मदरसों में झंडा फहराने की वीडियोग्राफी कराएगी सरकार

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मदरसों में झंडा फहराने की वीडियोग्राफी कराएगी सरकार


🗒 शुक्रवार, अगस्त 11 2017
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद ने सभी मदरसों में स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रगान के साथ तिरंगा झंडा फहराने और हर्षोल्लास के साथ समारोह मनाए जाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही जिला अल्पसंख्यक अधिकारियों को हिदायत दी गई है कि वह इन कार्यक्रमों की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी कराकर उसकी प्रति हासिल करें। इस आदेश के राजनीतिक निहितार्थ निकाले जा रहे हैं। हालांकि अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण का कहना है कि 'इसे राजनीतिक रंग देना ठीक नहीं है। देश में दो ही पर्व हैं जिसे भारतवर्ष में पैदा होने वाला हर व्यक्ति मनाता है। बाकी तो ईद और होली अपनी सुविधा से लोग मनाते ही हैं।'

मदरसों में झंडा फहराने की वीडियोग्राफी कराएगी सरकार

उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने अल्पसंख्यक कल्याण के सभी उप निदेशक और जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को भेजे गए पत्र में 15 अगस्त को सुबह आठ बजे झंडारोहण और राष्ट्रगान, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को श्रद्धांजलि, मदरसों के छात्र-छात्राओं द्वारा राष्ट्रीय गीतों का प्रस्तुतीकरण, स्वतंत्रता दिवस की पृष्ठभूमि तथा स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने वाले सेनानियों और शहीदों के बारे में जानकारी देने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा राष्ट्रीय एकता पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाने हैं। रजिस्ट्रार ने अधिकारियों को स्पष्ट कहा है कि वे अपने-अपने जिलों में स्थित मदरसों में हर्षोल्लास के साथ कार्यक्रम आयोजित कराकर संबंधित कार्यक्रमों की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी प्राप्त कर लें। यद्यपि इस वीडियोग्राफी को लेकर कुछ लोगों ने आपत्ति जताई है कि सरकार दबाव बना रही है लेकिन, रजिस्ट्रार ने यह भी स्पष्ट किया है कि फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी प्राप्त कर लें ताकि उत्कृष्ट श्रेणी के कार्यक्रमों को भविष्य में दोहराया जा सके। रजिस्ट्रार के इस निर्देश के बाद तरह-तरह की प्रतिक्रिया आ रही है। इस पर अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण ने कहा कि इसे बेवजह तूल देना ठीक नहीं है। हर जिले में डीएम आठ बजे झंडारोहण के लिए पत्र लिखता है। यह पर्व हमारे पूर्वजों की कुर्बानी की प्रतिफल है। उन्हें याद करना हम सबकी जिम्मेदारी है। इन आयोजनों से प्रदेश की जनता में राष्ट्रीयता की भावना बढ़ेगी। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» यूपी में सुन्नी और शिया बोर्ड को हाईटेक करने की कवायद तेज

» हजार मेगा वॉट का सोलर प्लांट लगाने के साथ 35 हजार करोड़ निवेश करेंगे अडानी

» यूपी में 4. 28 लाख करोड़ के निवेश से अायेगी रोजगार की बहार, 40 लाख को काम

» वीरों की धरती बुंदेलखंड में बनेगा डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोरः प्रधानमंत्री

» उत्तर प्रदेश को बीमारू प्रदेश से बाहर निकलने की शुरुआत : योगी आदित्यनाथ

 

नवीन समाचार व लेख

» गोरखपुर के भारत-नेपाल सीमा पर कड़ी चौकसी, हेरोइन तस्कर गिरफ्तार

» अलीगढ़ जिले में दो स्थानों पर सड्क दुर्घटना में एक की मौत आधा दर्जन घायल

» सड़क हादसे के शिकार भाजपा विधायक लोकेंद्र की गाड़ी से 2.68 लाख रुपये कैश गायब

» यूपी में सुन्नी और शिया बोर्ड को हाईटेक करने की कवायद तेज

» वाराणसी में अस्सी घाट चौराहे पर बिजली, पानी व सड़क को लेकर प्रदर्शन