यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

ओमप्रकाश राजभर ने कहा शराब बंदी के लिए कुर्सी भी चली जाए तो गम नहीं


🗒 गुरुवार, मई 03 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 भारतीय जनता पार्टी के विधायक तथा राज्यमंत्री अनिल राजभर के बढ़ते प्रभाव को देख सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के अध्यक्ष तथा योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर कुछ अलग करने की जुगत में हैं। प्रदेश सरकार के खिलाफ लंबे समय से मोर्चा खोलने वाले ओमप्रकाश राजभर ने कल बलिया में शराब बंदी के अपने अभियान को और धार दी।

ओमप्रकाश राजभर ने कहा शराब बंदी के लिए कुर्सी भी चली जाए तो गम नहीं

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि राज्य में शराब बंदी के खिलाफ उनकी पार्टी का अभियान चलता रहेगा। इसके लिए कुर्सी भी चली जाए तो कोई गम नहीं, क्योंकि जो व्यापक हित में ङ्क्षचतन रखता है उसे व्यक्तिगत हितों के बारे में कभी कोई चिंता नहीं होती। माना जा रहा है कि ओमप्रकाश राजभर ने एक बार फिर बगावती सुर तेज कर दिए हैं। इस बार शराबबंदी को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ मोर्चा खोला है। बलिया में कल राजभर ने सूबे में शराबबंदी को लेकर अपने ही मुख्यमंत्री से लड़ाई का ऐलान किया। राजभर ने कहा कि उनकी लड़ाई मुख्यमंत्री से है। 20 तारीख से होने वाले आंदोलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साथ नहीं दिया, तो 2019 के लोकसभा चुनाव में महिलाओं से वोट के बहिष्कार की अपील करेंगे।

उन्होंने कहा कि उनकी लड़ाई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से है और इस बात पर फैसला भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह कराएंगे। मंत्री ने रामायण के लव-कुश कांड का उदहारण दिया। जिसमें भगवान राम के अश्वमेध यज्ञ के घोड़े को लव-कुश ने पकड़ लिया था। उन्होंने खुद को लव-कुश बताया और अमित शाह को महर्षि वाल्मीकी, जिन्होंने लव-कुश और भगवान राम में सुलह करवाई थी।

मंत्री ने कहा कि सदन में 16 बार शराबबंदी को लेकर आवाज उठाई, लेकिन योगी आदित्यनाथ सरकार ने नहीं सुनी। मैं शराबबंदी को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपनी लड़ाई का ऐलान करता हूं। उन्होंने कहा वह सरकार को चेतावनी नहीं दे रहे, बल्कि उन्हें आईना दिखा रहे हैं। जनता की मांग है शराबबंदी। जिस भी दल ने इसका समर्थन नहीं किया 2019 में जनता से उसका बहिष्कार करने की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा को भी उनकी बात माननी पड़ेगी।

बलिया में पार्टी कार्यालय, मिनरगंज में कल पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि शराबबंदी न होने से लाखों परिवार उजड़ रहे हैं। देश तथा प्रदेश में महिलाएं विधवा हो रही हैं। बच्चे अनाथ हो रहे हैं। समाज में शराबबंदी के खिलाफ जनजागरण पैदा करने के लिए यह अभियान प्रारंभ किया गया है। इसका नेतृत्व संगठन की महिला मोर्चा इकाई कर रही है। अपने बयानों से हमेशा सुर्खियों में रहने वाले मंत्री ने सवाल किया कि यदि बिहार व गुजरात में पूर्ण शराब बंदी है तो उत्तर प्रदेश में क्यों नहीं हो सकती। उन्होंने कहा राजस्व प्राप्ति के साथ-साथ समाज के व्यापक हितों पर विचार करने के लिए ही इस अभियान के माध्यम से सरकार पर लगातार दबाव बनाता रहूंगा।

ओमप्रकाश राजभर ने आरक्षण संबंधी प्रश्न पर कहा कि देश की सभी महिलाओं को राजनीति सहित सभी क्षेत्रों में 50 प्रतिशत आरक्षण की मांग के साथ आगे बढ़ रहा हूं। मंत्री ने सरकार से सभी क्षेत्रों में महिलाओं के लिए 50 फीसदी आरक्षण की मांग भी की है. उन्होंने कहा कि 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण का विभाजन ही 2019 के लोकसभा इलेक्शन में जीत का ब्रह्मास्त्र साबित होगा। पिछड़ों के 27 प्रतिशत आरक्षण के संबंध में उन्होंने कहा कि इसे पिछड़ा, अति पिछड़ा एवं सर्वाधिक पिछड़े के रूप में वर्गीकृत कर आरक्षण का लाभ प्रदान करना चाहिए। इसी क्रम में उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के अनुसूचित जाति एवं जनजाति संबंधी निर्णय को न्यायोचित ठहराते हुए बिना जांच किए किसी पर भी इस कानून के तहत मुकदमा दर्ज करने को अन्यायपूर्ण एवं असंवैधानिक करार दिया है। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल राज्य का गठन उनके जीवन का संकल्प है।

राजभर ने प्रदेश में हो रहे दुष्कर्म के लिए पुलिस और जिला प्रशाशन को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि अभी कुछ अधिकारी और कर्मचारी ऐसे हैं जो ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। अगर वे अपना काम ठीक से करने लगे तो आंबेडकर के संविधान में जो व्यवस्था है उससे सब कुछ ठीक हो सकता है।  

बलिया से अन्य समाचार व लेख

» बलिया मे बिहार जा रही 400 पेटी शराब पुलिस ने किया बरामद, तस्‍कर भागने में सफल

» सीएमओ डॉ उमापति दूबे को शासन ने सस्पेंड कर दिया शासन ने की थी पूछताछ

» जिला बलिया में आकाशीय बिजली ने ली एक की जान, घर में मचा कोहराम

» जिला बलिया में सोडियम लाइट से लीक हुई गैस, दो दर्जन युवकों की आंखों में आई दिक्कत

» भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के विवादित बोल, कहा- राहुल गांधी रावण और प्रियंका सूर्पणखा