ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पहले दिन हुई 65 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पहले दिन हुई 65 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा


🗒 रविवार, फरवरी 04 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

असम में पहली बार हो रहे ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पहले दिन ही 65,186 करोड़ रुपये निवेश की घोषणा की गई। इसके लिए कई क्षेत्रों में 176 समझौते किए गए।

ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के पहले दिन हुई 65 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा

एडवांटेज असम नाम से हो रही समिट के प्रवक्ता के अनुसार सरकारी तेल कंपनी ओएनजीसी ने ही 13 हजार करोड़ रुपये निवेश की प्रतिबद्धता जताई है। दूसरी सरकारी तेल कंपनी ऑयल इंडिया लिमिटेड ने 10 हजार करोड़ रुपये निवेश की मंशा जताई है। कंपनी के सीएमडी उत्पल बोरा ने कहा कि कंपनी ने असम पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड और असम सरकार के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। दो अन्य सरकारी तेल कंपनियों इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन और नुमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड ने क्रमश: 3432 करोड़ और 3410 करोड़ रुपये निवेश की घोषणा की है।

निजी क्षेत्र से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के प्रमुख मुकेश अंबानी ने 2500 करोड़ रुपये असम में निवेश की मंशा जताई है। रिलायंस रिटेल, पेट्रोलियम, टेलीकॉम और पर्यटन में निवेश करेगी। इससे अगले तीन वर्षो में राज्य में कम से कम 80 हजार रोजगार पैदा होंगे।

सस्ती उड़ानें संचालित करने वाली एयरलाइन स्पाइसजेट ने कहा है कि वह ब्रह्मपुत्र नदी में सी-प्लेन का संचालन शुरू करने की संभावनाएं तलाश रही है। एयरलाइन के प्रमुख चेयरमैन अजय सिंह ने समिट में कहा कि अगर ब्रह्मपुत्र नदी में सी-प्लेन का संचालन की संभावना बनती है तो यह दुनिया का बड़ा वाटरवेज होगा। उन्होंने कहा कि पर्यटन, एडवेंचर ट्रैवल और आम लोगों के लिए परिवहन की सुविधा के लिहाज से यहां सी-प्लेन की काफी संभावनाएं हैं। लेकिन उन्होंने इसके लिए कंपनी की योजना का विवरण नहीं दिया है।

सार्वजनिक क्षेत्र की पांच तेल व गैस कंपनियां 1500 किलोमीटर लंबी गैस पाइपलाइन बिछाने के लिए संयुक्त कंपनी का गठन करेंगी। इस परियोजना पर 6000 करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा। समिट में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने बताया कि यह पाइपलाइन गुवाहाटी से नुमालीगढ़ होते हुए तिनसुकिया तक बिछाई जाएगी। इससे पूवरेत्तर राज्यों को गैस की सप्लाई सुचारु हो सकेगी। गैस पाइपलाइन बिछने के बाद असम के अलावा अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम, नगालैंड और त्रिपुरा को फायदा मिलेगा।

समाचार से अन्य समाचार व लेख

» बरेली के कोटक महिंद्रा बैंक में सामने आया 1.32 करोड़ का फर्जीवाड़ा

» बस्ती जनपद मे पेड़ से टकराई बारातियों से भरी पिकअप, तीन की मौत

» बहराइच में बेटे के प्रेम प्रसंग में बाप की हत्या

» अलीगढ़ में सेल्समैन को धमकाकर पेट्रोल पंप से 1.66 लाख लूटे

» फैजाबाद में मुन्ना बजरंगी गैंग के दो शार्प शूटर गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया दुग्ध समितियों की संख्या दस गुना और बंद डेयरियों को पुनर्जीवित करें

» सपा का देवरिया प्रकरण को लेकर कैंडल मार्च, भाजपा सरकारों पर निशाना साधा

» श्रावन मास के दूसरे सोमवार को श्याम नगर में विशाल भंडारे का आयोजन

» ग्रामीण बैंक की लूट का खुलासा महज 48 घंटों में कर पुलिस ने दिखाया दम , भरी बदमाशों में दहशत

» जिला शाहजहांपुर में बोरवेल के गड्ढे में दम घुटने से दो की मौत