यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ मे बहन की फोटो वायरल करने की धमकी देकर मांगे पांच लाख


🗒 मंगलवार, जुलाई 10 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 बहन की अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी देकर पांच लाख रुपये मांगने वाले चचेरे भाई और उसके साथी को साइबर क्राइम सेल की टीम ने गिरफ्तार किया है। एसएसपी कला निधि नैथानी के मुताबिक, पकड़े गए आरोपितों में जौनपुर के थाना गद्दी गांव बेहरा निवासी युवती का चचेरा भाई कामेश शुक्ला व उसका साथी उत्कर्ष सिंह है। कामेश पढ़ाई करता है, जबकि उत्कर्ष सेना में भर्ती होने के लिए तैयारी कर रहा है। दोनों अभियुक्तों के मोबाइल फोन में युवती की अश्लील तस्वीरें मिली हैं। उनके कब्जे से दो मोबाइल फोन भी बरामद किए गए हैं।

लखनऊ मे बहन की फोटो वायरल करने की धमकी देकर मांगे पांच लाख

सीओ हजरतगंज व साइबर क्राइम सेल के नोडल अधिकारी अभय कुमार मिश्र ने बताया कि कुछ दिन पहले पीडि़ता ने सरोजनीनगर थाने में एफआइआर दर्ज कराई थी। जिसमें लिखा था कि उसके मोबाइल फोन से उसकी अश्लील फोटो चोरी कर ली गई हैं। चोरी करने वाला शख्स उन्हें लगातार फोन कर फोटो सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दे रहा है। पीडि़त के मुताबिक अश्लील फोटो डिलीट करने के एवज में उससे पांच लाख रुपये की रंगदारी मांगी जा रही थी। साइबर क्राइम सेल ने आरोपितों के मोबाइल फोन नंबरों को सर्विलांस की मदद से ट्रेस कर छानबीन शुरू की। इस दौरान मंगलवार को आरोपित की लोकेशन हजरतगंज स्थित सहारागंज के पास मिली। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने वहां जाकर दोनों आरोपितों को धर दबोचा। पूछताछ में पीडि़ता के चचेरे भाई कामेश शुक्ला ने बताया कि बहन के मोबाइल फोन से अश्लील तस्वीरों को अपने फोन में ले लिया था। आरोपित के मुताबिक उन तस्वीरों को उसने अपने मित्र उत्कर्ष सिंह को वाट्सएप पर भेजा। इसके बाद उसके माध्यम से पांच लाख की रंगदारी देने को कहा। 

बनारस के गैंग का बताकर मांगी थी रंगदारी

साइबर क्राइम सेल के मुताबिक कामेश के दोस्त उत्कर्ष ने पीडि़ता को फोन कर खुद को बनारस के अभिनय सिंह के गैंग का सक्रिय सदस्य बताया। पुलिस अन्य मामलों में भी छानबीन कर रही है। 

नौकरी नहीं मिली तो चुना शॉर्टकट रास्ता 

आरोपित कामेश और उत्कर्ष ने पुलिस पूछताछ में बताया कि पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्हें नौकरी नहीं मिल रही थी। इसलिए दोनों ने मिलकर पैसे कमाने के लिए इस शॉर्टकट रास्ते को चुना।  

बहन के दोस्त को फं साने की थी साजिश

कामेश ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उसकी चचेरी बहन अपने दोस्त को अश्लील फोटो भेजती थी। यह सब देखने के बाद वह बहन से काफी नाराज था। आरोपित ने योजना बनाई और सोचापुलिस पड़ताल कर बहन के दोस्त को गिरफ्तार कर लेगी। इससे दोनों के बीच हमेशा के लिए रिश्ता भी खत्म हो जाएगा।

पुलिस टीम को 20 हजार का मिलेगा पुरस्कार

पुलिस टीम में शामिल साइबर क्राइम सेल के इंस्पेक्टर विजयवीर सिंह, दारोगा राहुल राठौर, सिपाही फिरोज बदर, सिपाही शरीफ खान व अजय प्रताप सिंह को आइजी रेंज ने बीस हजार रुपये पुरस्कार की घोषणा की है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» सरकार का तेल फूंक अफसरों ने उड़ाई मौज

» योगी सरकार सोमवार को विधानमंडल के दोनों सदनों में अनुपूरक बजट पेश करेगी

» राजधानी लखनऊ में सीआरपीएफ जवान ने एके 47 से ताबड़तोड़ फायरिंग कर खुद को भूना

» भाजपा विधान परिषद सदस्य बुक्कल नवाब ने गाय को माना बहन, मनाएंगे गऊ रक्षाबंधन

» अखिलेश यादव समाजवादी नहीं, नमाजवादी पार्टी के अध्यक्ष: अमर सिंह

 

नवीन समाचार व लेख

» पूरे देश में छोटे अपराधों पर मिल सकती है ऑनलाइन एफआईआर दर्ज की अनुमति, कवायद तेज

» बरेली मे कचहरी की हवालात में बंदियों ने पुलिस पर किया हमला

» कानपुर मे ई-कामर्स कंपनी के एमडी समेत 13 निदेशकों पर मुकदमा

» आगरा मे नौकरी के नाम पर ठगी में फर्जी आइआरएस गिरफ्तार

» इलाहाबाद पुलिस ने अंतरराज्यीय बैंक लुटेरों के गिरोह का भंडाफोड़ किया