यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ मे सहारागंज मॉल के बेसमेंट में फायरिंग, युवक को लगी गोली


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 09 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सहारागंज मॉल के बेसमेंट में स्थित कार धुलाई सेंटर में मंगलवार देर शाम गोली लगने से कर्मचारी रोहित (20) गंभीर रूप से घायल हो गया। एसएसपी आवास के पास हुई घटना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन फानन सीओ हजरतगंज भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे और घायल को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया। सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि रोहित उदयगंज नई बस्ती का रहने वाला है। वह तीन साल से सहारागंज मॉल के बेसमेंट स्थित अजय के कार धुलाई सेंटर में नौकरी करता है।

लखनऊ मे सहारागंज मॉल के बेसमेंट में फायरिंग, युवक को लगी गोली

मंगलवार शाम को जीशान नामक व्यक्ति के स्कार्पियो कार की धुलाई हो रही थी। धुलाई के बाद रोहित उसके साथी सनी, दीपक और वासिफ कार को पोछ रहे थे। दीपक और रोहित कार की अगली खिड़की के पास बायीं ओर जबकि वासिफ और दीपक दायीं ओर थे। इसी दौरान कार में रखी पिस्टल को वासिफ ने उठाया और उसे देखने के साथ ही ट्रिगर दबा दिया। पिस्टल से गोली चली और रोहित के सीने के नीचे जा धंसी। गोली लगने से रोहित लहुलुहान होकर गिर पड़ा। घटना के समय मैनेजर और स्कार्पियो मालिक अंदर केबिन में बैठे थे। गार्ड की सूचना पर आनन फानन सहारागंज चौकी प्रभारी राहुल सोनकर, सीओ अभय कुमार मिश्रा, इंस्पेक्टर राधा रमण सिंह और पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे। घायल को ट्रामा लेकर पहुंचे। जहां, हालत नाजुक देख उसे भर्ती कर लिया गया। पुलिस ने सर्विस सेंटर के कर्मचारी वासिफ, शिव गणेश निवासी बछरावां, दीपक शर्मा निवासी लक्ष्मण मेला को हिरासत में ले लिया। सीओ ने ट्रामा पहुंचकर हालात सामान्य होने पर घायल रोहित के बयान दर्ज किए।रोहित के भाई रंजीत कुमार ने बताया कि मैनेजर अजय और गाड़ी मालिक जीशान की लापरवाही के कारण उसके भाई की जान पर बन आयी। गाड़ी मालिक को कार में लोडेड पिस्टल नहीं छोडऩी चाहिए थी। वहीं, जब गाड़ी धुलाई के लिए आयी तो मैनेजर ने भी गाड़ी की तलाशी नहीं ली कि उसमे क्या रखा है।

आरोपित वासिफ ने पुलिस को बताया कि गाड़ी में पिस्टल रखी थी। उसे लगा की शायद लाइटर वाली पिस्टल है। इस कारण वह उसे उठाकर उलट-पलट कर देख रहा था। इस बीच धोखे से ट्रिगर दब गया और गोली चल गई।घायल रोहित का ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा था। उसकी हालात चिंताजनक थी। डॉक्टरों ने आनन फानन परिवारीजनों से खून का इंतजाम करने को कहा। इस पर वहां खड़े सहारागंज चौकी प्रभारी राहुल सोनकर ने डॉक्टर से कहा कि  मैं खून दूंगा पर रोहित को बचा लीजिए। इसके बाद राहुल सोनकर ने खून दिया।सीओ ने बताया कि रोहित से पूछताछ की गई तो उसने कहा कि गोली वासिफ से धोखे में चली है। उसने जानबूझ कर उस पर फायर नहीं किया है। उसके खिलाफ कोई कार्रवाई न की जाए। सीओ ने बताया कि अभी परिवारीजनों ने कोई तहरीर नहीं दी है। वह जो भी तहरीर देंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» विंध्याचल, नैमिषारण्य और देवीपाटन मेले का प्रांतीयकरण संभव

» यूपी के 24 आइएएस अफसर पांच राज्यों के चुनाव पर नजर रखेंगे

» राजधानी मे इनाम का झांसा देकर साइबर जालसाजों ने महिला डॉक्‍टर से ऐंठे रुपये

» कांग्रेस का गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमलों के विरोध में आक्रोश प्रदर्शन, भाजपा का पुतला फूंका

» ओमप्रकाश राजभर ने मांगा गुजरात की सरकार से इस्तीफा

 

नवीन समाचार व लेख

» विंध्याचल, नैमिषारण्य और देवीपाटन मेले का प्रांतीयकरण संभव

» यूपी के 24 आइएएस अफसर पांच राज्यों के चुनाव पर नजर रखेंगे

» राजधानी मे इनाम का झांसा देकर साइबर जालसाजों ने महिला डॉक्‍टर से ऐंठे रुपये

» लखनऊ मे सहारागंज मॉल के बेसमेंट में फायरिंग, युवक को लगी गोली

» कांग्रेस का गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हमलों के विरोध में आक्रोश प्रदर्शन, भाजपा का पुतला फूंका