिंह

» बागपत जिले मे होली पर मामूली विवाद के बाद ईंट से चेहरा कुचलकर दोस्त की हत्या

» बागपत में सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने की आत्मदाह की कोशिश

» बागपत में शराब पीने से रोका तो शौहर ने मारपीट कर बेगम को दिया तीन तलाक

 

नवीन समाचार व लेख

» सोनभद्र मे नक्‍सलियों ने मांगा पांच करोड़ रुपये, नहीं देने पर कनहर बांध का काम बंद करने की धमकी

» जिला मऊ में पेट्रोल पंप संचालक को गोली मारकर 18 लाख की लूट, अस्‍पताल में भर्ती

» लखनऊ मे महिला की हत्या कर शव के टुकड़े करने के मामले में फोन पर बात करने को लेकर हुआ था विवाद, बैग में म‍िले थे शरीर के टुकड़े

» लखनऊ मे प्रसूता की मौत पर हंगामा, डॉक्टर पर मुकदमा दर्ज

» जिला रायबरेली में कार व ट्रक की टक्कर में तीन की मौत, दो गंभीर