यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गोरखपुर पुलिस ने किया आरती हत्याकांड का खुलासा, प्रेमी निकला कातिल


🗒 मंगलवार, मई 15 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

गोरखपुर पुलिस ने मंगलवार को चर्चित आरती हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा किया है. घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने शादीशुदा महिला के प्रेमी को गिरफ्तार किया है.

गोरखपुर पुलिस ने किया आरती हत्याकांड का खुलासा, प्रेमी निकला कातिल

पुलिस के मुताबिक, महिला से तंग आकर उसके प्रेमी ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया था. दरअसल शादीशुदा महिला के नाजायज संबंधों ने ही उसकी हत्या की पटकथा लिख दी थी.
बता दें कि शादीशुदा होने के बावजूद महिला ने कई गैर मर्दो से नाजायज रिश्ते कायम कर रखा था. जबकि महिला के एक प्रेमी को सिवाये खुद के किसी और की खातिर महिला की चाहत गंवारा नहीं था. वहीं शौखीन मिजाज महिला आये दिन अपने प्रेमियों को बदलती थी. ऐसे में महिला को दिलोजान से चाहने वाले आशिक ने ही महिला की हरकत से तंग आकर उसे मौत के घाट उतार दिया.
घटना कैपिंयरगंज इलाके की थी. जहां बीते 10 मई को एक अज्ञात महिला की लाश मिली थी. वहीं काफी छानबीन के बाद महिला की शिनाख्त पड़ोस के जिला महराजगंज के पनियरा इलाके के आरती के रूप में हुई थी. छानबीन में पता चला है कि आरती शादीशुदा थी. जबकि उसका पति विक्रम पंजाब में किसी फैक्ट्री में काम करता था. इस दौरान तफ्तीश में पुलिस को मृतक महिला आरती के नाजायज रिश्तों के बारे में भी जानकारी हुई.
जांच के दौरान महिला आरती के करीबी मुबारक अली की भूमिका कुछ संदिग्ध लगी थी. जिस पर पुलिस ने सर्विलांस सेल की मदद से संदिग्ध मुबारक अली के कॉल डिटेल को खंगाला गया तो काफी कुछ सुराग पुलिस के हाथ लग गया. ऐसे में क्राइम ब्रांच और कैंपियरगंज पुलिस ने चौमुखा चौराहे के पास मुखबिर की सूचना पर हत्यारोपी मुबारक अली को गिरफ्तार कर लिया,.हत्यारोपी के पास से हत्या में इस्तेमाल उस्तार भी बरामद किया गया है. आरोपी मुबारक अली का दावा है कि मृतक आरती के कई और पुरूषों से नाजायज संबंध थे. जबकि हत्यारोपी ने कई बार नाजायज संबंधों को तोड़ने की नसीहत दी थी. लेकिन प्रेमी की बातों को अनदेखा कर आरती अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही थी. ऐसे में प्रेमी ने तंग आकर महिला आरती की गला रेतकर कत्ल कर डाला था. हत्यारोपी मुबारक अली पेशे से नाई है.
एसपी नॉर्थ रोहित सिंह सजवान ने बताया है कि दरअसल मृतक महिला का कई पुरूषों से नाजायज संबंध था. जो उसके प्रेमी मुबारक अली को नगावर लगता थ. ऐसे में कई बार प्रेमी मुबारक अली ने आरती से औरों से कायम अवैध संबंधों को तोड़ने को कहा था. लेकिन आरती ने उसकी बातों को अनसुना किया था. ऐसे में प्रेमी ने बीते 10 मई को प्रेमिका आरती का दवा दिलाने का झांसा देकर उस्तारे से गला रेतकर हत्या की थी.

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» जिला गोरखपुर में रवि किशन ने लहराया भाजपा का परचम

» पूर्व मंत्री जीतेंद्र जायसवाल समेत पांच पर जालसाजी का मुकदमा

» जिला गोरखपुर में चिट फंड कंपनी ने सात करोड़ रुपये हड़पे, डायरेक्टर-सीएमडी समेत सात पर मुकदमा

» मायावती ने कहा, जवानों की शहादत को भी भुना रही भाजपा

» गोरखपुर में बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा, 23 मई से शुरू होंगे भाजपा के बुरे दिन

 

नवीन समाचार व लेख

» इस बार ज्योतिरादित्य सिंधिया की भी हार

» अंबेडकरनगर मे बसपा के रितेश पांडेय ने BJP के मुकुट बिहारी को दी शिकस्त

» जिला सीतापुर में भाजपा के राजेश वर्मा और मिश्रिख से BJP के अशोक रावत जीते

» जिला रामपुर में आजम ने जयाप्रदा को 1,10,152 वोटों से हराकर कब्जाया ताज

» UP लोकसभा उप चुनाव में गंवाईं तीनों सीट भाजपा की झोली में वापस