प्रधानमंत्री मोदी ने स्वीकार की स्वास्थ्य सेवाओं की चुनौतीः अनुप्रिया

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रधानमंत्री मोदी ने स्वीकार की स्वास्थ्य सेवाओं की चुनौतीः अनुप्रिया


🗒 शनिवार, फरवरी 10 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि देश में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर सरकारें सतर्क हैं। देश की 130 करोड़ जनता को स्वास्थ्य सेवाएं दे पाना आसान नहीं हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद इस चुनौती को स्वीकार किया है। सरकार ने इस बार के बजट में 50 करोड़ लोगों के लिए स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू करने जा रही है। यूपी को आठ मेडिकल कालेज दिए गए हैं। सरकार बीमारों को ठीक कराने के साथ ही उन्हें बीमार न होने देने के लिए भी प्रयासरत है। इसमें यूनानी चिकित्सा को लेकर प्रधानमंत्री खुद रुचि ले रहे हैं।वह आज उन्नाव के कांशीराम कालोनी स्थित एक निजी अस्पताल के शिलान्यास समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थीं। प्रदेश के कारागार राज्यमंत्री जय कुमार सिंह जैकी व मोहान विधायक बृजेश रावत भी थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने स्वीकार की स्वास्थ्य सेवाओं की चुनौतीः अनुप्रिया

बांगरमऊ में एचआईवी मुद्दे पर मंत्री ने कहा कि इसमें प्रदेश सरकार की ओर से भी कार्रवाई की जा रही है। साथ ही केंद्र से भी तीन सदस्यीय टीम निरीक्षण के लिए भेजा गया था। कमेटी इसकी जांच रिपोर्ट जल्द प्रस्तुत करेगी और उसके आधार पर हम इसका समाधान निकालेंगे। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार लोगों के स्वास्थ्य को लेकर अति गंभीर है। सरकार की ओर से लगातार इसे लेकर बजट भी बढ़ाया जा रहा है। स्वास्थ्य सेवाओं का हर गरीब को लाभ न मिलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार एनएचएम के माध्यम से यह योजनाएं चलाती है। इन्हें राज्य सरकार के माध्यम से चलाया जाता है। उप्र में स्वास्थ्य सेवाओं के बेहद खराब होने के सवाल पर केंद्रीय राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल बोली कि उत्तर प्रदेश में सरकार अभी भी स्वास्थ्य सेवाओं को जनता तक पहुंचाने में कुछ कमजोर जरूर हैं। पूर्व की सरकारों ने इस ओर बिल्कुल ध्यान नहीं दिया है। नई सरकार आने के बाद से इसमें तेजी लायी जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा कि बांगरमऊ में जो एचआईवी का मामला सामने आया है इसकी जांच केंद्र की नाको कमेटी से करवाई जा रही है। उसकी रिपोर्ट आने के बाद इसमें जो भी दोषी होगा उसे बख्सा नहीं जाएगा। साथ ही इससे बचाव के लिए भी प्रयास किए जाएंगे।केंद्रीय मंत्री ने अपने संबोधन के दौरान अस्पताल के शिलान्यास में इसके नाम में अपना दल संस्थापक बोधिसत्व सोनेलाल पटेल का नाम शामिल करने पर बधाई देते हुए कहा कि इस समुदाय के सभी लोग एकजुट होकर अपना दल को मजबूत करें। जिससे हम सरकारों में और मजबूती के साथ शामिल हो सकें। 

अस्पताल से अन्य समाचार व लेख

» अब तक निपाह से मरने वालों का आंकड़ा 13 हुआ, वायरस की चपेट में सैकड़ों लोग

» बाँदा मे पैसों के लालच में डॉक्टरों ने नहीं किया इलाज, मासूम की मौत

» लखनऊ मे निजी अस्पताल ने वसूले 10 लाख, केजीएमयू ने बचाई जान

» मेरठ में महिला ने एक साथ जने पांच बच्चे, जच्चा बच्चा स्वस्थ्य

» मॉडल के तर्ज पर तैयार होंगे जिले के अस्पताल

 

नवीन समाचार व लेख

» कांग्रेस को शक, लोकसभा में 'कोई' कर रहा है निगरानी; स्पीकर से की शिकायत

» 27 को पूर्ण चंद्र ग्रहण, 12 में से सात राशि वालों को कष्ट

» मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के खिलाफ कानपुर में मुकदमे की अर्जी

» जनपद इटावा में पुलिस ने पूर्व महिला प्रधान को पीटकर निर्वस्त्र किया, बेटी को छत से फेंका

» इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एसपी प्रतापगढ़ को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया