UP मे भाजपा विधायकों को वाट्सएप पर लगातार धमकियां से विधायकों में आक्रोश

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

UP मे भाजपा विधायकों को वाट्सएप पर लगातार धमकियां से विधायकों में आक्रोश


🗒 सोमवार, मई 28 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

भाजपा विधायकों को वाट्सएप पर लगातार धमकियां मिल रही हैं। दो दर्जन से ज्यादा विधायकों को धमकी के बावजूद पुलिस इसका राजफाश नहीं कर पाई है। आये दिन नंबर बदलकर किसी न किसी विधायक को धमकी मिल रही है। इससे एक तरफ खौफ तो दूसरी तरफ पुलिसिया मशीनरी को लेकर आक्रोश भी बढ़ रहा है।

UP मे  भाजपा विधायकों को वाट्सएप पर लगातार धमकियां से विधायकों में आक्रोश

खीरी जिले के मोहम्मदी क्षेत्र से विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह को 20 मई की रात से 23 मई तक धमकी मिली। लोकेंद्र ने थानेदार से लेकर उच्चाधिकारियों तक शिकायत की और पुलिस की हिदायत के अनुरूप सतर्कता भी बरती। सोमवार को फिर नए नंबर से उन्हें वाट्सएप पर मैसेज और वीडियो कॉल के जरिये धमकी का सिलसिला शुरू हो गया। लोकेंद्र सिंह का कहना है कि 'अब जिस तरह मैसेज आ रहा है उससे परेशानी हो रही है।

मुझे भले न डर लगे लेकिन, परिवार और बच्चों की चिंता बढ़ गई है। साइबर क्राइम के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पुलिस ने वाट्सएप के जरिये ही शिकायतों का निस्तारण शुरू कर दिया है लेकिन, माननीयों को लगातार मिल रही धमकियों के बावजूद इसका हल न निकल पाने से चिंता बढऩी स्वाभाविक है।

इसका दुष्प्रभाव दूसरी तरफ भी पड़ रहा है। अब तक की छानबीन में यही बात उभरी कि यह पाकिस्तान, अमेरिका और दुबई समेत अन्य देशों से कॉल आ रही है। पर, शुक्रवार को कासगंज के भाजपा विधायक देवेंद्र सिंह को एक इलाकाई बदमाश के नाम से पत्र भेजकर पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई। यानि इलाकाई बदमाशों का भी हौसला बढ़ रहा है। देवरिया के भाजपा विधायक जनमेजय सिंह से भी वाट्सएप पर रंगदारी मांगी गई।

कहा यही जा रहा है कि प्रकरण की जांच के लिए गठित एसआइटी लगातार केंद्रीय जांच एजेंसियों के संपर्क में है, लेकिन वह अभी तक कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है। अब तो डरावने मैसेज आने लगे हैं। कानपुर देहात जिले के विधायक विनोद कटियार को मिली धमकी ने उनके होश उड़ा दिए। मैसेज में एक डरावने चित्र में एक महिला की खून से लथपथ लाश पड़ी है।

ऐसे चित्र और भी कई विधायकों को भेजकर धमकाने वालों ने पूछा कि अगर आप लोगों के परिवार के साथ ऐसा हो तो कैसा लगेगा। अपनी सरकार होने के बावजूद धमकियां सुन रहे ज्यादातर विधायक तीखी प्रतिक्रिया तो नहीं कर रहे लेकिन उनका आक्रोश छिपा नहीं है। हरदोई जिले के गोपामऊ क्षेत्र के विधायक श्याम प्रकाश समेत कई विधायकों ने पुलिस की निष्क्रियता का मुद्दा उठा दिया है।

अपराधी जल्द पुलिस गिरफ्त में होंगे

'कानून-व्यवस्था पर योगी सरकार कोई समझौता नहीं करेगी। विधायकों को सुरक्षा मुहैया कराई गई है। जांच एजेंसी तह तक पहुंच चुकी है और जल्द राजफाश होगा। प्रथमदृष्टया यह किसी सिरफिरे का काम लग रहा है। आइपी एड्रेस मिल गया है और अपराधी जल्द पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» राज्य सरकार ने यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण घोटाले की सीबीआइ जांच की संस्तुति

» अब दस्यु उन्मूलन इकाई भंग, नए सिरे से बनेगी अपराधियों की डिजिटल कुंडली

» अल्पसंख्यक आयोग निदा खान पर ज्यादती से खफा, फतवा के जवाब में हो फतवा

» अब कांग्रेसी मुहिम मे दलितों की बस्तियों गूंजेगी भाजपा की जनविरोधी नीतियां

» पांच साल के लिए रेड कैटेगरी के उद्योगों को अब मिलेगी संचालन सहमति

 

नवीन समाचार व लेख

» 13 महीने से सऊदी की जेल में बंद देवरिया का युवक आयेगा वापस सुषमा स्वराज की पहल

» पीएम नरेंद्र मोदी को भेंट किया जाएगा बाराबंकी का भगवा गमछा

» जिला मुरादाबाद में तांत्रिक ने जेठानी से किया दुष्कर्म, देवरानी से छेड़छाड़

» अमित शाह ने इलाहाबाद में किया लेटे हनुमान जी का दर्शन पूजन

» केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ममता की छांव में एकांत में अाठ घंटे बिताये मां के साथ