अखिलेश यादव को अमर सिंह ने बताया घटिया व बेहूदा, कहा हिसाब दें, बंगला कैसे बनाया

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अखिलेश यादव को अमर सिंह ने बताया घटिया व बेहूदा, कहा हिसाब दें, बंगला कैसे बनाया


🗒 मंगलवार, जून 12 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पूर्व मुख्यमंत्रियों से सरकारी आवास खाली कराने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला थम नहीं रहा है। सोमवार को राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर बंगला छोडऩे के बाद उसमें तोडफ़ोड़ कराने को लेकर निशाना साधा। अमर सिंह ने ट्विटर पर वीडियो जारी कर अखिलेश को घटिया और बेहूदा आदमी करार दिया। कहा कि यदि अखिलेश ने अपने धन से बंगला बनवाया तो वह बताएं कि इतना पैसा कैसे कमाया और इसका उन्होंने टैक्स दिया कि नहीं।

अखिलेश यादव को अमर सिंह ने बताया घटिया व बेहूदा, कहा हिसाब दें, बंगला कैसे बनाया

उन्होंने कहा कि अखिलेश को यह जवाब देना चाहिए कि बंगले में लगे सौ-सौ एसी, इटालियन टाइल्स और स्विमिंग पूल उनके खर्च पर बना था या फिर राजस्व विभाग के बजट से। अमर सिंह ने सवाल किया कि आप समाजवादी हैं, पूंजीवादी हैं या फिर अवसरवादी या कथित दुष्कर्मी व अवैध खनन से धन कमाने वाले गायत्री प्रसाद प्रजापति के सहयोग से अपने जीवन को बेहतर बनाने वाले व्यक्ति हैं। अमर सिंह ने कहा कि अगर यह सब आपके पैसे से था तो जनता को हिसाब दीजिए कि यह पैसा आपने कैसे कमाया। अगर यह सब सरकार का था तो दुरुपयोग करने का आपको क्या अधिकार है। पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा खाली किए बंगलों की जांच व सामान आदि का मिलान किया जा रहा है। एक दो दिन में कार्रवाई पूरी होने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी। राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला ने बताया कि नुकसान के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। उन्होंने नारायण दत्त तिवारी द्वारा बंगला खाली करने के सवाल पर कहा कि इसको लेकर तिवारी के परिवारीजन से संपर्क साधा जा रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा खाली किए गए बंगले को कांशीराम यादगार स्थल बनाने पर विचार हो रहा है। राज्य संपत्ति विभाग बंगला नंबर 13-ए मॉल एवेन्यू को दो हिस्सों में विभक्त कर नया स्वरूप देने की कार्ययोजना तैयार कर रहा है।इससे बंगले में आवासीय हिस्से व कांशीराम यादगार स्थल की अलग-अलग पहचान होगी। उल्लेखनीय है कि गत दो जून को मायावती ने 13-ए मॉल एवेन्यू का अपना सरकारी बंगला खाली करने से पूर्व कांशीराम यादगार स्थल बनाने से संबंधित कागजात सौंपते हुए यादगार स्थल बनाए रखने का आग्रह किया था। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» योगी सरकार के मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलने से ट्रेन लेट होना बंद नहीं होगा

» UP मे तीन आइएएस और 42 पीसीएस अफसरों का तबादला

» भाजपा का चुनावी बिगुल राजनाथ सिंह और महेंद्र नाथ के क्षेत्र से

» भाजपा मुख्यालय पर नियुक्ति की माग को लेकर एकजुट हुए शिक्षामित्र, लगाए सरकार विरोधी नारे

» बंगला तोड़ने वाले को देंगे 11 लाख का इनाम: अखिलेश यादव

 

नवीन समाचार व लेख

» अनवरगंज स्टेशन के सामने जी टी रोड पर मोटरसाइकल में टक्कर मारकर भाग निकला , दो युवक घायल

» जालना यूनिट की और से कन्हैया नगर के जरूरत मन्द लोगों को सब्जियों वितरित किया

» CBI से दो कदम आगे है ED, केस लेने के बाद देश से नहीं भागा कोई अपराधी: करनल सिंह

» अब सड़क निर्माण में दोगुनी रफ्तार से काम कर रही है मोदी सरकार

» ओबीसी बिल और एनआरसी पर विपक्ष को चुनौती: अमित शाह