फर्रुखाबाद मे सीएमओ ने खड़े होकर जलवाईं लाखों की दवाएं, बची दवाएं गंगा और कटरी में फेंकी

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फर्रुखाबाद मे सीएमओ ने खड़े होकर जलवाईं लाखों की दवाएं, बची दवाएं गंगा और कटरी में फेंकी


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 16 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सीएमओ कार्यालय परिसर स्थित एक जर्जर भवन को गिराए जाने के दौरान मिलीं सरकारी दवाओं को आग के हवाले कर दिया गया। इस दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. अरुण कुमार उपाध्याय स्वयं मौजूद थे। दुर्गंध युक्त काला धुआं उठता देख किसी ने जिलाधिकारी मोनिका रानी को सूचना दी। डीएम के आदेश पर सिटी मजिस्ट्रेट आरए चौहान ने जांच के बाद जलने से बची दवाओं व सामग्री को सील करा दिया।  जिलाधिकारी मोनिका रानी ने बताया कि नगर मजिस्ट्रेट को जांच के लिए भेजा गया था। जांच रिपोर्ट अभी उन्हें नहीं मिली है। रिपोर्ट के आधार पर जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

फर्रुखाबाद मे सीएमओ ने खड़े होकर जलवाईं लाखों की दवाएं, बची दवाएं गंगा और कटरी में फेंकी

मंगलवार को सीएमओ कार्यालय परिसर स्थित जर्जर भवन में काफी संख्या में दवाएं रखी होने की सूचना ठेकेदार ने दी। लाखों रुपये कीमत की परिवार नियोजन संबंधी दवाओं व अन्य सामग्री का स्टाक में रिकार्ड न होने पर सीएमओ ने उनको अपने सामने ही जलवा दिया। डीएम के आदेश पर सिटी मजिस्ट्रेट मौके पर पहुंच गए। उन्हें देख सीएमओ वहां से चले गए। सिटी मजिस्ट्रेट ने जलने से बची दवाओं को अलग कराया। वर्ष 2018, 2019 व 2020 में एक्सपायर होने वाली दवाओं व सामग्री को सील कर दिया। उनके जाने के बाद काफी मात्रा में जलने से बची रह गईं गर्भनिरोधक गोलियां व सामग्री को स्वास्थ्य कर्मी सरकारी वाहन से बरगदिया घाट पर गंगा कटरी और गंगा में फेंक आए। गंगा में दवाओं के पैकेट दूर तक उतराते नजर आए।सीएमओ डॉ. अरुण कुमार उपाध्याय ने बताया कि जर्जर भवन में कुछ गत्तों में दवाएं रखी थीं। गत्ते बेचने के लिए ठेकेदार के मजदूरों ने दवाओं को जला दिया। यहां दवाएं कैसे पहुंचीं, इसकी जानकारी नहीं है। मामले की जांच के लिए समिति गठित कर दी गई है। दवाएं जलने की सूचना पर डॉ. दलवीर सिंह के साथ मौके पर गए थे। दवाएं जलाने में उनका या उनके विभाग का कोई लेनादेना नहीं है।

फर्रूखाबाद से अन्य समाचार व लेख

» सलमान खुर्शीद बोले-रिश्ते में तो हम योगी आदित्यनाथ के बाप

» फर्रखाबाद मे सेना का ऑपरेशन असीम रुका, बोरवेल में दफन हो गई सीमा

» फर्रुखाबाद मे मिट्टी धसकने से 48 घंटे बाद भी नहीं निकाल पाए बोरवेल में फंसी बच्ची

» फर्रुखाबाद मे बोरवेल में छह फीट और नीचे खिसक गई सीमा, बचाव में तीन जवान जख्मी

» जिला फर्रुखाबाद में खेलते समय आठ साल की बच्ची बोरवेल में गिरी, बचाव में जुटी सेना

 

नवीन समाचार व लेख

» रेलवे पर हावी वेण्डरो की फौज , कानपुर गंगापुल पर रोक लेते हैं ट्रेने

» लखनऊ मे गर्दन में घुसा था पेचकस, डॉक्टरों ने 30 मिनट में निकालकर दिया जीवनदान

» BJP के बड़े नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के घर पर पुलिस का छापा

» बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर में गार्डों की खुलेआम गुंडई, परिजनों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा

» जिला बदायूं से सपा सांसद धर्मेंद्र यादव का जिला प्रशासन पर गंभीर आरोप, सीएम योगी आदित्यनाथ को दी चुनौती