यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

निदा के खिलाफ इस्लाम से खारिज करने का जो फतवा जारी हुआ उसका असर कचहरी में देखने को मिल गया


🗒 गुरुवार, जुलाई 26 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

कोर्ट, कचहरी और पुलिस। यही वे तीन जगह हैं, जहां आजकल निदा खान का आना जाना है। निदा के खिलाफ इस्लाम से खारिज करने का जो फतवा जारी हुआ, उसका असर कचहरी में देखने को मिल गया। एक मुस्लिम शख्स ने निदा का मंगवाया समोसा खाने से मना कर दिया। यह कहते हुए कि इस्लाम से खारिज होने के नाते इनके हाथ का समोसा हराम है। दूसरी घटना भी कचहरी मेंं ही घटी। मंगलवार को एक टाइपिस्ट ने उनकी एप्लीकेशन टाइप करने से इन्कार कर दिया। बाद में निदा को खुद हाथ से एप्लीकेशन लिखनी पड़ी।

निदा के खिलाफ इस्लाम से खारिज करने का जो फतवा जारी हुआ उसका असर कचहरी में देखने को मिल गया

आला हजरत हेल्पिंग सोसायटी की अध्यक्ष निदा खान बताती हैं कि हर दूसरे-तीसरे दिन कोर्ट-कचहरी के चक्कर लग जाते हैं। फतवा जारी होने के बाद मेरे साथ ये दो घटनाएं हुईं, जिसमें लोगों ने मुझसे दूरी बनाई है। परिवार को भी विरोध सहना पड़ रहा है। जो मानसिक तौर पर मेरे लिए बहुत तकलीफ देने वाला है। निदा बताती हैं कि सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ ज्यादा दुष्प्रचार किया जा रहा है। धमकियां मिल रहीं। फर्जी आइडी और पेज बनाकर अपशब्द कहे जा रहे हैं। इसलिए उन्होंने सोशल साइट्स से दूरी बना रखी है। उन्होंने कहा कि दूसरी ओर पीडि़त महिलाओं के साथ समाज के तमाम लोगों से उन्हें सराहना भी मिल रही है।

कब क्या हुआ

आठ जुलाई : निदा ने तलाक, हलाला और बहु-विवाह पीडि़त महिलाओं की समस्या बताने के लिए प्रेस कांफ्रेंस बुलाई। इसमें ससुर पर हलाला का आरोप लगाने वाली पीडि़ता भी शामिल थीं।

12 जुलाई : ससुर संग हलाला कराने वाली महिला को लेकर निदा एफआइआर दर्ज कराने प्रेमनगर थाने पहुंचीं।

13 जुलाई : किला की शाही जामा मस्जिद में जुमे की नमाज में तकरीर हुईं। निदा के शरीयत पर सवाल उठाने को उलमा ने गलत माना। कहा कि ऐसा करके वह खुद ही इस्लाम से खारिज हो गई हैं।

16 जुलाई : दरगाह आला हजरत के मरकजी दारुल इफ्ता से फतवा जारी हुआ। मुफ्ती खुर्शीद आलम ने प्रेस कांफ्रेंस कर निदा को इस्लाम से खारिज किए जाने का एलान किया।

17 जुलाई : ससुर संग हलाला प्रकरण में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ।

18 जुलाई : फतवे की जांच के लिए राज्य अल्पसंख्यक आयोग की जांच टीम बरेली पहुंची।

19 जुलाई : अल्पसंख्यक आयोग की जांच टीम ने निदा खान और दरगाह आला हजरत पहुंचकर उलमा के बयान दर्ज किए।

20 जुलाई : फतवा के समर्थन में उतरीं महिलाएं, विरोध प्रदर्शन।

20 जुलाई : ऑल इंडिया फैजाने मदीना काउंसिल के अध्यक्ष मोईन सिद्दीकी नूरी ने निदा को देश छोडऩे, पत्थर मारकर निकालने का धमकी भरा एलान जारी किया। चोटी काटने पर 11,786 रुपये का इनाम रखा।

23 जुलाई : पुलिस ने निदा की सुरक्षा बढ़ाते हुए चार गनर दिए।

24 जुलाई : गीतकार जावेद अख्तर और अभिनेता-निर्माता फरहान अख्तर ने फतवे के खिलाफ ट्वीट किया। प्रशासन ने राष्ट्रीय और राज्य अल्पसंख्यक आयोग को भेजी रिपोर्ट।

25 जुलाई : निदा ने फतवे के खिलाफ एसएसपी को दी तहरीर।  

बरेली से अन्य समाचार व लेख

» अब निदा को इस्लाम से खारिज करने के फतवे पर दर्ज होगा मुकदमा

» अब सपा नेता रियाज अहमद का विवादित बयान- औरतों को मारने से बेहतर है तलाक देना

» अब निदा व फरहत को देश छोडऩे की धमकी तथा ईनाम रखने का पत्र अल्पसंख्यक आयोग के पास

» बरेली शरीफ पहुंचे ताजुश्शरिया के जनाजे में 3 करोड़ लोग

» इस्लाम से खारिज निदा खान दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेंगी

 

नवीन समाचार व लेख

» कानपुर में चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय में रैगिंग को लेकर बवाल-तोडफ़ोड़

» जिला प्रतापगढ़ में सगे भाइयों की हत्या के बाद अभी भी तनाव, 12 घंटे से सड़क जाम

» निदा के खिलाफ इस्लाम से खारिज करने का जो फतवा जारी हुआ उसका असर कचहरी में देखने को मिल गया

» बीएड-टीईटी व शिक्षामित्र 2011 के लिए अवसर खोजेगी योगी सरकार

» दो दिन गोरखपुर में रहेंगे सीएम, कल गुरु पूर्णिमा पूजा में होंगे शामिल