यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लखनऊ पहुंचे करेंगे ओडीओपी का समिट का उद्घाटन


🗒 शुक्रवार, अगस्त 10 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज लखनऊ में प्रदेश सरकार की योजना एक जिला एक उत्पाद (वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट) की तीन दिवसीय समिट का उद्घाटन करेंगे। राष्ट्रपति के लखनऊ आगमन पर अमौसी एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाईक के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा मंत्रिमंडल के अन्य सहयोगियों ने राष्ट्रपति का स्वागत किया।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लखनऊ पहुंचे करेंगे ओडीओपी का समिट का उद्घाटन

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग की ओर से आयोजित पहले 'एक जनपद-एक उत्पाद' (ओडीओपी) समिट का शुभारंभ करेंगे। राष्ट्रपति लाभार्थियों को ऋण पात्र और टूल किट भी वितरित करेंगे। इस समारोह को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और लघु उद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी भी संबोधित करेंगे।राष्ट्रपति का लखनऊ प्रवास करीब छह घंटे का है। 9:30 बजे एयरपोर्ट पर उतरने के बाद वह सीधा राजभवन गए। वहां पर करीब एक घंटा आराम करने के बाद ओडीओपी समिट का उद्घाटन करने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान जाएंगे। वहां पर उद्घाटन के बाद वह विभिन्न स्टॉल का निरीक्षण करने के बाद दोपहर में राज्यपाल राम नाईक की तरफ से दोपहर के भोजन में शामिल होंगे। इसके बाद उनका राजभवन में कुछ चुनिंदा लोगों से भेंट करने का कार्यक्रम है। वह 3:30 बजे लखनऊ से नई दिल्ली रवाना हो जाएंगे।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में इस दौरान अमेजन, क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया, एनएसई, बीएससी और जीई हेल्थकेयर के प्रतिनिधियों व राज्य सरकार के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर भी होंगे।इस समिट में राज्य सरकार की ओर से 4084 लाभार्थियों को 1006.94 करोड़ रुपए का ऋण वितरित किया जाएगा। सरकार ने हर साल एक लाख लोगों को ओडीओपी योजना से जोडऩे का लक्ष्य निर्धारित किया है। यूपी पहला ऐसा प्रदेश है, जो ओडीओपी के माध्यम से लोगों को उनके घर में ही रोजगार उपलब्ध कराने के लिए परंपरागत कुटीर उद्योगों को बढ़ावा दे रहा है। प्रदेश में इस समय 8900 करोड़ रुपए का ही निर्यात होता है, जिसे बढ़ाकर दो लाख करोड़ करने का लक्ष्य रखा गया है।इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राष्ट्रपति सबसे पहले प्रदेश के सभी 75 जिलों से सम्बंधित प्रमुख उत्पादों की प्रदर्शनी देखेंगे। इस दौरान वहां मौजूद उद्यमियों से बातचीत भी करेंगे। यह प्रदर्शनी 12 अगस्त तक चलेगी।इससे पहले उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने लखनऊ में 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश दिवस पर वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट योजना की आधारशिला रखी थी।  

एक जिला-एक उत्पाद अभियान की शुरुआत जापान में 1979 में हुई थी। जब जापान के ओइटा प्रांत के तत्कालीन गवर्नर मोरिहिको हिरामात्सु ने 'वन विलेज वन प्रोडक्ट' स्कीम शुरू की थी। इस मॉडल को 2001-06 के बीच थाईलैंड में 'वन टैम्बोन वन प्रोडक्ट' के रूप में अपनाया गया। बाद में दुनिया के अन्य देशों जैसे कि इंडोनेशिया, फिलीपींस, मलेशिया, चीन आदि में भी इस मॉडल को अमली जामा पहनाया गया। उप्र इस मॉडल को अपनाने वाला देश का पहला राज्य है। 

 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» विधानसभा मार्ग स्थित भाजपा मुख्यालय पर बीटीसी प्रशिक्षुओं ने बेसिक शिक्षामंत्री का आवास घेरा, पुलिस ने लाठी लेकर दौड़ाया

» अमर सिंह ने कहा प्रधानमंत्री ने मेरी तारीफ की तो अखिलेश के पेट में दर्द क्यूं

» मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रक्तदान महादान इसके बारे में प्रचलित भ्रांतियों को दूर करें

» उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने घोषणा की कर्पूरी ठाकुर के नाम पर हर जिले में होगी एक सड़क

» देवरिया कांड को लेकर प्रदर्शन, रीता बहुगुणा का इस्तीफा मांगा

 

नवीन समाचार व लेख

» आगरा में फ्लाइट लेफ्टिनेंट का शव सरकारी आवास में फंदे से लटका मिला

» जनपद गाजीपुर में संवासिनी गृह पर छापेमारी, दो महिलाओं सहित तीन गिरफ्तार

» विधानसभा मार्ग स्थित भाजपा मुख्यालय पर बीटीसी प्रशिक्षुओं ने बेसिक शिक्षामंत्री का आवास घेरा, पुलिस ने लाठी लेकर दौड़ाया

» डीएम के रोकने के बाद भी पुलिस संस्था में लगातार भेजती रही बच्चे

» राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष प्रो रामशंकर कठेरिया ने कहा एएमयू के जवाब से संतुष्ट नहीं एसटी आयोग