यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया दुग्ध समितियों की संख्या दस गुना और बंद डेयरियों को पुनर्जीवित करें


🗒 सोमवार, अगस्त 06 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि दुग्ध समितियों की संख्या में 10 गुना वृद्धि करें। प्रदेश की आबादी, मंडलों, जिलों, तहसीलों, जिलों, ब्लाकों और ग्राम सभाओं के मद्देनजर 6735 समितियां बेहद कम हैं। विभाग जितनी जल्दी इस लक्ष्य को हासिल करेगा, किसानों के हित में बेहतर होगा।मुख्यमंत्री सोमवार को यहां इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में दुग्ध विकास विभाग की ओर से आयोजित गोकुल पुरस्कार सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया दुग्ध समितियों की संख्या दस गुना और बंद डेयरियों को पुनर्जीवित करें

योगी ने कहा कि दुग्ध उत्पादन में प्रदेश पहले स्थान पर है और रहेगा भी। हर किसी को अपनी क्षमता के अनुसार शुद्ध दूध चाहिए। सर्वाधिक आबादी के नाते उप्र बड़ा बाजार है। पशुओं की संख्या भी सर्वाधिक है। इस लिहाज से तो हर जिले में एक डेयरी होनी चाहिए। फिर 14 ही क्यों हैं? कुछ साल पहले इनकी संख्या 65-70 थीं। इनमें से अधिकांश क्यों बंद हो गयीं? इनकी वजहों को तलाशें और इनको पुनर्जीवित करें।मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां अधिकांश लोग स्वावलंबन के लिए अनुदान पाने के लिए काम करते हैं। मन में बैठ गया है कि काम चाहे संस्था का हो या व्यक्ति का बिना अनुदान के संभव नहीं। इस मानसिकता से उबरें। इससे उबरकर काम करने वालों ने बेहतर नतीजे दिये हैं। जिन लोगों को सम्मानित किया जा रहा है उनके काम को बतौर नजीर लोगों के बीच ले जाएं। प्रदेश के संसाधनों के लिहाज से यह दूध और इनसे बनने वाले उत्पादों की भारी संभावना है। जरूरत है सोच बदलते हुए सामूहिक रूप से प्रयास करने की।मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 तक किसानों की आय दोगुना करना सरकार लक्ष्य है। इसके लिए कई योजनाएं भी चल रहीं हैं, पर इसमें सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका पशुपालन की ही होगी।

दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने अपेक्षाकृत अधिक गुणों वाले गाय के दूध का बेहतर दाम मिले इसके लिए इस ब्रांड बनाने के प्रयासों का जिक्र किया। कृषि उत्पादन आयुक्त डा.प्रभात कुमार ने कहा कि पशुपालकों के हित में हमें समितियों में व्याप्त भ्रष्टाचार को दूर करना होगा। सवाल उठाया कि पराग की तुलना में अमूल के उत्पाद क्यों अधिक बिकते हैं? इस मौके पर 73 लोगों को गोकुल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इनमें लखीमपुर खीरी के बेलवामोती दुग्ध संघ से संबंधित वरुण सिंह को प्रथम और मेरठ के नागौरी समिति की कुसुम सिंह  द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित हुई। इनको क्रमश: दो और डेढ़ लाख रुपये के चेक दिये गये। बाकी को 51 हजार रुपये के पुरस्कार दिये गये। 

