यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

हाथरस मे CM योगी ने कहा पिछली सरकारों के काम से विकास रुका और निवेश बंद हुआ


🗒 सोमवार, जुलाई 23 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मुख्यमंत्री के रूप में अपने 16 महीने के कार्यकाल में प्रदेश के सभी 75 जिलों से रूबरु होने का रिकार्ड बनाने वाले योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के अभी तक के पिछड़ेपन के लिए पिछली सरकारों को जिम्मेदार बताया है। सीएम का पदभार ग्रहण करने के बाद पहली बार आज हाथरस पहुंचे योगी आदित्यनाथ ने जिले को 34 योजनाओं का तोहफा प्रदान किया।

हाथरस मे CM योगी ने कहा पिछली सरकारों के काम से विकास रुका और निवेश बंद हुआ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने परिवारवाद व जातिवाद की राजनीति को जमकर कोसा। इसके जरिए उन्होंने सपा व बसपा पर निशाना साधा। साथ ही लोगों को आगाह किया कि प्रदेश के विकास अवरुद्ध करने वाले इन दलों को दोबारा मौका न दें। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जिले की 34 परियोजना का शिलान्यास व लोकार्पण किया। इनमें तालाब चौराहे पर रेलवे ओवरब्रिज का शिलान्यास भी शामिल है। बागला कॉलेज में आयोजित सभी के दौरान इन परियोजनाओं को जिले के विकास की दिशा में बड़ा कदम बताया। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश की पूर्ववर्ती सपा व बसपा पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब गुंडाराज पूरी तरह समाप्त हो चुका है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने जनसभा में कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं हो सकता है। प्रदेश में सपा व बसपा सरकार के पास कोई विजन नहीं था। जिसके कारण विकास का काम रुक गया और खराब कानून-व्यवस्था के कारण निवेश भी बंद हो गया। सपा व बसपा जाति और परिवार की राजनीति करती हैं। हमने 16 महीने में विकास पर ध्यान केंद्रित किया है। अगले तीन वर्ष में उत्तर प्रदेश के दो करोड़ युवा को यहां पर रोजगार मिलेगा। हमारी सरकार ने जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम किया है।

बागला कॉलेज में हुई सभा में उन्होंने कहा कि विकास का कोई विकल्प नहीं हो सकता। एक जिला एक उत्पाद के तहत उजड़े उद्योगों को विकसित किया जाएगा। 10 अगस्त को लखनऊ में इनकी ब्रांडिंग कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि स्वाधीनता आंदोलन में राजा महेंद्र प्रताप व काका हाथरसी ने हाथरस को नई पहचान दी। हींग उद्योग के माध्यम से रोजगार के अवसर पैदा किए जाएंगे। प्रदेश में सपा बसपा के राज में गुंडाराज, माफियाराज, परिवारवाद हावी था, जिससे उद्यमी दूसरे राज्यों में पलायन कर गए। अब इस पर अंकुश लगा है। प्रदेश में पांच लाख करोड़ का निवेश हो रहा है, जिससे 30 लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा। आने वाले तीन साल में दो करोड़ रोजगार के अवसर पैदा होंगे। प्रदेश में पुलिस में 1.62 लाख दारोगा, कांस्टेबल, फॉलोवर की भर्ती होगी। उन्होंने तालाब चौराहा पर बनने वाले रेल ओवर ब्रिज का भी जिक्र किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले के कुछ इलाकों में खारे पानी की समस्या है। इसके लिए मीठे पानी की पाइप लाइन बिछा कर मुफ्त पानी दिया जाएगा। योगी ने यहां बटन दबा कर लगभग 156 करोड़ की 35 परियोजनाओं का शीलनन्यास किया। इससे पहले हतीसा प्राथमिक विद्यालय व जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। सभा के बाद कलेक्ट्रट के कोरग्र्रुप मीटिंग हुई। इसके बाद समीक्षा बैठक भी हुई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां के खारे पानी की समस्या भी मुझे बताई गई है। इसका भी समाधान निकालने के लिए पाइप पेयजल उपलब्ध कराने की योजना पर काम शुरू करेंगे। इस दौरान उन्होंने राजा महेंद्र प्रताप सिंह व हास्य सम्राट काका हाथरसी को याद किया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह व काका हाथरसी ने हाथरस को अलग पहचान दी है। अब सरकार वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट के तहत यहां के हींग उद्योग की देश में अलग पहचान देने के प्रयास में है। उन्होंने हींग कारोबार को प्रोत्साहन पर जोर देते हुए 10 अगस्त को हींग कारोबार से जुड़े उद्यमियों को लखनऊ आने का आमंत्रण भी दिया। हम इस उत्पाद को नया मंच देंगे और रोजगार की समस्या का भी रास्ता हम निकालेंगे। यहां के उद्यमियों को भी मैं बधाई देता हूं जिन्होंने यहां की हींग के जरिए दुनिया के सामने हाथरस को प्रस्तुत करने का काम किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा संकल्प होना चाहिए कि दो अक्टूबर को महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर प्रदेश को खुले में शौच से मुक्ति के संकल्प को पूरा करेंगे। मैं आह्वान करता हूं कि उसी दिन प्रदेश में प्लास्टिक को हमेशा के लिए प्रतिबंधित करने का हम सब संकल्प लें। हमने माटी कला बोर्ड का गठन किया है। इसके जरिए हर गांव में रोजगार की नई संभावनाओं को आगे बढ़ाया जा सकता है। जिन लोगों ने, उद्यमियों ने अपनी इस कारीगरी को आगे बढ़ाने का निर्णल लिया, उन्हें हर संभव मदद मुहैया कराने का पूरा प्रयास हमारी सरकार करेगी। हमने पहले चरण में 50 माइक्रॉन तक की प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाया है और मैं आपका आह्वान करूंगा कि यह पर्यावरण के लिए भी खराब है और स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है। हमें तो अब तात्कालिक जरूरतों के लिए इसके इस्तेमाल से बचना चाहिए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान के जरिए भी हम स्वस्थ और सशक्त भारत की परिकल्पना को साकार करेंगे और उत्तर प्रदेश को इसका अहम हिस्सा बनना होगा। प्रदेश के हर नौजवान को इससे जुडऩा होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो अनुदेशक पहले से कार्यरत हैं, उनके मानदेय को आगे बढ़ाने का मामला हो या फिर शिक्षामित्रों को उनके मूल स्थान पर नौकरी देने का मामला हो, यह सब हमारी सरकार कर रही है। हमारी सरकार 1.37 लाख शिक्षकों की नियुक्ति कर रही है। 68,500 की नियुक्ति प्रक्रिया को नए सिरे से आगे बढ़ाने जा रहे हैं। अब वह समय गुजर गया जब आपका जनपद हर सुविधा से वंचित होता था। पुलिस में हमें 1.62 भर्ती करनी है। मैं आह्वान करूंगा कि नौजवान विकास और सुशासन के इस अभियान से जुडऩा चाहता है, वे इन सभी नौकरियों के लिए तैयारी करें। अगर आप योग्य हैं तो आपके साथ कोई भेदभाव नहीं कर पाएगा। सीएम ने कहा कि यहां आने से पहले मैं अस्पताल और विद्यालय गया था। वहां बहुत से नौजवान खड़े थे। मैं सभी नौजवानों का आह्वान करता हूं कि प्रदेश में अब आपके साथ कोई भेदवाव नहीं कर सकता, आपकी भावनाओं के साथ कोई खिलवाड़ नहीं कर सकता।

