गोरखपुर पुलिस ने छापेमारी में प्रिंटिंग प्रेस से जब्त किए ब्रांडेड शराब के नकली रैपर

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गोरखपुर पुलिस ने छापेमारी में प्रिंटिंग प्रेस से जब्त किए ब्रांडेड शराब के नकली रैपर


🗒 बुधवार, मई 23 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

गोरखपुर पुलिस ने कानपुर हादसे से सबक लेते हुए मंगलवार को दो प्रिंटिंग प्रेस पर छापेमारी कर भारी मात्रा में ब्रांडेड शराब कंपनी के नकली रैपर बरामद किया है. हैरानी की बात यह है

गोरखपुर पुलिस ने छापेमारी में  प्रिंटिंग प्रेस से जब्त किए ब्रांडेड शराब के नकली रैपर

बरामद नकली रैपरों पर बारकोड डालकर उन्हें हूबहू असली की तरह बनाया गया था. छापेमारी के दौरान पुलिस ने फर्जीवाड़े के धंधे में लिप्त दो प्रिंटिंग प्रेस के मालिकों को भी गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि लंबे समय से प्रिंटिंग प्रेस नकली रैपर छापने का धंधे में लिप्त थे.
रिपोर्ट के मुताबिक एक शराब कंपनी के कर्मचारी की शिकायत पर पुलिस ने छापेमारी को अंजाम दिया. शिकायतकर्ता रवि सिंह एक शराब कंपनी में कर्मचारी हैं. सूचना के मुताबिक कई दिनों से गोरखपुर जिले में ब्रांडेड शराब के रैपर का इस्तेमाल करके नकली शराब बनाने की सूचना मिल रही थी और जैसे ही नकली रैपर छापने वालों का पता लगा मामले की सूचना पुलिस अधीक्षक को दी गई.
एसपी सिटी विनय कुमार सिंह के निर्देश पर राजघाट थानेदार आशुतोष सिंह ने छापेमारी को अंजाम दिया और मामले में आरोपी दोनों प्रिंटिंग प्रेस मालिकों को फर्जी रैपर के साथ गिरफ्तार कर लिया. बताया जाता है बरामद नकली रैपर का इस्तेमाल कर नकली शराब बनाने में किया जा रहा था.
एसपी सिटी ने फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ करते हुए बताया कि दोनों प्रिंटिंग प्रेस मालिकों की गिरफ्तारी के पास से भारी मात्रा में फर्जी रैपर बरामद किया गया है. एसपी सिटी ने बताया कि प्रिंटिंग प्रेस के मालिकों से पूछताछ कर नकली शराब के धंधे के रैकेट से जुड़े अन्य सदस्यों के बारे में जानकारी हासिल की जा रही है. एसपी सिटी के मुताबिक रैपर छापने वालों के तार नकली शराब के कारोबारियों से जुड़े हैं और उनके नेटवर्क के बारे में पता लगाया जा रहा है.आरोपियों की पहचान राजघाट क्षेत्र के मिर्जापुर निवासी वेद प्रकाश और कोतवाली क्षेत्र के दीवान बाजार निवासी अभिप्राय अग्रवाल के रूप में हुई है. पूछताछ कर पुलिस यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि नकली शराब का रैपर वो किसको सप्लाई करते थे. यह जानकारी हाथ लगने के बाद पुलिस ने नकली शराब के बड़े कारोबार का पर्दाफाश करने का संकेत दिया है.

गोरखपुर से अन्य समाचार व लेख

» मायावती ने कहा, जवानों की शहादत को भी भुना रही भाजपा

» गोरखपुर में बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा, 23 मई से शुरू होंगे भाजपा के बुरे दिन

» गोरखपुर मे पति ने फोन पर बात करने से रोका तो घर से गहने, रुपये लेकर फरार हो गई पत्‍नी

» बौखलाहट में गाली-गलौज पर उतरे विपक्षी नेता ': सीएम योगी

» जिला गोरखपुर में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष के दामाद की गोली मारकर हत्या

 

नवीन समाचार व लेख

» बहराइच के अमृतपुर कांटा गांव में डिमांड पूरी न होने पर रिश्ता तोड़ रचाई दूसरी शादी, मंडप पर पहुंची पहली दुल्हन

» राजधानी लखनऊ में सक्रिय हुआ नकली पुलिस का गिरोह, महिलाओं को बना रहे शिकार

» बागपत में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर दर्दनाक हादसे में एक छात्रा व तीन छात्रों की मौत

» UP मे गाजीपुर, चंदौली, मऊ और वाराणसी में ईवीएम बदलने की अफवाह के बाद रात भर हंगामा

» बसपा सुप्रीमो मायावती ने रामवीर उपाध्याय को पार्टी से किया निलंबित