यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

BSP ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सभी पदों से हटाया, पर बने रहेंगे राष्ट्रीय सचिव


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 21 2017
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश चुनावों में करारी हार के बाद एक्शन लेते हुए बहुजन समाज पार्टी ने पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सभी पदों से हटाया दिया है. सिद्दीकी अब सिर्फ राष्ट्रीय सचिव पद पर ही बरकरार रहेंगे. आपको बता दें कि मायावती ने पार्टी में बड़े बदलाव के संकेत दिये थे.

BSP ने नसीमुद्दीन सिद्दीकी को सभी पदों से हटाया, पर बने रहेंगे राष्ट्रीय सचिव

भाई को बनाया था पार्टी उपाध्यक्ष
इससे पहले हाल ही में मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना दिया था, हालांकि उन्होंने कहा कि वह कभी सांसद, विधायक या मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे.

चुनाव में किया गया दुष्प्रचार
मायावती ने कहा था कि चुनावों के दौरान हमारे खिलाफ गलत परचार किया गया. उन्होंने कहा कि हमारे ऊपर सबसे ज्यादा मुसलमानों को टिकट देने का आरोप लगाकर दुष्प्रचार किया गया. कहा गया था कि ऐसे तो उत्तर प्रदेश पाकिस्तान बन जाएगा और चुनाव में इसको लेकर प्रचार किया गया. महागठबंधन पर मायावती ने कहा कि बीजेपी विरोधी पार्टियां अगर मेरे साथ आना चाहती हैं, तो हमें कोई परहेज नहीं है. उन्होंने कहा कि अब जहर से जहर को काटना होगा.

गौरतलब है कि बसपा का बड़ा मुस्लिम चेहरा हैं. वह पूर्व में विधानपरिषद के नेता रह चुके हैं. सिद्दीकी की पश्चिम उत्तर प्रदेश में काफी अच्छी पकड़ है

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» यूपी इंवेस्टर्स समिट में आए मेहमानों के लिए होंगे चार फूड कोर्ट

» शिक्षा के क्षेत्र में अमूल्य योगदान देने वाले नगीने सम्मानित

» समायोजन रद होने के बाद दिवंगत शिक्षामित्रों को श्रद्धांजलि

» अखिलेश यादव का ट्वीट कहा, क्या जानवरों का भी होगा एनकांउटर

» शिया वक्फ बोर्ड ने श्रीश्री का फार्मूले पर जताई आपत्ति, कहा- लखनऊ में ही बने 'मस्जिद-ए-अमन'

 

नवीन समाचार व लेख

» जनसंख्या नियंत्रण की मांग तेज, सुप्रीम कोर्ट में दाखिल तीन याचिकाएं

» त्रिपुरा में 75 फीसदी मतदान, EVM में कैद उम्मीदवारों की किस्मत

» योगी सरकार के राजभर मंत्रियों का एक दूसरे के क्षेत्र में शक्ति प्रदर्शन

» गृह मंत्रालय के अधिकारी के अनुसार विलुप्त होने के कगार पर 42 भारतीय भाषाएं

» गाजियाबाद मे चाचा-भतीजा गैंग का एक और बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़ा