यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रदेश में सपा तथा बसपा का गठबंधन फ्लाप : केशव प्रसाद


🗒 रविवार, मार्च 11 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इलाहाबाद के ज्वाला देवी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज में अपनी पत्नी के साथ मतदान किया। फूलपुर में पहली बार कमल खिलाने वाले केशव प्रसाद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की फूलपुर और गोरखपुर में जीत होगी।

प्रदेश में सपा तथा बसपा का गठबंधन फ्लाप : केशव प्रसाद

केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि यह पार्टी के विकास कार्य की जीत होगी। फूलपुर के साथ ही गोरखपुर सीट पर भाजपा बड़े अंतर से जीत रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सपा व बसपा का गठबंधन फ्लाप साबित होगा। जनता इनके छलावा में नही आएगी। हमें दलित और यादव का वोट भी मिलेगा।

फूलपुर से भाजपा उम्मीदवार को जिताने का जिम्मा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या पर है। मौर्या यहां 2014 के समीकरण को लेकर उपचुनाव में जीत का दावा कर रहे हैं और सपा-बसपा के गठबंधन को स्वार्थ का बंधन बता रहे हैं। मतदान के बाद केशव ने कहा कि फूलपुर लोकसभा सीट पर 2014 के लोकसभा चुनाव में 100 में से 53 वोट बीजेपी को मिले थे और 47 वोट सपा, बसपा सहित सारे विपक्षी दलों के मिले थे। उसी तर्ज पर उपचुनाव में भी होगा और नतीजा भाजपा के पक्ष में होगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए अब प्रदेश में सपा-बसपा ने गठबंधन किया है। इस गठबंधन की हवा इस उपचुनाव में ही निकल जाएगी। केशव ने कहा कि नरेंद्र मोदी लहर अभी भी कायम है और 2019 में भी रहेगी। इसी बड़े डर से पूरा विपक्ष एकजुट हो रहा है, लेकिन कोई फायदा मिलने वाला नहीं है। देश में नरेंद्र मोदी के विकास को जनता स्वीकार रही है।

उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में देश में जो विकास के काम हो रहे है उसके आधार पर जनता एक बार फिर से भाजपा को ही वोट करेगी। वहीं, सपा-बसपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि उनके गठबंधन से कोई फायदा नहीं है और बीजेपी उपचुनाव में बड़ी जीत हासिल करेगी। कभी देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को संसद में भेजने वाली फूलपुर की जनता ने 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी केशव प्रसाद मौर्य को संसद पहुंचाया था। फूलपुर संसदीय क्षेत्र में ओबीसी की तादात ज्यादा है और इसमें भी कुर्मी वोटरों को निर्णायक माना जाता है। अब कुर्मी वोटरों को अपने पाले में करने की लड़ाई तेज हो गई है।

चुनाव से अन्य समाचार व लेख

» विधानसभा चुनाव आते ही राजस्थान में कांग्रेस में मचा घमासान

» मध्य प्रदेश में सपा-बसपा से कांग्रेस मिला सकती है हाथ हो सकता है महागठबंधन

» तबस्सुम हसन का बड़ा बयान योगी आदित्यनाथ का अभिमान और नरेंद्र मोदी का अहंकार तो कैराना में दफन

» समाजवादी पार्टी के नईम उल हसन का नूरपुर में जीत का सेहरा

» कल कैराना समेत लोस की चार और विस की 10 सीटों के आएंगे नतीजे

 

नवीन समाचार व लेख

» व्हाट्सएप पर ली जाएगी कांवड़ियों की लोकेशन

» यूनियन बैंक में रूपये जमा आये युवक का पर्स चोरी ,सूचना पर 100 पुलिस मौके पर

» मेरठ जिला कारागार में बंद बसपा के पूर्व विधायक योगेश वर्मा ने कहा जेल में हो रहा सौतेला व्यवहार, समय आने पर सिखाऊंगा सबक

» मेरठ मे विरोध के बीच 800 मीटर सड़क पर एमडीए ने किया कब्जा

» जिला मीरजापुर में घरों में दौड़ा हाईवोल्टेज करेंट, एक महिला की मौत