यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

एनआइए ने मेरठ और हापुड़ से दो को किया गिरफ्तार


🗒 शनिवार, जनवरी 12 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

आतंकी गतिविधियों में लिप्त लोगों पर एनआइए लगातार शिकंजा कस रही है। मेरठ के किठौर के गांव राधना निवासी नईम के बाद शुक्रवार देर रात जसौरा निवासी मौलवी अफसार को गिरफ्तार किया गया। शनिवार सुबह एनआइए ने पुलिस-पीएसी के साथ अफसार और उसके मामा के यहां दबिश दी। इस दौरान अफसार का बैग, मोबाइल व कुछ धार्मिक पुस्तकें जब्त की गईं। इसके बाद एनआइए अफसार को लेकर हापुड़ के गांव पिपलैड़ा पहुंची। जहां उसकी निशानदेही पर शहजाद नामक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। वहां से दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी बरामद किए हुए हैं। हालांकि शहजाद की गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की गई है। 

एनआइए ने मेरठ और हापुड़ से दो को किया गिरफ्तार

गौरतलब है कि एनआइए ने गत 26 दिसंबर को दस संदिग्धों को गिरफ्तार कर आतंकी संगठन आइएसआइएस के नए मॉड्यूल हरकत उल हर्ब-ए-इस्लाम का राजफाश किया था। मामले में हापुड़ के गांव वैट निवासी साकिब की गिरफ्तारी के बाद आतंकियों को हथियार मुहैया कराने में किठौर के राधना निवासी नईम का नाम सामने आया था। एनआइए द्वारा वांछित घोषित करने के बाद तीन जनवरी को नईम ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। चार जनवरी को दस दिन की रिमांड पर लेने के बाद एनआइए ने नईम के साथ राधना निवासी मतलूब और उसके भाई महबूब के घर छापामारी की थी। हालांकि, दोनों फरार मिले थे। इन पर आतंकियों को हथियार बेचने का आरोप है।एनआइए की जांच में सामने आया था कि वैट निवासी साकिब के साथ मेरठ के गांव जसौरा निवासी मोहम्मद अफसार (24) पुत्र सरफराज भी आतंकी गतिविधियों में शामिल था। एनआइए ने गत सात जनवरी को अफसार के घर नोटिस भेजा था। इसके बाद परिजनों ने शुक्रवार रात दिल्ली पहुंच अफसार को एनआइए के सुपुर्द कर दिया था। अफसार को रात में ही गिरफ्तार कर एनआइए ने शनिवार सुबह जसौरा स्थित उसके घर दबिश दी। परिजनों ने बताया कि अफसार कुछ दिनों से अजराड़ा निवासी अपने मामा कलुवा के घर रह रहा था। उसका सामान वहीं है। इसके बाद एनआइए ने दोपहर करीब 12.20 बजे अजराड़ा में छापामारी की और अफसार का बैग, मोबाइल व धार्मिक पुस्तकें कब्जे में ले ली।इसके बाद एनआइए ने हापुड़ के पिपलैड़ा में दबिश देकर मदरसे में पढ़ाने वाले शहजाद पुत्र ताहिर को हिरासत में लिया। जानकारी के अनुसार गिरफ्तार मौलवी अफसार बीते माह तक पिपलैड़ा मस्जिद में रहता था। शहजाद भी इसी मस्जिद के निकट मदरसे में बच्चों को हिंदी पढ़ाता है। टीम ने दोनों को धौलाना थाने में ले जाकर पूछताछ की। इसके बाद जांच टीमें दोनों को साथ लेकर रवाना हो गईं। मोहम्मद अफसार और साकिब अमरोहा के मदरसे में साथ पढ़े थे। वहीं, उनकी दोस्ती हुई। अफसार मदरसा जामिया हुसैनिया अबुल हसन पिपलैड़ा मसूरी, गाजियाबाद और साकिब हापुड़ स्थित मदरसे में पढ़ाने लगा। एनआइए के मुताबिक अफसार आतंकी षड्यंत्र के तहत पिछले साल मई व अगस्त महीने में साकिब के साथ तीन बार जम्मू-कश्मीर गया था। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» कानपुर-बनारस-मेरठ और मथुरा में भी नो ट्रिपिंग जोन लखनऊ में कभी नहीं जाएगी बिजली

» पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को अमौसी एयरपोर्ट पर प्रयागराज जाने से रोकने के मामले में ADM और CO को जान से मारने की धमकी

» सपाइयों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने पर विचार करे सरकार

» फोन पर शिवपाल सिंह यादव ने मिलने का समय मांगा, प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा-अभी व्यस्त हूं

» नेताओं ने आश्वासन को आंशिक भी पूरा किया होता तो आज तस्वीर दूसरी होती: राजनाथ सिंह

 

नवीन समाचार व लेख

» प्रधानमंत्री ने कायरतापूर्ण आतंकी हमले की निंदा करते हुए कहा बेकार नहीं जाएगी बहादुर जवानों की शहादत

» नए चुनाव आयुक्त CBDT प्रमुख सुशील चंद्रा नियुक्त, कल संभालेंगे कार्यभार

» शत्रुघ्‍न सिन्हा बोले मोदी को अगला PM नहीं देखना चाहते

» कश्मीर के पुलवामा में सैनिकों पर आतंकी हमले की पाक को छोड़ सभी देशों ने की निंदा

» अमीषा पटेल की बढ़ी मुश्किलें, धोखाधड़ी में कोर्ट ने किया तलब