यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जनपद बलिया में नदियां कर रहीं कटान, बढ़ी चिंता


🗒 सोमवार, जुलाई 23 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

संभावित बाढ़ व कटान से लोगों को सुरक्षित करने का कोई ठोस योजना सिंचाई विभाग के पास नहीं है। न ही इस बाबत उनकी कोई तैयारी है बल्कि उन्हें इंतजार है बाढ़ का। बल्कि जनता को परेशान से भी कोई लेना देना नहीं।

जनपद बलिया में नदियां कर रहीं कटान, बढ़ी चिंता

 गंगा के बाढ़ व कटान से प्रभावित रिकनी छपरा, तेलियाटोक, सुघर छपरा, केहरपुर, नरदरा, भुसौला, जगदीशपुर आदि गावों की। जहा के लोग कटान के चलते बिल्कुल गंगा के किनारे आ गए हैं। कुछ गावों का तो आधा हिस्सा गंगा में विलीन हो चुका है। ऐसे में जब भी बाढ़ आती है तो कटान तेज हो जाता है। जिससे गावों के सामने खतरे की स्थिति उत्पन्न हो जाती है और तब सिंचाई विभाग राहत व बचाव का कार्य शुरू करता है।

ठीक यही स्थिति घाघरा के कटान से प्रभावित अठगावा, चाद दियर, गोपाल नगर, देवपुर मठिया, तिलापुर आदि स्थानों की है। वहा भी अभी तक बाढ़ विभाग ने अपनी आखें बंद कर रखी है जबकि जिलाधिकारी बार-बार बाढ़ विभाग को निर्देशित करते रहे हैं कि 15 जून तक बाढ़ व कटान से निपटने के लिए सभी तैयारिया पूरी कर ली जाय किंतु उसका असर बाढ़ विभाग पर बिल्कुल नहीं पड़ा। कभी बाढ़ विभाग के अधिकारी बजट नहीं होने का रोना रोते हैं तो कभी अन्य समस्याओं की बात करते हैं।

लोगों का आरोप है कि विभाग के अधिकारी पूरे साल बरसात का इंतजार करते हैं किंतु बरसात में घाघरा व गंगा का पानी बढ़ता है, बाढ़ व कटान की स्थिति उत्पन्न होती है। तब राहत व बचाव के नाम पर ये लोग अपना जेब भरने का तरकीब ढूंढ निकालते हैं। स्थानीय लोगों ने जिलाधिकारी का ध्यान संभावित बाढ़ व कटान की ओर अपेक्षित करते हुए अपने स्तर से इस समस्या की मानीटरिंग करने का गुहार लगाई है। विभाग अपनी तैयारिया तत्काल पूरी करें

भाजपा सासद भरत सिंह ने विभाग को चेताया है कि एक पखवारे के भीतर बाढ़ व कटान की स्थिति में लोगों को सुरक्षित करने की पूरी तैयारी कर लें। अन्यथा का स्थिति में गंगा व घाघरा के किनारे बसे लोगों को असुविधा होती है तो उसका खामियाजा बाढ़ विभाग के अधिकारियों को भुगतना पड़ेगा। सासद ने स्पष्ट किया कि राहत कार्यो के लिए धन की कोई कमी नहीं है, जरूरत है बाढ़ विभाग के गतिविधियों पर स्थानीय लोगों द्वारा नजर रखने की। अन्यथा की स्थिति में यह क्या करेंगे हम सभी जानते हैं।

बलिया से अन्य समाचार व लेख

» जिला बलिया कलेक्ट्रेट की बैठक में DIOS के तीखे तेवर, गुस्साए MLA ने जड़े थप्पड़

» बलिया मे दुल्हन करती रही इंतजार दहेज में मोटरसाइकिल न मिलने पर नहीं पहुंची बरात

» बलिया जिले में सनी लियोनी, कबूतर व हिरन भी वोटर लिस्ट मे शामिल.वाह रे निर्वाचन अायोग

» बलिया पति की रोज-रोज की पिटाई से अाहत महिला ने घाघरा नदी में मासूम बेटी व बेटे को फेंका

» बलिया में अरुणाचल प्रदेश निर्मित बिहार भेजी जा रही शराब बरामद

 

नवीन समाचार व लेख

» नोएडा:देश में स्वतंत्र फोटो पत्रकारिता के लिए नवाजे गये मनोज अलीगढ़ी

» अलीगढ़-:मतदाता दिवस पर एसडीएम गभाना व तहसीलदार ने किया विभिन्न बूथों का निरीक्षण

» अलीगढ़-:भारत सरकार की महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का सांसद अलीगढ़ शहर व कोल विधायक तथा मुख्य विकास अधिकारी ने किया शुभारम्भ

» अलीगढ़-:भगवान महर्षि वाल्मीकि प्रकोत्सव पर अलीगढ़ में 121 भव्य झांकिया ओर 37 बैंडों कि भव्य बिशाल ऐतिहासिक शोभा यात्रा निकलेगी

» अलीगढ़-:संस्कार भारती उत्सव द्वारा आयोजित श्री वार्ष्णेय मंदिर में चल रहे श्री गणेश पूजा महोत्सव में श्री गणेश का पूजन विधि-विधान से करने के उपरांत श्री गणेश जी की विसर्जन