यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

फतेहपुर मे यादव और दलित के बीच होने जा रहा गठबंधन जुड़ने से पहले ही टूटा


🗒 मंगलवार, मार्च 13 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

किशुनपुर थाने के एक गांव में यादव और दलित के बीच होने जा रहा गठवंधन जुड़ने से पहले ही टूट गया। वैसे ऐसा होता तो जन्म जन्म तक माना जाने वाला यह गठबंधन मिसाल बनता और अपने बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद लेकर फूलता फलता।

फतेहपुर मे यादव और दलित के बीच होने जा रहा गठबंधन जुड़ने से पहले ही टूटा

शायद नियति को यह मंजूर नहीं रहा। वर और कन्या की बिरादरी अलग-अलग होने से लखनऊ के कैसरबाग से फतेहपुर आई बरात बिना दुल्हन के वापस लौट गई। हालांकि किसी पक्ष ने पुलिस को तहरीर नहीं दी। लखनऊ के कैसरबाग निवासी अमर सिंह यादव दूल्हा बनकर किशुनपुर थानाक्षेत्र के एक गांव बरात लेकर आया था। मध्यस्थ ने रिश्ता तय कराते समय बताया था कि दुल्हन का परिवार भी उन्हीं की बिरादरी का है। शादी के कार्ड छपवाने में भी कन्या पक्ष ने सही बात छिपाए रखी। रात में वर पक्ष को सच्चाई पता चली।

कन्या पक्ष के दूसरी (दलित) बिरादरी से होने की भनक लगते ही बरातियों ने हो-हल्ला शुरू कर दिया। मामला बिगड़ता देख किसी ने यूपी 100 को सूचना दे दी। पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्ष ने अपनी बात रखी। पुलिस ने दोनों पक्ष को तहरीर लेकर थाने बुलाया। हालांकि सुबह तक कोई नहीं आया। बताते हैं वर पक्ष के लोग रात में ही बरात लेकर वापस लौट गए। मंगलवार दोपहर थानाध्यक्ष राजीव कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। उनका कहना था बिरादरी छिपाकर रिश्ता तय किए जाने का मामला था। किसी पक्ष ने लिखापढ़ी में कुछ दिया नहीं है। तहरीर मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी

फतेहपुर से अन्य समाचार व लेख

» जनपद फतेहपुर में संगम एक्सप्रेस से गायों के झुंड की टक्कर, बड़ा हादसा टला

» फतेहपुर मे पीएसी दारोगा भर्ती दौड़ में गश खाकर गिरे नौ अभ्यर्थी

» फतेहपुर जिले में भाजपा विधायक ने एसडीओ को पीटा विद्युत आपूर्ति ठप

» फतेहपुर जिले मे मोबाइल फोन व्यस्त होने पर पति ने बेरहमी से की पत्नी की हत्या

» मायावती का अनुसूचित समाज के वोटों पर अकेले अधिकार नहींः रामदास अठावले

 

नवीन समाचार व लेख

» मप्र में सपा-बसपा से तालमेल कर कांग्रेस दे सकती है चौंकाने वाले नतीजे

» वाराणसी मे बेटी-बहुओं और गांव की महिलाओं ने दिया मां की अर्थी को कंधा

» CWC बैठक मे एनडीए की चुनावी घेरेबंदी के लिए कांग्रेस ने तय किये ये 10 मुद्दे

» भारत सरकार के आरटीआइ कानून में बदलाव के खिलाफ मुखर हुए सूचना आयुक्त

» राफेल से क्यों भाग रही है भाजपा, सच को दबाने की कोशिश में सरकार