यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

विधानपरिषद चुनाव: 11 सीटों के लिए बीजेपी से ये रहे दावेदार


🗒 मंगलवार, अप्रैल 03 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

यूपी में विधानपरिषद की 13 सीटें के लिए चुनाव आयोग ने तारीखों का ऐलान कर दिया है. 9 तारीख़ को इन चुनावों की अधिसूचना जारी हो जाएगी और 16 तारीख़ तक नामांकन हो सकेगा.

विधानपरिषद चुनाव: 11 सीटों के लिए बीजेपी से ये रहे दावेदार

सत्तारूढ़ बीजेपी मौजूदा संख्या बल के आधार पर अपने 11 सदस्य को परिषद भेज सकता है. वहीं सत्ताधारी दल के लिए ये अवसर विधानपरिषद में अपनी संख्या में इज़ाफ़ा करने वाला होगा.
19 अप्रैल नाम वापसी की आख़िरी तारीख़ है और जरूरत पड़ने पर 26 अप्रैल को मतदान होगा. सत्तारूढ़ बीजेपी के प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी कहते हैं उनका दल ज्यादा से ज्यादा प्रतिनिधित्व परिषद में बढ़ाने की तैयारी से मैदान में होगा. संख्या ज्यादा होने के कारण बीजेपी के लिए दावेदारों की संख्या भी कम नहीं है. माना जा रहा है कि राज्यसभा चुनाव की तरह बीजेपी जाति की गणित को भी साथ लेकर चलेगी.
बहरहाल दावेदारों की बात करें तो बीजेपी के संभावित उम्मीदवारों में राज्य सरकार के दोनों राज्यमांत्रियों मोहसिन रज़ा और महेंद्र सिंह शामिल हैं. इनका कार्यकाल खत्म हो रहा है. इनके अलावा संगठन से विजय बहादुर पाठक, अशोक कटारिया, अश्वनी त्यागी, जेपीएस राठौर, राकेश त्रिवेदी, चंद्रमोहन, विद्या सागर सोनकर इसके अलावा बाबूराम निषाद के नाम हैं.
वहीं दूसरे दलों से बीजेपी में शामिल होने वाले एमएलसी जसवंत सिंह, सरोजनी अग्रवाल, जयवीर सिंह, बुक्कल नवाब भी दावेदारों में हैं. इनके अलावा पुराने दिग्गजों में लक्ष्मी कांत बाजपेई, विनय कटियार, रमापति त्रिपाठी, ओम प्रकाश सिंह के नाम संभावित हैं.मौजूदा विधानसभा सदस्यों की संख्या के आधार पर सत्तारूढ़ बीजेपी 11 सदस्य तो विपक्ष 2 सीटों पर उम्मीदवार जीता सकता हैं. संख्याबल के आंकड़ो को देखे तो लगता है कि राज्यसभा के उलट इन चुनावों में सत्ता और विपक्ष के पास निर्विरोध निर्वाचन का ही विकल्प है. एक सदस्य को जिताने के लिए इन चुनावों में 29 मतों की जरूरत है. राज्यसभा चुनाव के दौरान के ही समीकरणों को भी देखे तो भी अतिरिक्त सीट पर उतारने की स्थिति नही दिखती है.
इनकी सदस्यता हो रही है खत्म
समाजवादी पार्टी — अखिलेश यादव, उमर अली खान, नरेश उत्तम पटेल, मधु गुप्ता, राजेन्द्र चौधरी, रामसकल, विजय यादव.
बीजेपी— राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार महेंद्र सिंह, राज्य मंत्री मोहसिन रज़ा.
बसपा — सुनील चित्तौड़, डॉ विजय प्रताप
राष्ट्रीय लोकदल— आरएलडी के चौधरी मुश्ताक

चुनाव से अन्य समाचार व लेख

» छत्तीसगढ़ के धुर नक्सल बेल्ट में घमासान तेज, गांवों में जाने से कतरा रहे नेता

» चुनावों में नहीं हो पाएगा WhatsApp का बेजा इस्तेमाल, लगेगी रोक, अकाउंट हो जाएगा ब्लॉक

» VVPAT से नहीं खिंचेगा फोटो, अफवाहों पर ध्यान न दें मतदाता: चुनाव आयोग

» कभी कांग्रेस को नेहरू, इंदिरा के नाम पर मिलते थे वोट, अब चुनौतियों से जूझ रही पार्टी: पी चिदंबरम

» कांग्रेस छत्तीसगढ़ में बसपा से चाहती है गठबंधन, सपा पर दांव नहीं खेलेगी

 

नवीन समाचार व लेख

» भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय ने कहा बसपा और कांग्रेस ने अंबेडकर के सपनों को रौंदा

» भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा नोटबंदी तुगलकी फरमान, नेताओं को बुजुर्ग बताकर दरकिनार कर रही भाजपा

» जिला अलीगढ़ में बुलंदशहर के पशु व्यापारी से सात लाख लूटे

» जिला मेरठ की महिला से अलीगढ़ के दारोगा ने किया दुष्कर्म, फेसबुक से बढ़ी थीं नजदीकियां

» जिला गोरखपुर में 16 वर्ष की युवती की गोली मारकर हत्या