उन्होंने कहा कि वन डिस्ट्रक्ट-वन प्रोडक्ट के जरिए हमारी कोशिश है कि हम प्रदेश के नौजवानों को उनके ही जिले में रोजगार मिले। हमारी योजना है कि आगामी तीन साल में हम प्रदेश के दो करोड़ नौजवानों को नौकरी, रोजगार, स्वावलंबन और स्वरोजगार से जोड़ेंगे। हमारी सरकार ने अपराध और भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति से काम किया है और उसी का नतीजा है कि आज प्रदेश में पांच लाख करोड़ का निवेश होने जा रहा है। इससे 30 लाख नौजवान रोजगार के साथ जुड़ेंगे। पिछली सरकारों ने जिस तरह काम किया, उससे उत्तर प्रदेश का विकास रुका और निवेश बंद हो गया। इससे युवाओं के लिए रोजगार का भी संकट खड़ा हो गया। प्रदेश के नौजवानों, किसानों, व्यापारियों व हर तबके के नागरिकों का यह कर्तव्य है कि जो लोग विकास के बाधक रहे हैं उन्हें हम कभी ऐसा अवसर न दें कि वे प्रदेश के विकास को फिर से अवरुद्ध कर सकें।

उन्होंने कहा कि आज यहां एक साथ 156 करोड़ की योजनाएं शुरू हो रही हैं और जो प्रोजेक्ट पूरे हो चुके हैं, उनका लोकार्पण हो रहा है। बरसों से आप सभी की रेलवे ओवरब्रिज की मांग को आज पूरा कर दिया गया है। यहां लोगों को पीने के लिए साफ पानी मिले, बुनियादी सुविधाएं मिलें और स्वास्थ्य की बेहतर सुविधाएं मिलें, उसके लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। मुझे बताया गया कि बरसों से चली आ रही यहां की कई समस्याओं का समाधान हो गया है और कुछ का अभी होना बाकी है। उसी समाधान के लिए हम सब आपके बीच आए हैं। मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार मुझे हाथरस में आने का अवसर प्राप्त हुआ है। आप सबने जो उत्साह दिखाया है, उसके लिए मैं हृदय से आप सभी का अभिनंदन करता हूं और हाथरस के समग्र विकास में हम सब योगदान दे सकें, उसके लिए भी मैं सबको शुभकामनाएं देता हूं। 

हाथरस से अन्य समाचार व लेख

» सीएम योगी आदित्यनाथ का हाथरस दौरा आज बनाएंगे रिकार्ड

» हाथरस मे बारिश में धंसी मथुरा-कासगंज रेलवे ट्रैक की मिट्टी, हादसा टला

» हाथरस में पति के लापता होने पर पत्नी ने प्रेमिका के घर हंगामा?

» बसपा के कद्दावर नेता तथा पूर्व मंत्री रामवीर उपाध्याय को परिवार सहित खत्म करने की धमकी, दो स्पीड पोस्ट से भेजा गया पत्र

» हाथरस में महिला अधिकारी ने कर्मचारियों से की अभद्रता? , जांच शुरू

 

नवीन समाचार व लेख

» शाहजहांपुर में ट्रक ने बाइक में मारी टक्‍कर, दो युवकों की मौत

» अब कांग्रेस राफेल सौदे पर रक्षामंत्री-प्रधानमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का देगी नोटिस

» देश के हर पत्रकार को जनहित कार्यों के लिए आगे आना चाहिए : महापौर जावेद दलवी

» सुप्रीम कोर्ट ने एयरसेल मैक्सिस मामले में कार्ति को बड़ी राहत, SC ने दी अमेरिका,फ्रांस और लंदन जाने की अनुमति

» हाथरस मे CM योगी ने कहा पिछली सरकारों के काम से विकास रुका और निवेश बंद हुआ