इस बार उपचुनाव के लिए सपा के स्टार प्रचारकों की सूची में शिवपाल-मुलायम नहीं

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

इस बार उपचुनाव के लिए सपा के स्टार प्रचारकों की सूची में शिवपाल-मुलायम नहीं


🗒 रविवार, मई 13 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

समाजवादी पार्टी ने अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी। पार्टी ने सिर्फ नूरपुर उपचुनाव के लिए यह सूची निर्वाचन आयोग को भेजी है जिसमें पार्टी के बुजुर्ग नेता मुलायम सिंह यादव और उनके भाई शिवपाल सिंह यादव का नाम शामिल नहीं है। दोनों का नाम फूलपुर और गोरखपुर में हुए उप चुनाव के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में भी नहीं था। गौरतलब है कि कैराना के लिए रालोद पहले ही सूची जारी कर चुकी है जिसमें सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम शामिल है। नूरपुर उपचुनाव के लिए सपा के प्रमुख महासचिव राम गोपाल की ओर से जारी की गई सूची में अखिलेश यादव, किरनमय नंदा, मो. आजम खां, राम गोविंद चौधरी, राजेंद्र चौधरी, अहमद हसन, नरेश उत्तम पटेल, धर्मेंद्र यादव, रामवृक्ष यादव आदि के नाम शामिल हैं।

इस बार उपचुनाव के लिए सपा के स्टार प्रचारकों की सूची में शिवपाल-मुलायम नहीं

पटना में लालू प्रसाद यादव के बेटे के विवाह कार्यक्रम से लौटने के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने युवाओं के सपने तोड़ दिए हैं। किसानों को धोखा दिया है। किसानों की आय दोगुनी करने का दावा भाजपा का ख्याली पुलाव है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार जनहित का कोई कार्य नही कर रही है। पूरे प्रदेश में शिक्षा-स्वास्थ्य की बुरी हालत है। बेरोजगार नौजवानों की संख्या बढ़ती जा रही है। हत्या, दुष्कर्म, लूट, डकैती की बढ़ती घटनाओं से भाजपा सरकार की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगते हैं। भाजपा सरकार कोई भी नया काम नही कर रही है।

नेपाल से संबंधों की बात पर उनका कहना था कि नेपाल में आई भीषण प्राकृतिक आपदा के समय डाक्टरों के दल के साथ पर्याप्त खाद्य सामग्री सपा सरकार ने भिजवाई थी। समाजवादी सरकार में वाराणसी से काठमांडू तक भारत-नेपाल मैत्री बस सेवा की शुरूआत की गई थी। अयोध्या में जनकपुरी से आने वाली बस की अगवानी करते समय मुख्यमंत्री को इसका उल्लेख करने में संकोच नहीं करना चाहिए था। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार लोगों का मुददों से ध्यान हटाकर जातीय विद्वेष फैलाने का काम कर रही है। जनता प्रदेश सरकार की अक्षमता और झूठे प्रचार को जान गई है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» आइपी सिंह के खिलाफ भाजपा का एक्शन, छह वर्ष तक रहेंगे बाहर

» राजधानी लखनऊ में कपड़ा व्यापारी पर हमला, तमंचा सटाकर मारी गोली

» लखनऊ मे संदिग्ध परिस्थितियों में महिला की मौत, पति पर हत्या का आरोप

» बहुचर्चित संजली हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल

» आय से अधिक संपत्ति मामले में बढ़ सकती हैं मुलायम-अखिलेश की मुश्किल, सुप्रीम कोर्ट ने CBI से मांगा जवाब

 

नवीन समाचार व लेख

» SC ने पूछा, कोर्ट आदेश देता है तो उसे मानने में चुनाव आयोग को क्या दिक्कत है?

» मथुरा में मुख्यमंत्री याेगी आदित्य नाथ ने कहा तबाही का नाम है कांग्रेस, आतंकवादियों की सरपरस्‍त

» मेरठ मे छात्रा से छेड़छाड़ कर वीडियो वायरल करने वाले तीनों आरोपित गिरफ्तार

» प्रयागराज मे एसटीएफ के रडार पर है मप्र की दस्यु सुंदरी साधना पटेल

» जिला गोरखपुर में धारदार हथियार से ऑटो चालक की गला रेतकर हत्या