यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा रेल हादसे के बाद तत्परता दिखाने वाले पुलिसकर्मियों को मिलेगा डीजीपी प्रशंसा चिह्न


🗒 बुधवार, अक्टूबर 10 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

रायबरेली में हरचंदपुर रेलवे स्टेशन के पास बुधवार सुबह हुई ट्रेन दुर्घटना के बाद तत्परता से घायलों की मदद करने वाले पुलिसकर्मियों को डीजीपी प्रशंसा चिह्न से सम्मानित किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि रायबरेली के हरचंदपुर रेलवे स्टेशन के पास न्यू फरक्का एक्सप्रेस बुधवार सुबह दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे में इंजन और उसकी आठ बोगियां बेपटरी होकर इधर-उधर जा गिरीं। हादसे में हताहतों को पुलिस और राहत दल के कर्मचारियों ने स्थानीय लोगों की मदद से सभी को बाहर निकाला और निकट के अस्पतालों भर्ती कराया गया। सीआरबी ने जांच के आदेश दिए हैं। जांच रेल संरक्षा आयुक्त करेंगे। 

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा रेल हादसे के बाद तत्परता दिखाने वाले पुलिसकर्मियों को मिलेगा डीजीपी प्रशंसा चिह्न

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि दुर्घटना से निपटने में रिक्रूट आरक्षियों को विशेष रूप से सराहनीय काम किया है। स्थानीय अधिकारियों की आख्या पर प्रशंसापत्र जारी किये जाएंगे। डीआइजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मालदा से दिल्ली जा रही न्यू फरक्का एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने की सूचना मिलने के बाद यूपी 100 की गाडिय़ां तत्काल मौके पर पहुंच गई थीं। एनडीआरएफ व एसडीआरएफ के जवानों के साथ रिक्रूट आरक्षियों ने बड़ी मुस्तैदी से 20 घायल यात्रियों को निकालकर अस्पताल पहुंचाया। रिक्रूट आरक्षी घायल बुजुर्गों व बच्चों को अपने कंधों व पीठ पर लादकर इलाज के लिये ले गए। कर्मठता से ड्यूटी करने वाले सिपाहियों, उपनिरीक्षकों व निरीक्षकों को डीजीपी के प्रशंसा चिह्न से सम्मानित किया जायेगा। हादसे के बाद केंद्र व राज्य सरकार ने पीडि़तों को मुआवजा देने की घोषणा की है। रेलवे की ओर से मृतक आश्रितों को पांच-पांच लाख, गंभीर घायलों को एक लाख और मामूली घायलों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा चेयरमैन रेलवे बोर्ड अश्विनी लोहानी ने की है। प्रदेश सरकार ने भी मृतकों के परिवारीजन को दो-दो लाख रुपये देने की बात कही है। राज्य सरकार की तरफ से गंभीर रूप से घायलों को भी 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे।

हादसे के बाद डीएम संजय खत्री, एसपी सुजाता सिंह और रेलवे के कई अफसर सुबह से ही घटनास्थल पर डटे रहे। जबकि, कमिश्नर अनिल गर्ग, पुलिस महानिरीक्षक सुजीत पांडेय, पुलिस महानिरीक्षक रेलवे विजय प्रकाश, मंडल रेल प्रबंधक लखनऊ मंडल सतीश कुमार ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया। इसके अलावा कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी और स्वामी प्रसाद मौर्या भी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» आदित्य यादव ने अखिलेश को उनके गढ़ में हराकर जीत हासिल करने का लक्ष्य रखा

» लखनऊ मे लूट के मुकदमे को मामूली मारपीट में बदल कर की गई करवाई ,

» नवरात्र से कई महत्वपूर्ण बदलावों के संकेत मिले योगी अादित्यनाथ मंत्रिमंडल में बढ़ेंगे पिछड़े और अनुसूचित जाति के मंत्री

» मकान लेने वालों के साथ अब बिल्डर नहीं कर सकेंगे धोखाधड़ी

» लखनऊ मे खुला रिश्वतखोर दारोगा का राज, एंटी करप्शन टीम ने किया गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» आदित्य यादव ने अखिलेश को उनके गढ़ में हराकर जीत हासिल करने का लक्ष्य रखा

» निघासन विकास खंड के ग्राम पंचायतो में गंदगी से बुरा हाल स्वच्छता अभियान की सरे आम उड़ रही धज्जियां।

» वृन्दावन मैं ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर आए स्कूली बच्चों के साथ बिताए पल

» आगामी नवरात्रि त्यौहार के मद्देनज महोबा पुलिस ने किया फ्लैग मार्च

» मथुरा के वृन्दावन कान्हा की नगरी में अग्रसेन जयंती की धूम