यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गृह संचालिका गिरिजा की दोनों बेटियों समेत छह गिरफ्तार


🗒 मंगलवार, अगस्त 07 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

देवरिया के मानव तस्करी कांड में मंगलवार को छह गिरफ्तारियां हुईं। मुख्य अभियुक्त गिरिजा देवी की एक बेटी कंचनलता ने देवरिया में खुद पुलिस के समक्ष समर्पण किया तो दूसरी बेटी जिला प्रोबेशन विभाग में संविदा पर परिविक्षा अधिकारी कनकलता समेत पांच लोगों को गोरखपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया। ये सभी अवैध ढंग से वृद्धाश्रम चला रहे थे, जिसे सील कर दिया गया है। यहां से एक युवती भी बरामद हुई है, जो देवरिया से लापता थी। गोरखपुर पुलिस और प्रशासन टीम ने देवरिया पुलिस को गिरफ्तार लोगों को सिपुर्दगी में लेने को कहा है। हालांकि एसपी देवरिया ऐसी जानकारी से इन्कार करते हुए मामले से पल्ला झाडऩे की कोशिश कर रहे हैं। 

गृह संचालिका गिरिजा की दोनों बेटियों समेत छह गिरफ्तार

देवरिया के बालगृह बालिका के मामले में मुख्य आरोपित संचालक गिरिजा व पति मोहन की गिरफ्तारी के बाद देवरिया पुलिस का दबाव बढऩे पर संस्था की अधीक्षक कंचनलता मंगलवार को खुद महिला थाने में पेश हो गई। एसपी देवरिया समेत अन्य अधिकारियों ने तीन घंटे तक उससे पूछताछ की। एसपी देवरिया रोहन पी. कनय ने बताया कि अधीक्षक के बयान के आधार पर कुछ अन्य लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है। संस्था संरक्षा के शिक्षक पुत्र से मंगलवार को भी पूछताछ जारी रही। हालांकि पुलिस गिरफ्त में आने के बाद कंचनलता ने जबरन फंसाने का आरोप लगाया। मानव तस्करी के आरोपों को उसने बेबुनियाद बताया। देवरिया के नारी संरक्षण गृह में अवैध धंधे का भंडाफोड़ होने के बाद गोरखपुर पुलिस व प्रशासन की टीम ने खोराबार के चाणक्यपुरी कालोनी में भी अवैध वृद्धाश्रम का राजफाश किया है। 23 जून, 2017 के बाद से इस संस्था की मान्यता स्थगित होने के बावजूद यह वृद्धाश्रम अवैध ढंग से संचालित हो रहा था। गोरखपुर के इस वृद्धाश्रम की संचालिका गिरिजा की दूसरी बेटी कनकलता थी, जो जिला प्रोबेशन विभाग में संविदा पर परिवीक्षा अधिकारी है। इस केंद्र पर रोहतास, बिहार निवासी एक युवती भी मिली है। पता चला कि युवती को देवरिया के वृद्धा आश्रम से यहां भेजा गया था। यह जानकारी पाकर जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पाण्डियन, एसएसपी शलभ माथुर स्वयं मौके पर पहुंच गए। अधिकारियों ने पूरे मकान की गहन छानबीन, रजिस्टर में दर्ज ब्योरे की पड़ताल के बाद वहां मौजूद संचालक समेत सभी कर्मचारियों को तत्काल गिरफ्तार और मकान से सील करने का निर्देश दिया। पुलिस ने वृद्धाश्रम की संचालिका गिरिजा की बेटी कनकलता देवी, लिपिक अंकित मिश्रा, सफाईकर्मी लालमती, रसोइया माला श्रीवास्तव निवासी सीवान (बिहार) और युवती को गिरफ्तार कर लिया।जिलाधिकारी गोरखपुर  के. विजयेंद्र पाण्डियन ने बताया कि बिना मान्यता के वृद्धाश्रम चलाने और देवरिया से गायब युवती से अवैध रूप से यहां रखने के आरोपों में फिलहाल मकान को सील कर दिया गया है। संचालिका कनकलता सिंह समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर देवरिया पुलिस के सिपुर्द करने की कार्रवाई की जा रही है। बुजुर्ग महिलाओं को राजकीय वृद्धाश्रम में रखा गया है। V

देवरिया से अन्य समाचार व लेख

» देवरिया बाल गृह के बच्चे विदेश तक भेजे गए

» देवरिया बालगृह से लग्जरी गाड़ियों में बाहर भेजी जाती थीं लड़कियां

» देवरिया के बालिका गृह से सेक्स रैकेट संचालित होने के मामले ने मुख्य अभियुक्त एवं अधीक्षक कंचनलता गिरफ्तार, पूछताछ जारी

» देवरिया बालिका गृह की संचालिका जिले के बडे अधिकारियों और नेताओं की खास थी

» सपा का देवरिया प्रकरण को लेकर कैंडल मार्च, भाजपा सरकारों पर निशाना साधा

 

नवीन समाचार व लेख

» गृह संचालिका गिरिजा की दोनों बेटियों समेत छह गिरफ्तार

» कैबिनेट ने किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में संशोधन प्रस्ताव को मंजूरी दे दी अब एडीशनल प्रोफेसर और प्रतिकुलपति की तैनाती

» देवरिया बाल गृह के बच्चे विदेश तक भेजे गए

» अमरोहा के जोया में हाईवे पर चलती कार में आग लगने से इसमें पांच लोग झुलस गए

» अखिलेश यादव ने कहा-यूपी में कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है या नहीं यह एक बड़ा सवाल