यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

हरदोई में रेलवे रूट पर ट्रेन से चार गैंगमैन की कटकर मौत


🗒 सोमवार, नवंबर 05 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

दशहरा पर पंजाब के अमृतसर में बड़े रेल हादसे में 65-67 लोगों के जान गंवा देने के बाद भी रेलवे सचेत नहीं हो रहा है। हरदोई में आज लखनऊ-नई दिल्ली रेलवे रूट पर काम कर रहे चार गैंगमैन की ट्रेन की चपेट में आने के कारण मौत हो गई। हादसे में प्रथम दृष्‍टया पीडब्लूआई की लापरवाही सामने आई है। वहीं मृतकों के आक्रोशित परिवारीजनों ने शव नहीं उठाने दिया। इस भीषण हादसे में एक कर्मचारी लापता है।

हरदोई में  रेलवे रूट पर ट्रेन से चार गैंगमैन की कटकर मौत

मृतकों में संडीला के छह नंबर गैंग इंजीनियरिंग बिभाग के कर्मचारी कौशल (30) पुत्र ब्रजमोहम, राजेश (32) पुत्र दयाराम, राम स्वरूप (59) पुत्र मोहमक लोहार, राजेन्द्र (28) पुत्र प्रभुदयाल हैं। संडीला निवासी कौशल व राजेद्र, भिठौली निवासी राजेश व महसोंना निवासी रामस्वरूप रेलवे में गैंगमैन थे। चारों दोपहर को लाइन पर काम कर रहे थे। उनके पास बड़ी मशीन थी। उसी दौरान अकालतख्त एक्सप्रेस आ गईं। चारों गैंगमैन कुछ समझ पाते इससे पहले कि वह ट्रेन की चपेट में आ गए ।घटना की जानकारी मिलते ही जिला पुलिस, एसपी हरदोई अलोक प्रियदर्शी के साथ रेलवे के अधिकारियों ने मृतकों की शिनाख्त की। इसके बाद शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। इस हादसे में पीडब्लूआई रामसजीवन की लापरवाही सामने आई है। जिस स्थान पर काम चल रहा था. उससे वह काफी दूर बैठा था। उसने न ही ब्लाक लिया था और न ही झंडी लगाई गई थी। इससे ट्रेन बिना रुके आ गई आैर हादसा हो गया। दूसरी तरफ पीडब्लूआई का कहना है कि उन्होंने 10 बजकर 15 मिनट पर संडीला स्टेशन को ब्लाक की सूचना भेजी थी, लेकिन स्वीकार नहीं हो सकी।

इस हादसे के बाद मौके पर भीड़ जमा हो गई आैर परिवारी जन शव उठने नहीं दे रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक मौके पर रेल विभाग के बड़े अधिकारी नहीं आ जाते शव नहीं उठने दिए जाएंगे। पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी समेत आला अधिकारी समझाने का प्रयास कर रहे हैं।गैंग मैन कर्मियों का कहना है कि मशीन से बोल्ट कसे जा रहे थे। उनका कहना है कि वह तो गनीमत रही कि चार कस गए अगर न कसे होते तो ट्रेन पलट भी सकती थी।ज्ञात हो की अमृतसर में रावण दहन के दौरान ट्रेन से कटकर 61 लोगों की मौत हो गई और सैंकड़ों लोग घायल हुए थे। घटना के लिए अब तक कोई खास कार्रवाई नहीं की गई है। न ही किसी पर जिम्मेवारी तय हुई, हर कोई अपनी जिम्‍मेदारी से पल्‍ला झाड़ने में लगा है।

हरदोई से अन्य समाचार व लेख

» पूर्व विधायक गंगा सिंह SC-ST कानून को लेकर बेमियादी अनशन पर बैठे

» पूर्व विधायक गंगा सिंह चौहान SCST act में संशोधन मुद्दे पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर

» ओमप्रकाश राजभर अति पिछड़ों की हिस्सेदारी पर सरकार से दो-दो हाथ करने को तैयार

» हरदोई में SP की पहल पर नवरात्र के पहले दिन 600 लोगों ने ली अपराध से दूर होने की शपथ

» हरदोई मे सुनार की दुकान पर मारपीट के दौरान तेजाब से हमला, तीन झुलसे

 

नवीन समाचार व लेख

» इंजीनियरिंग छात्र के परिवार वालों ने शहर के प्रमुख शिक्षण संस्थान को दी सूचना, फेसबुक की पोस्ट देखकर सुरक्षा एजेंसियां भी सक्रिय

» वाराणसी स्थित जेएचवी शूट आउट का मुख्य आरोपी आलोक उपाध्याय को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया

» हरदोई में रेलवे रूट पर ट्रेन से चार गैंगमैन की कटकर मौत

» लखनऊ के कृष्णानगर थाना क्षेत्र मेँ एकाउंट हैकरों रेलवे पायलेट के खाते से तीन बार मेँ हजारो रुपये उड़ाये

» सीएम साहब यह कैसी पुलिस मित्र हैं,जो शत्रु की भूमिका निभा रही कोतवाली फूलबेहड़ पुलिस