यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कानपुर जेल से पाकिस्तान का वकास रिहा, लाहौर भेजने की तैयारी


🗒 मंगलवार, मार्च 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 कानपुर की जिला कारागार में दस साल की सजा पूरी करने के बाद पाकिस्तान से आया मोहम्मद वकास मंगलवार को रिहा हो गया। अब एलआइयू उसे दिल्ली ले जाएगी, जहां पर उसे रखा जाएगा फिर पाकिस्तान से नागरिकता का सत्यापन होने के बाद उसे लाहौर भेजा जाएगा। 

कानपुर जेल से पाकिस्तान का वकास रिहा, लाहौर भेजने की तैयारी

वर्ष 2005 में भारत और पकिस्तान के बीच हो रहे क्रिकेट मैच को देखने के लिए वकास लाहौर से पांच दिन के वीजा पर भारत आया था। शहर के एक होटल में उसका वीजा और पासपोर्ट चोरी हो गया था। इसके बाद वह अचानक लापता हो गया तो पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की थी। मई वर्ष 2009 को बिठूर थाना पुलिस ने वकास को पकड़कर जेल भेज दिया था। उसके खिलाफ शासकीय गोपनीयता भंग करने और विदेशी अधिनियम एक्ट समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था।
कोर्ट में मुकदमे की सुनवाई के बाद उसे दस साल कारावास की सजा सुनाई गई थी। पुलिस अभिरक्षा में उसे जेल भेज दिया गया था, जहां पर वह अबतक निरुद्ध था। 12 मार्च 2019 को सजा पूरी होने पर दोपहर बाद जेल से उसे रिहा कर दिया गया। जेल अधीक्षक आशीष तिवारी ने बताया कि मोहम्मद वकास की सजा पूरी हो गई थी लिहाजा उसे पुलिस और एलआइयू की सुपुर्दगी में दे दिया गया है। कानूनी जानकारों का मानना है कि चूंकि मोहम्मद वकास के पास भारत की नागरिकता नहीं है और पासपोर्ट और वीजा भी नहीं है लिहाजा वह भारत की जमीन पर स्वतंत्र विचरण नहीं कर सकता है। नियमों के मुताबिक रिहाई के बाद अब उसे पाकिस्तान भेजे जाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। पासपोर्ट और वीजा चोरी हो जाने के बाद मोहम्मद वकास ने औरैया में रहकर निकाह कर लिया था। उसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस को पता चला था कि वर्ष 2005 में वकास मुंबई भाग गया था। वहां पर उसने मूल रूप से औरेया के रहने वाले एक कारोबारी से मित्रता कर ली थी और मछली का व्यवसाय करने लगा था। इस दौरान उसने कारोबारी की बेटी से निकाह भी कर लिया था। हालांकि बाद में सच्चाई पता चलने पर युवती व उसके परिजनों ने उससे रिश्ता तोड़ लिया था। औरैया आने जाने के दौरान ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था।

कानपुर से अन्य समाचार व लेख

» घाटमपुर के एक गांव में फोन पर बहुत बातें करना नागवार गुजरा और घातक अंजाम तक पहुंचा दंपती का झगड़ा

» रनियां में हाईवे परकार की टक्कर से बाइक में लगी आग, कुछ देर थमा रहा यातायात

» कानपुर के सचेंडी में दर्दनाक हादसे के बाद भीड़ ने चालक को पेड़ से बांधकर पीटा

» कानपुर के चकेरी में मकान की चौथी मंजिल से एक युवक ने छलांग लगा दी

» कानपुर मे चावल लदा ट्रक ऊपर पलटने से तख्त पर सो रहे पिता व दो बेटों की दर्दनाक मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» गैंगस्टर रवि पुजारी के खिलाफ सेनेगल में शुरू हुई प्रत्यर्पण पर सुनवाई

» राजधानी में बीते 24 घंटे में एक युवती समेत तीन किशोरियों से छेड़खानी-दुष्कर्म, चार अभियुक्त अरेस्ट

» लूट की योजना बना रहे चार लुटेरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

» घाटमपुर के एक गांव में फोन पर बहुत बातें करना नागवार गुजरा और घातक अंजाम तक पहुंचा दंपती का झगड़ा

» लखनऊ के एलडीए में कार्यरत सहायक जनसूचना अधिकारी का बाबू घूस लेतेअरेस्ट