यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पुलिस की डकैत बबुली कोल गैंग से मुठभेड़ गोलियों की तड़-तड़ाहट से गूंजता रहा गुरसराय जंगल


🗒 सोमवार, मार्च 18 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश से साथ मध्य प्रदेश में आतंक का पर्याय बने डकैत बबुली कोल के रिश्तेदार भी लोकसभा चुनाव के दौरान वसूली के अभियान में लगे हैं। मारकुंडी थानाक्षेत्र के मनगवां गांव में रविवार रात यूपी-एमपी में छह लाख के इनामी डकैत बबुली कोल के गिरोह ने धावा बोला और दरवाजा नहीं खोलने पर डकैत लवलेश ने एक युवक को गोली मार दी। इसके बाद गांव में फायरिंग कर दशहत फैला दी और फिर जंगल की ओर डकैत भाग गए। सुबह पुलिस फोर्स ने घेराबंदी कर गिरोह से मोर्चा लिया, करीब तीन घंटे तक गुरसराय जंगल में गोलियों की तड़ तड़ाहट सुनाई देती रही। देर शाम तक पुलिस की अलग टीम जंगल में कांबिंग करती रहीं। 

पुलिस की डकैत बबुली कोल गैंग से मुठभेड़ गोलियों की तड़-तड़ाहट से गूंजता रहा गुरसराय जंगल

सतना-मानिकपुर रेलखंड पर टिकरिया रेलवे स्टेशन से करीब चार किलोमीटर दूर पाठा में जंगलों के बीच मनगवां गांव में रविवार देर रात करीब ढाई बजे डकैत बबुली कोल, अपने डकैत साले लवलेश कोल और आधा दर्जन साथियों के साथ पहुंचा। गांव के मोहम्मद हारून उर्फ राजा बाबू के घर का दरवाजा खटखटाया। अंदर से कौन की आवाज पर खुद को लवलेश कोल बताया। मना करने पर दरवाजे के बाहर से कई गोलियां चला दीं। राजा बाबू का 22 वर्षीय पुत्र मोहम्मद आशिफ उर्फ मुट्टू  गोली लगने से घायल हो गया। इसके बाद प्रधान कुसमा देवी समेत दूसरे घरों के बाहर पहुंचकर गिरोह ने हवाई फायरिंग कर दहशत फैलाई। सूचना मिलने पर मारकुंडी थाना प्रभारी मोहम्मद अकरम और एंटी डकैती टीम पहुंची। रात 3.30 बजे घायल युवक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर में भर्ती कराया। हालत बिगडऩे पर परिजन उसे सतना ले गए।  सोमवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे यूपी के मानिकपुर, मारकुंडी फोर्स के साथ एसपी मनोज कुमार झा, एएसपी बलवंत चौधरी ने करीब तीन किलोमीटर दूर एमपी बॉर्डर पर गुरसराय जंगल में छिपे बबुली कोल गैंग को घेर लिया। दूसरी तरफ से एमपी सतना की बरौंधा, मझगवां थानों की पुलिस आ गई। है। तीन घंटे तक दोनों पुलिस फोर्स व डकैतों के बीच गोली बारी जारी रही। दोपहर में गैंग घने जंगल का फायदा उठा कर बच निकला। पुलिस शाम करीब साढ़े चार बजे तक जंगल में कांबिंग कर करती रही पर कोई हाथ नहीं लगा। एसपी मनोज झा ने बताया कि दोनों तरफ से 30-30 राउंड फायरिंग हुई है। जंगल घना होने के कारण डकैत बच निकले। एमपी पुलिस से भी मदद मांगी गई है, जल्द गैंग का सफाया होगा।  पाठा के बीहड़ों में घिरा बबुली कोल गैंग लोकसभा चुनाव में फिर दबाव बना सकता है। रविवार देर रात की घटना बिना किसी वजह से करने को लेकर ऐसी चर्चाएं शुरू हो गई हैं। पुलिस की उस पर शिकंजा कसने की रणनीति से शायद वह बौखलाया हुआ है। एसपी इससे साफ इन्कार करते हैं। उन्होंने कहा कि गैंग के सदस्य तकरीबन खत्म हो चुके हैं। बबुली के साले समेत चार से पांच लोग बचे हैं। जल्द इनको भी साफ कर दिया जाएगा। यूपी और एमपी पुलिस टीमें लगातार गैंग की घेराबंदी कर फायरिंग कर रही हैं।  

चित्रकूट से अन्य समाचार व लेख

» जिला चित्रकूट में भाजपा सांसद भैरों प्रसाद मिश्र व विधायक सीपी उपाध्याय समेत 65 अज्ञात के खिलाफ FIR

» जिला चित्रकूट के मऊ थाने से कुछ दूर दिनदहाड़े टेंपो चालक की गोली मारकर हत्या

» जिला चित्रकूट में लोकतंत्र सेनानी के बेटे की गोली मारकर हत्या, सनसनी

» जिला चित्रकूट से अपहृत जुड़वां बच्चों की हत्या के बाद बवाल, अखिलेश बोले-यूपी में जंगलराज

» जिला चित्रकूट से 13 दिन पहले अपहृत बच्चों के शव आज बांदा में मिले, तीन छात्रों सहित पांच गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» अलीगढ़ में श्रद्घालुओं से भरी बस पलटी, 25 घायल

» मेरठ मे प्रॉपर्टी डीलर की हत्याकर शव सातवीं मंजिल से फेंका, अवैध संबंधों का आरोप

» जिला गोरखपुर में माहौल बिगाड़ने की साजिश, सड़क पर मिलीं एक दर्जन क्षतिग्रस्‍त मूर्तियां

» वाराणसी के करसड़ा स्थित रामकिशुन महाविद्यालय के छात्रों ने जमकर हंगामा किया

» पुलिस की डकैत बबुली कोल गैंग से मुठभेड़ गोलियों की तड़-तड़ाहट से गूंजता रहा गुरसराय जंगल