यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मंत्रियों के निजी सचिवों पर एफआइआर के दो दिन बाद भी विवेचना नहीं बढ़ी आगे


🗒 शनिवार, दिसंबर 29 2018
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का दावा करने वाली पुलिस चर्चित मामलों में ढुलमुल रवैया अपनाती नजर आ रही है। स्टिंग में फंसे मंत्रियों के निजी सचिवों के खिलाफ एफआइआर दर्ज होने के दो दिन बाद भी पुलिस की विवेचना आगे नहीं बढ़ पाई है। मुख्यमंत्री के आदेश पर सचिवालय प्रशासन के उपसचिव की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट के बावजूद पुलिस मौन है।

मंत्रियों के निजी सचिवों पर एफआइआर के दो दिन बाद भी विवेचना नहीं बढ़ी आगे

एक निजी टीवी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में फंसे तीन मंत्रियों के निजी सचिवों पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की विवेचना सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र कर रहे हैं। सचिवालय प्रशासन के उपसचिव ने गुरुवार देर रात पिछड़ा वर्ग एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण मंत्री ओमप्रकाश राजभर के निजी सचिव ओमप्रकाश कश्यप, खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडेय के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी व बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा सात के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई थी। लेकिन, विवेचक ने पिछले दो दिनों में कोई कार्रवाई नहीं की है। माना जा रहा है पुलिस साक्ष्य संकलन में एसआइटी का सहयोग कर रही है। पुलिस के मुताबिक भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा सात में तीन से सात साल तक की सजा का प्रावधान है। हालांकि, पड़ताल के बाद आगे की स्थिति स्पष्ट होगी।दूसरा मामला फर्जी कार पास बनाने वाले सचिवालय के निलंबित अनुभाग अधिकारी करन सिंह का है। दो माह से ज्यादा समय बीत गए, जब सचिवालय प्रशासन ने करन के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई थी। इस मामले में भी पुलिस ने कार्रवाई करना मुनासिब नहीं समझा। दबाव में पुलिस करन के खिलाफ हाथ डालने से कतरा रही है। दरअसल, आवास विभाग के अनुभाग आठ के तत्कालीन अनुभाग अधिकारी करन ने मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव के निजी सचिव के कार पास में हेराफेरी कर अपने लिए खुद ही सचिवालय का कार पास बना लिया था। 15 अक्टूबर को यह मामला उजागर हुआ था। इसके बाद रिपोर्ट दर्ज की गई थी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा जातियों को तोडऩे का षडयंत्र रच रही भाजपा

» राजधानी में बेखौफ बदमाशों ने टू लेट का बोर्ड देख घर में घुसे बदमाश, बंधक बनाकर की लूटपाट

» राजधानी मे यहियागंज के धागा गोदाम में भीषण आग, तपिश से फटे खिड़कियों के शीशे

» लखनऊ-उन्नाव और कानपुर समेत आठ जिले संवेदनशील

» पूर्व सांसद अतीक अहमद ने कारोबारी को अगवा कर देवरिया जेल में पिटवाया, FIR दर्ज

 

नवीन समाचार व लेख

» राजधानी में बेखौफ बदमाशों ने टू लेट का बोर्ड देख घर में घुसे बदमाश, बंधक बनाकर की लूटपाट

» राजधानी मे यहियागंज के धागा गोदाम में भीषण आग, तपिश से फटे खिड़कियों के शीशे

» मंत्रियों के निजी सचिवों पर एफआइआर के दो दिन बाद भी विवेचना नहीं बढ़ी आगे

» लखनऊ-उन्नाव और कानपुर समेत आठ जिले संवेदनशील

» UP में आतंकी कनेक्शन में 13 लोगों के बैंक अकाउंट की जांच शुरू