यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बरेली में शोहदों के खौफ से छात्रा ने छोड़ी पढ़ाई, एसएसपी से गुहार


🗒 शनिवार, सितंबर 23 2017
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 एंटी रोमियो स्क्वॉड के दम पर भले ही पुलिस महिला सुरक्षा के दावे कर रही है, लेकिन धरातल पर कड़वा सच यह है कि शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक शोहदों का आतंक है। आलम यह है कि शोहदे के खौफ से हाईस्कूल छात्रा को पढ़ाई तक छोडऩी पड़ गई। एक महीने से छात्रा स्कूल नहीं गई है। फतेहगंज पूर्वी के शब्बीर कॉलोनी निवासी हाईस्कूल की छात्रा से मुहल्ले में रहने वाले व्यक्ति के तीन बेटे आए दिन उससे छेड़खानी करते थे।

बरेली में शोहदों के खौफ से छात्रा ने छोड़ी पढ़ाई, एसएसपी से गुहार

21 अगस्त को छात्रा साइकिल से स्कूल जा रही थी। शोहदों ने बाइक से टक्कर मारकर उसे गिरा दिया और छेड़खानी की। घटना से वह इतनी दहशत में आ गई कि घर से दो दिन नहीं निकली। तीसरे निकली तो फिर से उसके साथ छेडख़ानी की गई। छात्रा किसी तरह बचकर घर भागी तो आरोपी घर में घुस आए और पिटाई की। बचाने आए परिजनों को भी पीटा। तभी से खौफजदा छात्रा पढ़ाई छोड़कर घर में कैद हो गई। पीडि़ता ने शुक्रवार को एसएसपी से इसकी शिकायत की तो उन्होंने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

मनचले को भीड़ ने पीटा
कैंट क्षेत्र में रहने वाली तेरह वर्षीय छात्रा कक्षा आठवीं में पढ़ती है। शाम को वह पैदल कोचिंग पढऩे के लिए बुखारा गांव जा रही थी। तभी बारी नगला शराब भट्ठी के पास दो युवक छात्रा से छेड़खानी करने लगे। विरोध पर अश्लील हरकत कीं। छात्रा ने शोर मचाया तो आसपास मौजूद लोगों ने धीर पाल और धर्मपाल नाम के दो युवकों को दबोच लिया और उन्हें जमकर धुना और पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया।

ट्यूटर के शोषण से परेशान बीए की छात्रा ने लगाई फांसी
गाजियाबाद । लालकुआं निवासी बीए तृतीय वर्ष की छात्रा ने ट्यूटर द्वारा किए जा रहे शोषण से परेशान होकर शुक्रवार सुबह आत्महत्या कर ली। छात्रा ने सुसाइड नोट में ट्यूटर को ही इसके लिए दोषी ठहराया है। इस संबंध में परिजनों ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। कविनगर थाना प्रभारी नीरज सिंह ने बताया कि छात्रा के पिता निजी कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड हैं। उनकी बेटी बीए तृतीय वर्ष की छात्रा थी।

छात्रा सिकंदराबाद निवासी अतुल यादव के यहां कई साल से अंग्रेजी की कोचिंग लेती आ रही थी। तीन साल से अतुल उसका शारीरिक शोषण करने लगा था। दो साल पहले उसने दूसरी युवती से शादी कर ली। शादी के बाद भी वह छात्रा का शारीरिक शोषण करता था। इससे परेशान होकर छात्रा ने शुक्रवार आत्महत्या कर ली। इस समय घर पर कोई भी नहीं था। पुलिस को मौके से सुसाइड नोट बरामद हुआ है। इसमें छात्रा ने अपनी मौत का जिम्मेदार अतुल को ठहराया है।  

बरेली से अन्य समाचार व लेख

» गृहमंत्री ने बरेली के रुहेलखंड विश्वविद्यालय में फहराया विवि का सबसे ऊंचा तिरंगा

» नीरव मोदी के खिलाफ होगी प्रभावी कार्रवाई, अमेरिका से लाएंगे : राजनाथ

» निदा खान को दिया तलाक अवैध करार, देना पड़ेगा 12000 गुजारा भत्ता

» बरेली का हुचर्चित आला हजरत खानदान की बहू रहीं निदा खान को दिया तलाक अवैध करार

» बाढ़ से प्रभावित गांवो के लिए रामगंगा अब खतरा नहीं वरदान होगी: सिंचाई मंत्री

 

नवीन समाचार व लेख

» मिर्जापुर के पूर्व सांसद की गाड़ी से कुचलकर तीन की मौत, चालक गिरफ्तार

» मथुरा जनपद में दो चेलों ने हथियार से की गुरु की हत्या, एक हिरासत में

» शिया वक्फ बोर्ड ने श्रीश्री का फार्मूले पर जताई आपत्ति, कहा- लखनऊ में ही बने 'मस्जिद-ए-अमन'

» सपा में शामिल हुए कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद के भतीजे, बोले- एक दिन चाचा भी आ जाएंगे

» मोदी के सपनों की तरफ योगी, देश के सबसे बड़े सूबे को एक बार फिर जीतने की तैयारी