यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रूखाबाद जिला अस्पताल में लोकल पर्चेज के नाम पर लाखों रुपए का फर्जीवाड़ा


🗒 गुरुवार, मार्च 22 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सूबे की योगी सरकार भले ही प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं के बेहतर होने की वकालत कर रहे हों, लेकिन फर्रूखाबाद जिला अस्पताल में लोकल पर्चेज के नाम पर हुए 40 लाख से अधिक के फर्जीवाड़े ने इसकी पूरी कलई खोल दी है.

फर्रूखाबाद जिला अस्पताल में लोकल पर्चेज के नाम पर लाखों रुपए का फर्जीवाड़ा

फर्जीवाड़े के खुलासे के बाद से पूरे स्वास्थ्य महकमें हड़कंप है. वहीं, आलाधिकारी मामले को दबाने में जुटे हैं, लेकिन शिकायत के बाद मामले की विभागीय जांच शुरू कर दी गई है.
रिपोर्ट के मुताबिक फर्जीवाड़े के खुलासे के बाद सीएमएस बीबी पुष्कर की शिकायती पत्र के आधार पर जिलाधिकारी ने मामले पर जांच बैठा दी है और सीएमओ समेत सभी आलाधिकारी, कोषाधिकारी और औषधि निरीक्षक को जांच करने का आदेश दे दिया है.
आरोप है कि लोहिया जिला अस्पताल में अधिकारियों के इलाज के लिए लोकल पर्चेज (स्थानीय खरीद) के नाम पर लाखों रुपए की दवाओं की खरीद में हेराफेरी की गई है. मामले की मुख्यमंत्री से की गई शिकायत मीडिया में लीक होने के बाद अब विभागीय अधिकारी सीधा जवाब देने से भी कतरा रहे हैं.
मुख्यमंत्री को भेजे गए शिकायती पत्र में कहा गया है कि उक्त फर्जीवाड़ा प्रशासनिक व न्यायिक अधिकारियों तक के नाम पर किया गया है. इसमें उन दवाओं की भी खरीद दिखाई गई है, जिनकी खरीद लोकल पर्चेज के अंतर्गत अनुमन्य ही नहीं है. वहीं, खरीदी गई दवाओं की कीमत भी वास्तविक कीमत से कई गुना अधिक कीमत पर दिखाई गई है. मसलन, डेढ़ रुपए कीमत के कैप्सूल का भुगतान 20 रुपए प्रति कैप्सूल की दर से किया गया है.शिकायतकर्ता के मुताबिक लोकल पर्चेज की एक बिल संख्या 000018 (तिथि 07 सितंबर 2017) में सीएमओ कार्यालय के एक लिपिक भोला नाथ चतुर्वेदी की जानकारी के बिना उनके नाम से कुल 24885 रुपए की एलपी का भुगतान कर दिया गया जबकि लिपिक इलाज कराने तक से इनकार कर रहा है. वहीं, जिला अस्पताल लोहिया में तैनात एक अन्य लिपिक राम मोहन कटियार के नाम से भी 2777 का भुगतान निकाला गया है और जिले के तत्कालीन सीडीओ के नाम से 11,580 रुपए की खरीद की गई.
शिकायत के अनुसार दूसरे बिल संख्या 000019 (तिथि 11 सितंबर 2017) में एक न्यायिक अधिकारी की पत्नी व दूसरे की मां के नाम पर भी कई दवाईयों की मंहगे दामों पर खरीद की गई हैं. वहीं, लोहिया अस्पताल के एक फार्मासिस्ट के नाम पर 2.11 रुपए की कीमत वाले न्यूट्रोलिन-बी की खरीद 25 रुपए प्रति कैप्सूल की दर से की गई है.
शिकायती पत्र में बताया गया है कि एक दवा आपूर्ति करने वाली फर्म श्याम मेडिकल स्टोर के प्रोपराइटर के पिता के नाम पर भी 21,900 रुपए की एलपी जारी की गई है. इनमें एक वरिष्ठ अधिवक्ता के नाम से भी 6586 रुपए की एक लोकल पर्चेज दिखाई गई. दिलचस्प बात यह है कि लोकल पर्चेज बिल में केवल महिलाओं को देने वाली कईं दवाए पुरुषों के नाम से भी शामिल की गई हैं.
बताया जाता है अधिकांश बिलों पर दवाओं के बैच नंबर अंकित नहीं किए जाने व बिलों की तारीख डिमांड लेटर से पूर्व की होने के मामले में भी जांच की मांग की गई है. मामले के खुलासे के बाद कई सरकारी कर्मचारी लोहिया अस्पताल में इलाज कराने की बात को ही सिरे से ख़ारिज कर रहे हैं.
शिकायतकर्ता अजय कटियार के मुताबिक अगर मामले पर पिछले 2 सालों की जांच की जाए तो लाखों रुपये का घोटाला सामने निकल कर आएगा. शिकायर्ता के मुताबिक पिछले 2 वर्षों में नकली पर्चेज के नाम पर किया गया फर्जीवाड़ा तक़रीबन 40 लाख रुपए का हो सकता है. उन्होंने बताया कि मामले के खुलासे के लिए जब आरटीआई दायर की गई तो जिला अस्पतालकर्मी उसका जबाव नहीं दे रहे हैं.
मामले पर जब जिले के सीएमओ यूके पांडे से बात की गई तो उन्होंने मामले की जानकारी नहीं होने की बात कही है, लेकिन मामले पर जिलाधिकारी के कार्यालय द्वारा जारी एक अधिकारिक पत्र की कॉपी न्यूज़18 के हाथ लगने से साफ़ हो गया है कि सीएमओ भी मामले को दबाने में जुटे हैं.
हालांकि पता चला है कि जिलाधिकारी के पत्र प्राप्त होने के बाद सीएमओ कार्यालय द्वारा जिला अस्पताल के सीएमएस को पत्र लिखकर पूरे मामले की जानकारी मांगी गई है.

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» सुनील राठी के परिवारीजन फतेहगढ़ सेंट्रल जेल पहुंचे बोले-जेल में सुनील राठी की जान को खतरा

» जनपद फर्रुखाबाद में मजार पर पहुंची महिला से झाडफ़ूंक के बहाने तांत्रिक ने की छेड़छाड़

» फर्रुखाबाद पुलिस एनकाउंटर में घायल हुआ 50 हजार का इनामी, दरोगा को लगी गोली

» अब फतेहगढ़ सेंट्रल जेल आते ही सुनील राठी की अधिकारियों से झड़प

» देर रात फतेहगढ़ सेंट्रल जेल सुनील राठी को कड़ी सुरक्षा में लाया गया

 

नवीन समाचार व लेख

» बाइक सवार युवक के सामने अचानक अज्ञात जानवर आ जाने से बाइक लड़ गई

» महोबा कोतवाली क्षेत्र मे सड़क निर्माण पूरा न होने पर नगर पालिका पर उठाई अवाज

» महोबा जनपद में घर के बाहर सो रहे युबक की हत्या

» इलाहाबाद में रेस्टोरेंट बंद करने में हुई 10 मिनट की देरी तो दरोगा ने कर दी दुकानदार की पिटाई

» मुझे देख दो कदम पीछे हट जाते हैं BJP के सांसद, कहीं उन्हें गले न लगा लूं: राहुल गांधी