यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सिपाही भर्ती बोर्ड ने पांच हजार अभ्यर्थियों को दी राहत


🗒 शुक्रवार, दिसंबर 14 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

आरक्षी सिविल पुलिस व पीएसी के 41520 पदों पर सीधी भर्ती-2018 के तहत अभिलेखों की जांच व शारीरिक मानक परीक्षण से लेकर प्रमाणपत्र जमा करने में आई तकनीकी खामियों को लेकर उप्र पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ने अहम फैसले लिये हैं। बोर्ड ने करीब पांच हजार और अभ्यर्थियों को राहत देने पर सहमति जताई है, जिसे लेकर परीक्षा संचालित करा रही कार्यदायी संस्था को निर्देश दिये गए हैं। इनमें डेटा अपलोडिंग में दिक्कत के चलते दौड़ से चूके अभ्यर्थियों और निर्धारित तारीख में भर्ती बोर्ड की वेबसाइट पर लॉगइन करने के बाद भी एडमिट कार्ड अपलोड न कर पाने वाले समेत कुछ अन्य कारणों से चूके करीब पांच हजार अभ्यर्थियों को दौड़ में शामिल होने का मौका मिलेगा।

सिपाही भर्ती बोर्ड ने पांच हजार अभ्यर्थियों को दी राहत

सिपाही भर्ती प्रकिया के दौरान कई जिलों में अलग-अलग समस्याओं को लेकर अभ्यर्थियों ने बीते दिनों भर्ती बोर्ड से शिकायतें की हैं। इसके अलावा बड़े पैमाने पर हो रही भर्ती प्रकिया के दौरान कई स्थानों पर तकनीकी खामियां होने की शिकायतें सामने आई हैं। भर्ती बोर्ड के अध्यक्ष/डीजी जीपी शर्मा की अगुआई में हुई बैठक में शिकायतों के आधार पर करीब पांच हजार अभ्यर्थियों को एक और मौका दिये जाने का निर्णय लिया गया। जीपी शर्मा ने बताया कि कई जिलों में अभिलेखों की जांच व शारीरिक मानक परीक्षण के दौरान डेटा अपलोडिंग का काम समय पर नहीं हो सका था, जिससे बड़ी संख्या में अभ्यर्थी दौड़ में शामिल नहीं हो सके। जिन प्रकरण में तकनीकी खामी की वजह से अभ्यर्थी दौड़ में शामिल नहीं हो सके, उनमें संबंधित अभ्यर्थियों को दौड़ का मौका दिया जायेगा। इसकी तारीक जल्द घोषित की जायेगी। कुछ ऐसे अभ्यर्थी भी हैं, जिन्हें एडमिट कार्ड की सूचना देर से मिली। अनुसूचित जाति-जनजाति के अभ्यर्थियों के जाति व मूल निवास प्रमाणपत्रों की जांच के लिए भी अब अभ्यर्थियों को 15 दिसंबर तक का समय दिया जायेगा। वर्तमान में चल रही सिपाही भर्ती-2018 में आ रही दिक्कतों के चलते भर्ती बोर्ड के लिए सिपाही के 48568 पदों के लिए सीधी भर्ती अक्टूबर - 2018 की परीक्षा का समय पर करना बड़ी चुनौती बनता जा रहा है। इस भर्ती के लिए बीते दिनों करीब 20 लाख अभ्यर्थियों ने परीक्षा शुल्क जमा किया है। भर्ती बोर्ड की बैठक में 20 लाख अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा के शेड्यूल को लेकर भी विचार-विमर्श किया। इसके अलावा जनवरी, 2019 में ही फायरमैन के 1679, जेल वार्डर के 3012 पुरुष तथा 622 महिला पदों के लिए और सिपाही घुड़सवार के 102 पदों के लिए लिखित परीक्षा प्रस्तावित है। बोर्ड ने चार से 10 जनवरी, 2019 के मध्य इन सभी पदों के लिए भर्ती परीक्षा संचालित कराने की प्रस्तावित तिथियां दी थी। फायरमैन, जेल वार्डर व आरक्षी घुड़सवार के पदों पर 31 दिसंबर तक आवेदन किये जाएंगे। इन सभी लिखित परीक्षाओं का शेड्यूल बढऩा तय माना जा रहा।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» अब चुनाव के बाद विभागों में तबादले की तैयारी, वाणिज्य कर विभाग के कर्मियों की बारी

» कृष्णा नगर कोतवाली अंतगर्त डिप्रेशन का शिकार बुजूर्ग फांसी का फंदा बना दी जान

» सुभासपा में हो सकती दो फाड़ राजभर की बर्खास्तगी के बाद उनकी पार्टी पर मंडराने लगे संकट के बादल

» पहला बड़ा मंगल कल, लगेंगे भंडारे, गूंजेंगे बजरंग बली के जयकारे

» पुलिस ने मतगणना से पहले फिर कसी कमर, 100 कंपनी अतिरिक्त पीएसी भी रहेगी मुस्तैद

 

नवीन समाचार व लेख

» UP के अन्दर बनते और बिगड़ते रिश्तों का कुरुक्षेत्र

» UP में BJP और गठबंधन के बीच कांटे की लड़ाई, कांग्रेस को सिर्फ 2 सीट

» अफजाल ईवीेएम की सुरक्षा पर सवाल उठाते हुए स्ट्रांग रूम के बाहर डटे

» जिला गोंडा के विकास भवन में चौकीदार की लाश मिलने से मचा हड़कंप

» अब चुनाव के बाद विभागों में तबादले की तैयारी, वाणिज्य कर विभाग के कर्मियों की बारी