यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आठ महीने से शिथिल पडी इटावा सफारी प्रोजेक्ट को शासन ने दी हरी झंडी


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 17 2017
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

वन मंत्री दारा सिंह चौहान के निर्देश के बाद इटावा सफारी पार्क को शासन ने हरी झंडी दे दी है। अब इसको चालू करने की कवायद शुरू कर दी गई है। सरकार बदलने के बाद यह प्रोजेक्ट आठ माह से बंद पड़ा था। दीपावली के बाद अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन किए जाने की उम्मीद है। वन विभाग के अफसरों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह राज्य चिडिय़ाघर प्राधिकरण के राज्य सचिव सुनील पांडेय ने इटावा सफारी पार्क का निरीक्षण किया था। वह पार्क में अब तक की गई सारी तैयारियों को देखकर रह गई कमियों का ब्योरा बनाकर ले गए। वह अपनी रिपोर्ट मुख्य वन संरक्षक वन्य जीव आरएस उपाध्याय को सौंपेंगे।

आठ महीने से शिथिल पडी इटावा सफारी प्रोजेक्ट को शासन ने दी हरी झंडी

उत्तर प्रदेश शासन से हरी झंडी मिलने के बाद शासन स्तर पर जल्द ही यह फैसला हो जाएगा कि किस तारीख को इटावा सफारी पार्क का औपचारिक उद्घाटन करना है। निदेशक इटावा सफारी पार्क पीपी सिंह ने कहा कि शासन ने तैयारियों को लेकर रिपोर्ट मांगी है। राज्य चिडिय़ाघर प्राधिकरण के सचिव को पूरी रिपोर्ट उपलब्ध करा दी गई है। उद्घाटन का अंतिम फैसला शासन को लेना है। उद्घाटन होते ही सफारी को आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।

इटावा सफारी पार्क में काम कर रही कार्यदायी संस्था आवास विकास परिषद को वन विभाग ने एलर्ट कर दिया है। उनके अधिकारियों से रह गए काम को पूरा करने को कहा गया है। सफारी पार्क का मुख्य द्वार लगभग पूरा है। उद्घाटन की तिथि आते ही इसे जनता के लिए खोल दिया जाएगा। हालांकि सफारी के फैसिलिटी केंद्र में पौधों को लगाने का काम अभी तक नहीं हुआ है। इसके टेंडर कुछ दिन पूर्व ही हुए हैं। आवास विकास परिषद इस कार्य को फरवरी तक करने का समय मांग रहा है। माना जा रहा है कि बगैर इसके भी सफारी का उद्घाटन कर दिया जाएगा। 

सफारी में 10 तेंदुओं को कानपुर व लखनऊ के चिडिय़ाघर से लाया जाना है परंतु वे अभी तक नहीं लाए गए हैं। तेंदुआ सफारी में भी थोड़ा कार्य बाकी रहने से उनकी शिफ्टिंग का कार्य नहीं हो पा रहा है। हालांकि पर्यटकों को सफारी में घुसते ही सबसे पहले तेंदुआ सफारी का ही दीदार होगा। उसके बाद डियर सफारी, एंटीलोप सफारी, भालू सफारी होगी। लायन सफारी को अभी दर्शकों के लिए नहीं खोला जाएगा। यहां पर शेरों का कुनबा 10 होने की शर्त अभी पूरी नहीं हो सकी है।

इटावा से अन्य समाचार व लेख

» होली पर शिवपाल समर्थकों की नारेबाजी से बनी रही तल्खी, अखिलेश नाराज

» इटावा में मुलायम सिंह यादव की बिगड़ी तबीयत, लखनऊ रवाना

» सैफई मे होली के पोस्टर से गायब हुए शिवपाल और रामगोपाल

» सैफई के एक मंच पर नजर आए चाचा-भतीजे, अखिलेश ने पैर छूकर लिया आशीर्वाद

» त्योहारों पर भी कब्जा जमा रहे राजनीतिक दल : अखिलेश

 

नवीन समाचार व लेख

» मेघालय में सत्ता की सियासत, कांग्रेस और भाजपा दोनों कर रहे हैं सरकार बनाने का दावा

» केंद्र सरकार बताएं कि अभी कितने और मोदी देश छोड़कर भागेंगे : आरपीएन

» शिवपाल सिंह यादव ने कहा, उप चुनाव में बसपा से गठबंधन हानिकारक

» आजम खां ने कहा, अल्लाह के खौफ से पीएम मोदी की बोलती बंद

» यूपी में भाजपा को टक्कर देने के लिए सपा- बसपा ने मिलाया हाथ, सीएम योगी ने कसा तंज