यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बुलंदशहर बवाल में फौजी जीतू से बंद कमरे में की पूछताछ, आरोपित ने खोले कई राज


🗒 रविवार, दिसंबर 09 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

स्याना में तीन दिसंबर को गोकशी को लेकर हुए बवाल में शहीद हुए कोतवाल सुबोध कुमार सिंह की हत्या में आरोपित माने जा रहे जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू फौजी को सैन्य अधिकारियों ने शनिवार रात 1:00 बजे नोएडा एसटीएफ के सुपुर्द कर दिया। यहां से बुलंदशहर पुलिस उसको गिरफ्तार कर स्याना कोतवाली ले आई। एसटीएफ के सीओ ने मेरठ में बताया कि पूछताछ में पुलिस को अभी ऐसे कोई सुबूत नहीं मिले हैं, जिससे यह कहा जा सके कि जीतू फौजी ने ही कोतवाल की गोली मारकर हत्या की। ताजा जानकारी है कि बुलंदशहर पुलिस जीतू को कई किलोमीटर घुमाने के बाद पुलिस लाइन स्थित क्राइम ब्रांच कार्यालय में लेकर पहुंची। यहां अधिकारी उससे पूछताछ की। 

बुलंदशहर बवाल में फौजी जीतू से बंद कमरे में की पूछताछ, आरोपित ने खोले कई राज

शनिवार रात एसटीएफ के सीओ ने मेरठ में मीडिया को दिए बयान में कहा है कि जीतू फौजी भीड़ का हिस्सा था, जिसके सबूत पुलिस को मिले हैं। लेकिन उसने ही कोतवाल को गोली मारी इसके साक्ष्य अभी नहीं मिले हैं। एसआइटी इसकी जांच कर रही है।फौजी जीतू ने मेरठ में मीडिया से कहा कि वह घटनास्थल पर मौजूद था। इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या उसने नहीं की है। उसे तो पता भी नहीं था कि गोली चल गई है। सीओ एसटीएफ ने बताया कि आरोपित के विरुद्ध प्रमाण तलाशे जा रहे हैं।बुलंदशहर बवाल में हत्यारोपित जीतू फौजी को रविवार को स्पेशल मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। इससे पहले जिला अस्पताल में जीतू का मेडिकल हुआ। जीतू को शनिवार रात सेना ने मेरठ एसटीएफ कार्यालय में नोएडा एसटीएफ के सुपुर्द किया था। रविवार तड़के पुलिस और एसटीएफ बुलंदशहर लेकर पहुंचे। यहां एसआइटी ने उससे घंटों पूछताछ की। इसके बाद पुलिस लाइन स्थित क्राइम ब्रांच कार्यालय में उससे पूछताछ की गई। गोकशी के बाद हुआ था बवाल 
महाव गांव में गोवंश के अवशेष मिले थे, जिसको लेकर बवाल हो गया था। इसमें स्याना कोतवाल सुबोध कुमार सिंह गोली लगने से शहीद हो गए थे और चिंगरावठी के युवक सुमित की भी गोली लगने से मौत हो गई थी। इस प्रकरण में पुलिस ने 27 बलवाइयों को नामजद करते हुए 60 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया था। इसमें जम्मू कश्मीर में तैनात फौजी जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू को भी आरोपित बनाया गया है। शुरुआती जांच में पुलिस जीतू फौजी को कोतवाल की हत्या का आरोपित मान रही है।
जम्मू कश्मीर गई थी पुलिस और एसटीएफ 
घटना की तह तक जाने के लिए पुलिस न्यायालय से वारंट लेकर जीतू फौजी को पकडऩे के लिए जम्मू कश्मीर गई थी, लेकिन सेना ने जीतू को इनके हवाले नहीं किया था। सैन्य अधिकारी खुद उसे लेकर सोपोर से रवाना हुए और रात 12.50 पर मेरठ एसटीएफ कार्यालय पहुंचे। यहां उसे नोएडा एसटीएफ के सुपुर्द कर दिया गया। देर रात वहां से लिखापढ़ी के बाद स्याना कोतवाली पुलिस उसे लेकर बुलंदशहर आ गई।
एसआइटी ने की पूछताछ 
यहां रविवार तड़के स्याना कोतवाली में आइजी मेरठ रेंज द्वारा गठित एसआइटी ने जीतू से पूछताछ की। करीब तीन-चार घंटे की पूछताछ के बाद पुलिस उसे लेकर क्षेत्र में निकल गई। माना जा रहा है कि पुलिस उसकी निशानदेही पर कोतवाल से छीनी गई लाइसेंसी पिस्टल को बरामद करने का प्रयास हुआ।

बुलंदशहर से अन्य समाचार व लेख

» अब स्याना में बड़े बवाल का सीन रीक्रिएट करेगी पुलिस

» बुलंदशहर में गोकशी कांड मे इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारने के मामले में एक फौजी पर शिकंजा कसा

» जिला बुलंदशहर के औरंगाबाद में सांड काटने का प्रयास, गांव में फोर्स तैनात

» बुलंदशहर में गोकशी के मामले में दो मासूमों के खिलाफ भी मामला दर्ज

» प्रवीण कुमार तोगडिय़ा ने कहा बुलंदशहर हिंसा साजिश थी दंगे भड़काने के लिये करायी गयी गोहत्या

 

नवीन समाचार व लेख

» उन्नाव मे गोदभराई समारोह में हर्ष फायरिंग में गोली लगने से डांसर समेत दो घायल

» जनपद अलीगढ़ के थाने में तैनात इटावा के दारोगा की हार्टअटैक से मौत

» लखनऊ मे रिसेप्शनिस्ट हत्याकांड मे युवतियों ने उकसाया तो पहुंचे गोली मारने, वाट्सएप चैट से मिले सुबूत

» गृहमंत्री राजनाथ सिंह मथुरा में छात्रों से बोले ज्ञान के साथ चरित्र बल पर करें अपना निर्माण

» उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि 16 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा अंदावा में होगी