यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लखनऊ के पीजीआइ थाना क्षेत्र के उतरेटिया मे शिक्षिका ने कक्षा एक की छात्रा को पीटा, कान से आया खून


🗒 शनिवार, जनवरी 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

पीजीआइ थाना क्षेत्र के उतरेटिया स्थित सेंट जॉन व्यानी स्कूल की शिक्षिका नवोदिता पर कक्षा एक की छह वर्षीय छात्रा गौरी गुप्ता को पीटने का आरोप लगा है। पिटाई से छात्रा के कान से खून आ गया। पीडि़ता के परिवारीजन ने स्कूल प्रशासन पर सीसी कैमरे में कैद घटनाक्रम के वीडियो फुटेज को हटाने का भी आरोप लगाया है। पीडि़त पक्ष ने डायल 100 पर मामले की सूचना देने के साथ ही प्रधानाचार्य व शिक्षिका के खिलाफ पीजीआइ थाने में तहरीर दी है। इंस्पेक्टर रवींद्रनाथ राय के मुताबिक तहरीर मिली है। पीडि़त पक्ष ने मेडिकल कराने से मना किया है। मामले की जांच की जा रही है।

लखनऊ के पीजीआइ थाना क्षेत्र के उतरेटिया मे शिक्षिका ने कक्षा एक की छात्रा को पीटा, कान से आया खून

व्यापारी मनीष कुमार गुप्ता के मुताबिक उनकी बेटी गौरी गुप्ता मंगलवार को स्कूल गई थी। सुबह दस बजे उसकी अंग्रेजी की क्लास चल रही थी। शिक्षिका नवोदिता ने पढ़ाई के दौरान बच्ची से पूछा, तुम्हारी कॉपी कहां है। इस पर बच्ची ने जवाब दिया कि मैडम आपके पास जमा की थी। आरोप है कि यह सुनते ही शिक्षिका ने बच्ची को थप्पड़ मार दिया। इससे उसके कान से खून आ गया। मासूम ने घर पहुंचकर मां राधा गुप्ता को पूरा घटनाक्रम बताया। मनीष ने बताया कि दूसरे दिन स्कूल में शिकायत करने गए तो उन्हें भगा दिया गया। बच्ची को निजी अस्पताल में दिखाया गया। शनिवार को बच्ची के पिता, मां व भाई दोबारा स्कूल पहुंचे, लेकिन इस बार भी उन्हें अंदर जाने से रोका दिया गया। काफी हंगामे के बाद प्रधानाचार्य फादर रोनॉल्ड रोड्रिग्स बाहर निकले और झूठा आरोप लगाने की बात कही।बच्ची के घरवालों का कहना है कि  शनिवार को सीसी कैमरे की फुटेज दिखाई गई, जिसमें शिक्षिका नवोदिता बच्चों की पिटाई करती दिखी, लेकिन मेरी बच्ची को जब मारा था, उस समय का वीडियो हटा दिया गया। परिवारीजन ने प्रधानाचार्य पर घटना का वीडियो डिलीट कर शिक्षिका को बचाने का आरोप लगाया है। सेंट जॉन व्यानी स्कूल के प्रधानाचार्य रोनॉल्ड रोड्रिग्स ने कहा कि छात्रा व उनके घर वाले किसी साजिश के तहत फंसा रहे हैं। ऐसी कोई घटना होती तो उसकी वीडियो रिकॉर्डिंग मौजूद होती।वहीं आरोपित शिक्षिका नवोदिता का कहना है कि मैंने कान के पास नहीं, छात्रा की पीठ पर मारा था।  वृंदावन कालोनी स्थित पुलिस चौकी के प्रभारी राजू सिंह ने बताया कि स्कूल में बच्चों को सुधारने के लिए एक-दो थप्पड़ तो मार ही दिए जाते हैं। उसको तूल देना ठीक नहीं है। पीडि़त पक्ष की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» एनआइए ने मेरठ और हापुड़ से दो को किया गिरफ्तार

» कांग्रेस की रणनीति तय करने को लखनऊ में राज बब्बर और गुलाम नबी

» सपा-बसपा कार्यकर्ताओं में दिखी करीबी, रैली कर दिखाएंगे ताकत

» अब मायावती के जन्मदिन के बाद होगी सीटों के बंटवारे की घोषणा

» आशियाना थाना इलाके मे छात्र ने लगाई फांसी, मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» जनपद अलीगढ़ की एलईडी फैक्ट्री में आग, 50 लाख का नुकसान

» फीरोजाबाद जिले मे रामगोपाल का शिवपाल को करारा जवाब, कहा पूर्वांचल गए तो पिट जाएंगे

» सेंट्रल नैनी जेल की हाई सिक्योरिटी बैरक से बंदी फरार, सात बंदीरक्षक सस्पेंड

» आजमगढ़ मे बालक का गला मफलर से बांध ब्लेड से काटा, गंभीर हालत में बालक अस्पताल में भर्ती

» एनआइए ने मेरठ और हापुड़ से दो को किया गिरफ्तार