यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आलमबाग स्थित ईकों गार्डेन में वेतन न मिलने से नाराज मदरसा शिक्षकों ने तीन सूत्रीय मांगो को लेकर किया अनिश्चितकालिन धरना


🗒 मंगलवार, जनवरी 08 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

सत्तार खान की रिपोर्ट

आलमबाग स्थित ईकों गार्डेन में  वेतन न मिलने से नाराज मदरसा शिक्षकों ने तीन सूत्रीय मांगो को लेकर किया अनिश्चितकालिन धरना

आलमबाग स्थित ईकों गार्डेन में अपनी तीन सू़़त्रीय मांगों समेत वेतन न मिलने से नाराज मदरसा शिक्षकों मंगलवार को मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक एकता उत्तर प्रदेश बैनत तले अनिश्चितकालीन धरना प्रर्दशन किया। धरने का नेतृत्व अशरफ अली ने बताया कि प्रदेश भर से आये मदरसा आधुनिकीरण हजारों शिक्षक सेवा नियमावली की हिफाजत के लिये अपने कई सालों के वेतन व मदरसा की कयादत में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे है। भारत सरकार की बहुउद्देश्य योजनाओं में से एक मदरसा आधुनिकीकरण योजना एसपीक्यूईएम 1993 से संचालित है जिसमें अब तक 9 हजार मदरसों को आच्छादित किया गया है इस योजना में कार्यरत पच्चीस मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों को योग्यतानुसार दस लाख बच्चों को आधुनिकी शिक्षा प्रदान करते है जिसमें स्नातक शिक्षकों को छः हजार रूपये और बीएड शिक्षकों को बारह हजार रूपये प्रतिमाह सरकार के अनुसार प्रतिमाह भुगतान करने का प्राविधान है लेकिन नियुक्त किए गये शिक्षकों को आज वेतन नहीं मिला,इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार आध्ुानिकीकरण शिक्षकों को स्नातक स्तर पर दो हजार रूपये व तीन हजार रूपये परास्नातक व बीएड को प्रतिमाह दिये जाने का प्रावधान है, पिछले छः माह से राज्यांश का भुगतान भी राज्य सरकार द्वारा नहीं दिया गया। यह शिक्षकों के साथ अन्याय है अपने इन मांगो को लेकर हमसभी यहां प्रदेश भर से अनिश्चितकालीन धरना करने को मजबुर है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» आशियाना थाना क्षेत्र अंतर्गत चार साल की मासूम बच्ची के साथ रेप

» राजधानी समेत जिलों में दिखा असर, कर्मचारी हड़ताल पर-कारोबार ठप

» ऱालोद नेता जयंत चौधरी ने सवर्ण आरक्षण को भाजपा का चुनावी जुमला बताया

» उत्तर प्रदेश सरकार की मंत्रिपरिषद ने नौ महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर अपनी मंजूरी की मुहर लगाई

» निगोहा थाना क्षेत्र के अंतर्गत बघोना गांव में निकले दो अजगर जिन्हें पकड़ कर कुकरेल जंगल में छोड़ा गया

 

नवीन समाचार व लेख

» आशियाना थाना क्षेत्र अंतर्गत चार साल की मासूम बच्ची के साथ रेप

» SC से केंद्र को बड़ा झटका, आलोक वर्मा बने रहेंगे CBI निदेशक; नहीं ले सकेंगे नीतिगत फैसले

» राजधानी समेत जिलों में दिखा असर, कर्मचारी हड़ताल पर-कारोबार ठप

» ऱालोद नेता जयंत चौधरी ने सवर्ण आरक्षण को भाजपा का चुनावी जुमला बताया

» पीलीभीत जहानाबाद थाना क्षेत्र मे परिवार के पांच लोग रात खा-पीकर सोए लेकिन सुबह सूरज चढ़ने तक नहीं उठे