यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद में मुकदमा दर्ज होने से नाराज डॉक्टरों ने नहीं किया काम


🗒 सोमवार, सितंबर 04 2017
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

फर्रुखाबाद । लोहिया अस्पताल में 49 बच्चों की मौत के मामले में सीएमओ, सीएमएस महिला जिला चिकित्सालय व बाल रोग विशेषज्ञ के विरुद्ध दर्ज कराई गई रिपोर्ट के विरोध में सोमवार को डॉक्टरों ने काम नहीं किया। उन्होंने ओपीडी में ताला जड़ दिया और मुकदमा वापस लेने की मांग की। 
प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ की ओर से डा. एसपी सिंह की अध्यक्षता में सुबह 11 बजे बैठक हुई। इसमें कहा गया कि जिला प्रशासन द्वारा जांच के लिए गैर तकनीकी टीम गठित की गई। मौतों का टेक्निकल विश्लेषण, मृत्यु का कारण व अवधि की जानकारी सिटी मजिस्ट्रेट, एसडीएम व अन्य को तथ्यों की जानकारी होती हो तो मुकदमे का निर्णय नहीं लिया जाता।

फर्रुखाबाद में मुकदमा दर्ज होने से नाराज डॉक्टरों ने नहीं किया काम

लोहिया अस्पताल (पुरुष) के चिकित्सा अधीक्षक डा. बीबी पुष्कर ने बताया कि प्रयास किया जा रहा है कि चिकित्सक आंदोलन नहीं करेंगे। उनको समझाया गया है। कुछ देर के लिए चिकित्सक बैठक में शामिल हो गए थे तो कुछ व्यवधान पड़ गया था। उम्मीद है कि मंगलवार से चिकित्सक मरीजों को देखेंगे।
भटकते रहे मरीज
ओपीडी में इलाज न मिलने से मरीज भटकते रहे। जनैया सठैया निवासी सुनीता अपनी बीमार मां महादेवी का इलाज कराने के लिए लाई। दर्द से तड़पती महादेवी काफी देर तक अस्पताल की स्ट्रेचर पर पड़ी रही, लेकिन उसे देखने वाला कोई नहीं था। कमालगंज नई बस्ती निवासी मोनी अपने बच्चों को लेकर इलाज की आस में आई थी। यहां चिकित्सक हड़ताल पर चले जाने के कारण थक हार कर गली में बैठे रहे, लेकिन दोपहर तक उन्हें इलाज नहीं मिला तो बिलखते हुए लौट गए।  

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» सुनील राठी के परिवारीजन फतेहगढ़ सेंट्रल जेल पहुंचे बोले-जेल में सुनील राठी की जान को खतरा

» जनपद फर्रुखाबाद में मजार पर पहुंची महिला से झाडफ़ूंक के बहाने तांत्रिक ने की छेड़छाड़

» फर्रुखाबाद पुलिस एनकाउंटर में घायल हुआ 50 हजार का इनामी, दरोगा को लगी गोली

» अब फतेहगढ़ सेंट्रल जेल आते ही सुनील राठी की अधिकारियों से झड़प

» देर रात फतेहगढ़ सेंट्रल जेल सुनील राठी को कड़ी सुरक्षा में लाया गया

 

नवीन समाचार व लेख

» मप्र में सपा-बसपा से तालमेल कर कांग्रेस दे सकती है चौंकाने वाले नतीजे

» वाराणसी मे बेटी-बहुओं और गांव की महिलाओं ने दिया मां की अर्थी को कंधा

» CWC बैठक मे एनडीए की चुनावी घेरेबंदी के लिए कांग्रेस ने तय किये ये 10 मुद्दे

» भारत सरकार के आरटीआइ कानून में बदलाव के खिलाफ मुखर हुए सूचना आयुक्त

» राफेल से क्यों भाग रही है भाजपा, सच को दबाने की कोशिश में सरकार