पुरस्कृत लोगों की सूची

  • -वरुण सिंह- लखीमपुर।
  • -बिटाना देवी-लखनऊ।
  • -संतोष कुमार दीक्षित-सीतापुर।
  • -राजपती -हरदोई।
  • -ब्रजेश कुमार सिंह-रायबरेली।
  • -अविनाश कुमार -उन्नाव।
  • -कुसुम- मेरठ।
  • -कमलेश देवी-बुलंदशहर।
  • -अर्जुन सिंह-गौतबुद्ध नगर।
  • -शिक्षा-गाजियाबाद।
  • -विपेंद्र-हापुड़।
  • -संगीता-बागपत।
  • -प्रदीप कुमार-अमरोहा।
  • -मोहर सिंह-संभल।
  • -नरेंद्र सिंह-बिजनौर।
  • -मनोज कुमार शर्मा-रामपुर।
  • -किरन यादव-मुरादाबाद।
  • -आलोक कुमार सिंह-गोंडा।
  • -किरन अवस्थी-बहराइच।
  • -राजेंद्र प्रसाद वर्मा-बलरामपुर।
  • -हनुमंत-श्रावस्ती।
  •  -कुसुम लता सिंह-चंदौली।
  • -भगौती प्रसाद यादव-जौनपुर।
  • -रीतलाल-भदोही।
  • -मंजू देवी-वाराणसी।
  • -अजय नारायण सिंह-गाजीपुर।
  • -ज्ञानप्रकाश- अंबेडकर नगर।
  • -राजेंद्र प्रसाद-बाराबंकी।
  • -राजपती देवी-फैजाबाद।
  • -सरिता यादव-सुलतानपुर।
  • -ओमप्रकाश सिंह-अमेठी।
  • -रामपाल सिंह-बरेली।
  • -स्वदेश कुमार-बदायूं।
  • -सुरेंद्र सिंह-शाहजहांपुर।
  • -तेजेंद्र सिंह-पीलीभीत।
  • -ब्रजेश सिंह-प्रतापगगढ़।
  • -मनोज कुमार सिंह-इलाहाबाद।
  • -वीरपाल सिंह-फतेहपुर।
  • -दिलीप सिंह-कौशांबी।
  • -मनोज कुमार-मुजफ्फरनगर।
  • -रणजीत सिंह-सहारनपुर।
  • -जिकरिया-शामली।
  • -कृपाशंकर मिश्र-कुशीनगर।
  • -व्यास मुनि-गोरखपुर।
  • -शैलेश कुमार पटेल-महराजगंज।
  • -कौशल तिवारी-देवरिया।
  • -भोलानाथ वर्मा-आजमगढ़।
  • -राजेश कुमार यादव-बलिया।
  • -मनोज मिश्रा-मऊ।
  • -बाबूलाल सिंह-सोनभद्र।
  • -जगदीश प्रसाद सिंह-मीरजापुर।
  • -ओमवीर सिंह-फर्रुखाबाद।
  • -सुरेंद्र ंिसह- इटावा।
  • -सुशील-कानपुर देहात।
  • -ज्ञानेंद नाथ-कन्नोैज।
  • -अमरनाथ-कानपुर नगर।
  • -राजवीर सिंह-औरैया।
  • -राजेंद्र प्रसाद सिंह-संतकबीर नगर। 
  • -राममणि तिवारी-बस्ती ।
  • -श्याम बिहारी-सिद्धार्थनगर।
  • -शिवराज सिंह-अलीगढ़।
  • -प्रदीप कुमार-हाथरस।
  • -धनवंती-कासगंज।
  • -भज्जू सिंह-झांसी।
  • -सुरेंद्र सिंह-ललितपुर।
  • -निशा-जालौन।
  • -रामसरन-फीरोजाबाद।
  • -शशांक-मैनुपरी।
  • -रणवीर सिंह-मथुरा।
  • -कांता देवी-आगरा।
  • -महेंद्र सिंह-चित्रकूट।
  • -श्यामा-हमीरपुर।
  • -रन्नू देवी-बांदा।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार की टीम देवरिया संरक्षण गृह मामले में जांच करने पहुंची

» मायावती देवरिया प्रकरण को लेकर बोलीं, भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की दुर्दशा

» मुख्यमंत्री का सख्त कदम, देवरिया डीएम को हटाया

» आदर्श अस्पताल बनने की राह पर बलरामपुर हॉस्पिटल अब खाली बेड की ऑनलाइन लें जानकारी

» CM योगी ने देवरिया डीएम को फोन कर बालिका गृह कांड में जताई नाराजगी

 

नवीन समाचार व लेख

» मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया दुग्ध समितियों की संख्या दस गुना और बंद डेयरियों को पुनर्जीवित करें

» सपा का देवरिया प्रकरण को लेकर कैंडल मार्च, भाजपा सरकारों पर निशाना साधा

» श्रावन मास के दूसरे सोमवार को श्याम नगर में विशाल भंडारे का आयोजन

» ग्रामीण बैंक की लूट का खुलासा महज 48 घंटों में कर पुलिस ने दिखाया दम , भरी बदमाशों में दहशत

» जिला शाहजहांपुर में बोरवेल के गड्ढे में दम घुटने से दो की मौत