यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा पूरी दुनिया का पेट भर सकता यूपी, हर किसान का पंजीकरण कराएं अनिवार्य


🗒 मंगलवार, दिसंबर 11 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि खेतीबाड़ी की योजनाओं का लाभ किसानों को मिले, इसके लिए विभाग हर किसान का अनिवार्य रूप से पंजीकरण कराए। ऐसा हो गया तो उप्र के किसान चमत्कार कर सकते हैं। सर्वाधिक उर्वर भूमि, भरपूर पानी और मानव संसाधन के जरिये वह पूरी दुनिया का पेट भर सकता है। बस विभाग पंजीकरण के जरिये व्यवस्था को पारदर्शी बना दे जिससे किसानों के अनुदान का पैसा सीधे उनके खाते में पहुंचे, उनको तकनीक से जोड़े और समय से गुणवत्ता के कृषि निवेश उपलब्ध कराए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा पूरी दुनिया का पेट भर सकता यूपी, हर किसान का पंजीकरण कराएं अनिवार्य

मंगलवार को यहां मिलेनियम फार्मर्स स्कूल के उद्घाटन कार्यक्रम में योगी ने कहा कि केंद्र एवं प्रदेश की सरकारों ने किसानों के हित में बहुत कुछ किया है। गन्ना, गेंहू और धान की रिकार्ड खरीद और बिक्री, किसानों की मांग के अनुसार न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा आदि इसके प्रमाण हैं। इसके नतीजे भी दिख रहे हैं। प्रदेश की कृषि विकास दर 18 वें से तीसरे स्थान पर आ गयी है। किसानों को जीरो बजट खेती के बारे में बताएं। योगी ने कहा कि अब भी बहुत कुछ करना है। कृषि विज्ञान केंद्र क्या करेंगे? विभाग इसका लक्ष्य तय करें। पानी के दक्ष और नियोजित प्रबंधन के लिए किसानों को जागरूक करें। बिना पर्यावरण को क्षति पहुंचाए न्यूनतम लागत में अधिकतम उत्पादन के लिए किसानों को जीरो बजट खेती के बारे में बताएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब पराली किसानों के लिए समस्या नहीं अतिरिक्त आय का जरिया बनेगी। इससे जैव इधन तैयार होगा। पहले चरण में इसके लिए सीतापुर और गोरखपुर का चयन किया गया है। सीतापुर में तो काम भी शुरू हो गया है। अगले चरण में और जगहों पर भी पराली से इसकी इकाईयां लगेंगी। कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि किसान पाठशालाएं खुद में अभिनव प्रयोग है। इससे अब तक 30 लाख से अधिक किसान जुड़े चुके हैं। दुनिया के कई देश जानना चाहते हैं कि दो वर्ष से कम समय में कैसे यह संभव है। शाही ने विभागीय योजनाओं और उनकी उपलब्धियों के बारे में बताते हुए कहा कि अगर कहीं भी भ्रष्टाचार है तो उससे सख्ती से निबटा जाएगा।

कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. प्रभात कुमार ने अतिथियों के स्वागत के साथ किसान पाठशाला के मकसद के बारे में बताया। डॉ.प्रभात ने कहा कि इस बार की पाठशालाओं में खेत की तैयारी से लेकर बीज शोधन, नकली उर्वरकों एवं कीटनाशकों की पहचान,भंडारण के तरीके आदि के बारे में किसानों के सामने जीवंत प्रदर्शन किया जाएगा। विभागीय प्रमुख सचिव अमित मोहन ने आभार जताया। कार्यक्रम में पशुधन मंत्री प्रो. एसपी बघेल, कृषि राज्य मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह, निदेशक कृषि सोराज सिंह, निदेशक उद्यान डॉ.आरपी सिंह सिंह कृषि और संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी एवं प्रगतिशील किसान भी मौजूद थे। मालूम हो कि किसान पाठशालाओं का यह तीसरा चरण है। इस दौरान दो चरणों (12 से 15 और 17 से 20 दिसंबर) में 10 हजार पाठशालाओं में 10 लाख किसानों को खेती के उन्नत तरीकों की जानकारी दी जाएगी।प्रधानमंत्री फसल बीमा की सुरक्षा अमूमन उन्हीं किसानों को मिलती है जिनके  पास किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) है। एक बहुत बड़ी संख्या उन किसानों की है जिनके पास केसीसी नहीं है वह इसकी सुरक्षा नहीं पाते। विभागीय प्रमुख सचिव अमित मोहन ने निर्देश दिया है कि बीमा योजना में शामिल किसानों में अनिवार्य रूप से पांच फीसद गैर ऋणी किसान भी होने चाहिए। ब्लॉक टेक्नोलॉजी मैनेजर, सहायक टेक्नोलॉजी मैनेजर और तकनीकी सहायक को अपने-अपने स्तर से कम 1000 किसानों को बीमा कराने का भी निर्देश दिया है। अधिकतम किसान बीमा सुरक्षा का लाभ उठाएं इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार भी सुनिश्चित कराएं।  

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» चौधरी चरणसिंह हवाईअड्डा,लखनऊ में भूख-हड़ताल का दूसरा दिन

» कृष्णा नगर के फीनिक्स चौकी प्रभारी का सराहनीय कार्य मासुम को मिलाया उसकी माँ से

» सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा की सीबीआई जांच परइलाहाबाद हाईकोर्ट ने लगाई रोक

» प्रत्यूष हत्याकांड मे आरोपितों के बयानों से खुला राज, सीबीआइ जांच की मांग

» भाजपा नेता प्रत्यूष मणि त्रिपाठी घटना मे गुनहगारों को पकडऩे के लिए नामजद आरोपितों को हमले में भेजा जेल

 

नवीन समाचार व लेख

» कृष्णा नगर के फीनिक्स चौकी प्रभारी का सराहनीय कार्य मासुम को मिलाया उसकी माँ से

» जहांगीरपुर क्षेत्र के गांव हसनपुर में लगा मेले में निशुल्क हुआ बेजुवानों का इलाज

» हेलीकॉप्टर घोटाले में सीबीआइ को मिली मिशेल के हस्ताक्षर का नमूना लेने की अनुमति

» बरेली मे चाय में नशा देकर किया खतना, बंधक बनाकर जबरन पढ़वाई नमाज

» कानपुर मे शादी समारोह से दुल्हन के गहने चोरी, बरातियों की ली गई तलाशी