यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बहराइच भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा अनुसूचित व पिछड़े जाति के सांसदों की संसद में दबा दी जाती है आवाज


🗒 मंगलवार, मई 15 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मंगलवार को कलेक्ट्रेट परिसर में भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने अपनी ही सरकार पर जमकर निशाना साधा। कहा लोकसभा में जब अनुसूचित, पिछड़ी, जनजाति समाज पर चर्चा होने की बात आती है तो हम लोगों को बहुत कम समय दिया जाता है। इससे बहुजन समाज के सांसद अपनी बात को संसद में नहीं कह पाते हैं। बहुजन समाज के सांसदों को आरक्षण बचाने के लिए एकजुट होकर साथ आना चाहिए। मटेही कला में तोड़ी गई डॉ.आंबेडकर प्रतिमा के विरोध में कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित धरना-प्रदर्शन को बहराइच की भाजपा सांसद संबोधित कर रही थीं।

बहराइच भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा अनुसूचित व पिछड़े जाति के सांसदों की संसद में दबा दी जाती है आवाज

उन्होंने कहा कि बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा तोड़ने वालों की गिरफ्तारी प्रशासनिक अफसरों ने जानबूझकर नहीं की है। लोकसभा में इस मुद्दे को उठाने की चेतावनी भी उन्होंने दी। आरक्षण को खत्म करने की साजिश पर बहुजन समाज के हितों के लिए कुर्बान होने से पीछे न हटने की बात कही। उन्होंने कहा कि अपना हक मांगने पर पुतला फूंका जा रहा है। एक नही हजार पुतला फूंका जाए तो मैं डरने वाली नहीं हूं। जब तक ¨जदा रहूंगी तब तक बाबा आंबेडकर की बात मंजिल तक पहुंचाने का प्रयास करूंगी। जेल में रहूं या बाहर, बहुजन समाज की लड़ाई लड़ती रहूंगी। सांसद ने कहा कि बहुजन समाज की बेटी हूं, इसलिए उनकी नहीं सुनी जा रही है। सांसद ने कहा कि उन्हें चुप रहने की धमकी दी जा रहीं है, दबाव बनाया जा रहा है। अगर हम डर गए तो हमारे बहुजन समाज का अधिकार खत्म हो जाएगा। सांसद ने कहा कि जातीय जनगणना देश में होनी चाहिए। सांसद ने बसपा के पैटर्न पर बोलते हुए कहा कि जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी होनी चाहिए। पिछड़े, दलितों व अल्पसंख्यकों को हक तभी मिलेगा, जब उन्हें सही संख्या की जानकारी होगी। उन्होंने कहा कि बहुजन तबके के पास नौकरी, रोजगार, खेती, घर की व्यवस्था नहीं है। बहुजन समाज की मां, बहन और बेटियों की इज्जत सुरक्षित नहीं है। सांसद ने कहा कि भारत में अब उनकी जांच होनी चाहिए, जो अरबपति व करोड़पति हैं। उनका पैसा विदेश से मंगाया जाए और गरीबों में बांटा जाए। धरना-प्रदर्शन के दौरान पूरा कलेक्ट्रेट परिसर भगवा रंग में नहीं, बल्कि नीले रंग में दिखाई दिया। धरना- प्रदर्शन के बाद नमो बुद्धाय जन सेवा समिति के बैनर तले राष्ट्रपति को संबोधित 15 सूत्रीय ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट प्रदीप यादव को सौंपा।

बहराइच से अन्य समाचार व लेख

» बहराइच जिले में दहेज में बाइक नहीं मिलने पर पत्नी को पीटकर कोमा में पहुंचाया

» रामदीन सहित 04 कलेक्ट्रेट कर्मियों को मिली पदोन्नति

» बहराइच  जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने कड़े निर्देश

» प्रधानमंत्री डिजिटल साक्षरता अभियान की बैठक सम्पन्न

» जिलाधिकारी बहराइच ने विकास के लिए शिक्षा को बताया जरूरी

 

नवीन समाचार व लेख

» लखनऊ के लोहिया अस्पताल में मरीज के लिए लगा कार्डियक मॉनीटर चोरी

» हाथरस जिले में सफाई कर्मी अब नहीं करेंगे अफसरों की चाकरी, चमकेंगे गांव

» सोनभद्र में पवित्र माह रमजान में अराजक तत्वों ने क्षतिग्रस्त किया उपासना स्थल, माहौल में तनाव

» मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा भाजपा विधायकों को धमकी मिलना सब ड्रामा है

» बलरामपुर में पहाड़ी नाला में मिला घायल तेंदुआ, कमर की हड्डी टूटी