इलाहाबाद में 30 घंटे की आयकर कार्रवाई में मिली छह करोड़ की अघोषित संपत्ति

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

इलाहाबाद में 30 घंटे की आयकर कार्रवाई में मिली छह करोड़ की अघोषित संपत्ति


🗒 शुक्रवार, फरवरी 09 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

संगमनगरी की तीन फर्म के 13 प्रतिष्ठानों पर गुरुवार दोपहर से शुरू आयकर विभाग के सर्वे की कार्रवाई शुक्रवार शाम को खत्म हुई। इसमें छह करोड़ से अधिक की अघोषित संपत्ति मिली है। तीन फर्म के सभी रिकार्ड और बुक्स को जब्त कर लिए गए हैं। आज फूलपुर लोकसभा सीट के उपचुनाव का बिगुल बज जाने के बाद तत्काल चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है। ऐसे में आयकर विभाग सर्वे की कार्रवाई से बचेगा, ताकि कोई कार्रवाई होने पर उसका राजनीतिक मतलब न निकाल जाए। पिछले एक महीने से आयकर विभाग प्रत्येक सप्ताह सर्वे की कार्रवाई कर रहा है।

इलाहाबाद में 30 घंटे की आयकर कार्रवाई में मिली छह करोड़ की अघोषित संपत्ति

आयकर विभाग की 13 टीमों ने गुरुवार को केशरवानी ब्रदर्स फर्म के आठ प्रतिष्ठानों और नारायण स्वरूप फर्म के मालिक और उनके सहयोगी के पांच प्रतिष्ठानों पर सर्वे की कार्रवाई की थी। जांच पूरी न होने पर शुक्रवार को सुबह से फिर कार्रवाई शुरू हो गई। केशरवानी ब्रदर्स के फर्म की जांच दोपहर में पूरी हो गई, लेकिन उनके मार्बल, टाइल्स और हार्डवेयर का कारोबार करोड़ों में है, जिसके मिलान में समय लगा। सूत्रों के मुताबिक अभी तीन करोड़ से ज्यादा की टैक्स चोरी का मामला मिला है। स्टाक के सभी रिकार्ड का मिलान किया जा रहा है। टैक्स और बढ़ सकता है। उधर, नारायण स्वरूप फर्म के मुंडेरा स्थित अस्पताल में सर्वे की कार्रवाई शुक्रवार शाम तक चली। इस दौरान अस्पताल में कुछ सेवा बंद होने पर तीमारदारों को परेशानी भी झेलनी पड़ी।अधिकारियों के अनुसार अस्पताल मालिक द्वारा प्रापर्टी में बड़े स्तर पर निवेश किया गया है। अस्पताल में क्षमता से अधिक मात्रा में दवाइयां मिली हैं। इसके अलावा कच्चा हिसाब किताब मिला है, जिसका मिलान किया जा रहा है। अभी नारायण स्वरूप फर्म और उनके सहयोगी के पास से तीन करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति मिली है। शुक्रवार को मुख्य आयकर आयुक्त राजीव जैन और प्रधान आयकर आयुक्त सुबचन राम के मार्गदर्शन में जब्त दस्तावेजों का मिलान करके टैक्स का निर्धारण किया गया। शाम को फर्म के मालिकों का बयान भी दर्ज कराया गया। प्रधान आयकर आयुक्त सुबचन राम का कहना है कि सर्वे में छह करोड़ से अधिक की अघोषित संपत्ति मिली है। प्राप्त रिकार्ड और दस्तावेजों की विभाग द्वारा गहन जांच की जा रही है। 

मुजफ्फरनगर के दो व्यापारियों की गिरफ्तारी के बाद एनआइए ने कई राजफाश किए हैं। आरोपी आदीश के पिता की हलवाई की दुकान थी। उसका भाई शहर कई व्यापारियों से करोड़ों रुपये लेकर फरार हो गया था। शहर के भगत ङ्क्षसह रोड स्थित बाटा वाली गली में दीपचंद धर्मशाला के सामने रहने वाले व्यापारी आदीश जैन की दुकान व आवास पर एनआइए की टीम ने एक सप्ताह पूर्व छापेमारी की थी। जैन के आवास पर आठ घंटे तक चली छापेमारी में विदेशी मुद्रा, लाखों रुपये की नगदी व चीन निर्मित पिस्टल भी बरामद हुई थी। बताया जाता है कि आदीश जैन के पिता श्रीराम जैन की मोहल्ला पंचमुखी में हलवाई की छोटी सी दुकान थी। इस दुकान पर आदीश भी बैठता था। धीरे-धीरे उसका सराफा बाजार में आना-जाना शुरू हुआ तो उसने सोने की स्मगलिंग का काम शुरू कर दिया। देखते ही देखते उसने भगत सिंह रोड पर ज्वेलरी का अपना एक आलीशान शोरूम भी बना लिया। वह शहर के अरबपति सर्राफ के रूप में उसकी पहचान बन गई। बताया जाता है कि इस शोरूम की आड़ में वह अरब देशों के जरिए सोने के बिस्कुट की स्मगलिंग में लिप्त रहा। आदीश का सभी काम ऑनलाइन चलता था। 

समाचार से अन्य समाचार व लेख

» फैजाबाद में मुन्ना बजरंगी गैंग के दो शार्प शूटर गिरफ्तार

» योगी सरकार में स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल, संभल मे एंबुलेंस के अभाव में गई सूरजपाल की जान

» लूट के स्थान पर अब यूपी में सभी विकास की योजनाएं : राजेश अग्रवाल

» दवा मूल्य नियंत्रण में बदलाव लाएगी सरकार, 'नमोकेयर' के लिए आएगी नई फार्मा नीति

» आगरा की सेंट्रल जेल में हाथरस के कैदी की मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» सरकारी बैंकों में घोटाले रोकने के लिए फिक्‍की ने सुझाया रास्‍ता, सरकार कर रही विचार

» अलीगढ़ में सेल्समैन को धमकाकर पेट्रोल पंप से 1.66 लाख लूटे

» राष्ट्रपति कोविंद होंगे एएमयू के दीक्षा समारोह में मेहमान, समारोह सात को

» कासगंज मे राजस्व टीम पर जानलेवा हमला, पथराव के बाद ग्रामीणों ने छीनी राइफल

» फूलपुर उपचुनाव मे जीत के लिए सपा को माफिया अतीक अहमद का सहारा!