यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कानपुर में रेलवे टिकट आरक्षण में किये जा रहे खेल का पर्दाफाश आरपीएफ ने ट्रैवल्स कंपनी के संचालक को पकड़ा


🗒 शनिवार, दिसंबर 22 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 रेलवे प्रशासन के तमाम प्रयासों के बाद रेल टिकट आरक्षण में दलालों का मकडज़ाल अभी खत्म नहीं हुआ है। कानपुर में रेलवे टिकट आरक्षण में किये जा रहे खेल का पर्दाफाश करते हुए आरपीएफ ने एक अवैध कारोबारी को गिरफ्तार किया है। आरपीएफ ने आरोपित के पास से 95 हजार रुपये मूल्य के अवैध टिकट बरामद किए हैं। इसके बाद इस गोरखधंधे से जुड़े अन्य दलालों में अफरा तफरी का माहौल बना है। वहीं आरपीएफ भी पूरी तरह से संजाल तोडऩे की कवायद में जुट गई है।

कानपुर में रेलवे टिकट आरक्षण में किये जा रहे खेल का पर्दाफाश आरपीएफ ने ट्रैवल्स कंपनी के संचालक को पकड़ा

रेलवे मंत्रालय ने रेल टिकट आरक्षण के लिए तरह-तरह से यात्रियों को सुविधाएं दिए जाने के साथ नियम भी सख्त कर दिये हैं। टिकट आरक्षण कराने वाला ही यात्रा करेगा और ट्रेन में आइडी चेक किये जाने का प्रावधान है। इसके बावजूद सेंट्रल स्टेशन पर विभिन्न ट्रेनों में रेल टिकट आरक्षण का गोरखधंधा जारी था। यहां दलाल धड़ल्ले से पहले से टिकट आरक्षित कराकर यात्रियों से अधिक वसूल करते हैं। इस काम में ज्यादातर ट्रैवल्स कंपनी से जुड़े लोग शामिल हैं।आरपीएफ ने मुखबिर की सूचना पर शनिवार को गोविंदनगर के ब्लॉक नंबर 9 में स्थित कृपाल ट्रैवल्स पर छापा मारा। आरपीएफ ने मौके पर संचालक राहुल तीथार्नी उर्फ बाबू पुत्र जीयन्द राम को गिरफ्तार कर लिया। जूही आरपीएफ प्रभारी शिप्रा सिंह ने बताया कि मौके से 53 अवैध रेल टिकट बरामद हुए, जिसमें 16 विंडो टिकट व 37 व्यक्तिगत यूजर आईडी पर बने ई टिकट शामिल थे। इनमें अग्रिम तिथियों के 29 टिकट थे। बरामद रेल टिकटों का मूल्य 94926 रुपये है। साथ ही 9600 रुपये भी बरामद हुए। दुकान में दो सीपीयू, दो मानीटर, एक प्रिंटर, एक डोंगल, तीन मोबाइल भी कब्जे में लिये गये हैं। मौके से बरामद एक डायरी में यात्रियों का लेखाजोखा और कुछ मोबाइल नंबर दर्ज हैं। आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच उप निरीक्षक देबी सिंह को दी गई है।रेलवे प्राइवेट लोगों को रेल टिकट बनाने की सशर्त अनुमति देती है। ऐसे लोग व्यक्तिगत यूजर आईडी बनाकर रेलवे टिकटों का आरक्षण करते हैं और उसका इस्तेमाल व्यवसायिक रूप में करते हैं, जबकि व्यक्तिगत यूजर आईडी से केवल सीमित टिकट ही किए जा सकते हैं। 

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» कानपुर के सचेंडी में पकड़ी गई 480 पेटी मिलावटी शराब, पांच सप्लायर गिरफ्तार

» जिला कानपुर में आठ सॉल्वर और एक अभ्यर्थी गिरफ्तार, सरगना की तलाश

» कानपुर मे आरएसएस प्रमुख ने ध्वज के तीन रंग यूं किये परिभाषित और लिया ये संकल्प

» शिवपाल सिंह यादव ने बिल्हौर के मकनपुर में दरगाह शरीफ चादर चढ़ाई

» जनपद कानपुर में कैबिनेट मंत्री सतीश महाना की बहू से बाइक सवार बदमाशों ने की लूट

 

नवीन समाचार व लेख

» चौकी इंचार्ज पढुआ नरेंद्र सिंह की बैंड बाजे के साथ की गई विदाई।

» ट्रैक्टर की टक्कर से बस बीस फीट गहरी खाई में पलट गई। हादसे में बस के चालक सहित चार लोगों की मौत हो गई।

» आरएसएस का ऋतम एप लांच होते ही छा गया एक लाख से अधिक लोगों ने किया डाउनलोड

» सरस्वती पूजा कार्यक्रम में तृणमूल विधायक सत्‍यजीत विश्‍वास की गोली मार कर हत्या

» रक्षा सौदे के दलाल संजय भंडारी से संबंध नकार कर फंसे रॉबर्ट वाड्रा