यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आयकर छापे में डॉक्टरों के ठिकानों पर सामने आया 40 करोड़ रुपये से अधिक का काला धन


🗒 शुक्रवार, जनवरी 18 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

डॉक्टरों के ठिकानों में आयकर छापे में 40 करोड़ रुपये से अधिक का काला धन सामने आया है। प्रदेश के सात जिलों में सात डॉक्टरों के 27 ठिकानों पर छापों के दौरान हिसाब-किताब में भारी गड़बड़ी के साथ 14 लॉकरों के भी दस्तावेज मिले हैैं। आयकर अधिकारियों को इन लॉकरों में अघोषित ज्वेलरी मिलने की उम्मीद है। मरीजों से मोटा पैसा वसूलकर बहीखातों में कम रकम दिखाने और संपत्ति व ज्वेलरी में काले धन का निवेश करने की आशंका पर आयकर टीमों ने गुरुवार को प्रदेश के नामचीन व चर्चित डॉक्टरों को निशाने पर लिया था। इन डॉक्टरों में लखनऊ व कानपुर में अस्पताल संचालित करने वाले पूर्व चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक (डीजीएमई) भी शामिल थे।

आयकर छापे में डॉक्टरों के ठिकानों पर सामने आया 40 करोड़ रुपये से अधिक का काला धन

 आयकर छापे की खास बातें

  • मरीजों से मिली असल रकम कागजों में नहीं दिखा रहे डॉक्टर
  • हापुड़ में एक डॉक्टर ने स्वीकार की 7.5 करोड़ रुपये की अघोषित आय
  • यहां से 38 लाख रुपये नकद के साथ मिली चार किलो ज्वेलरी 
  • मुरादाबाद में डॉक्टर के यहां से नकद 1.18 करोड़ रुपये व ज्वेलरी जब्त 
  • मेरठ के न्यूरोफिजीशियन ने बनाया चार करोड़ रुपये का बंगला 
  • पूर्व डीजीएमई ने निजी इस्तेमाल में लगाई ट्रस्ट की रकम
  • लखनऊ के एक डॉक्टर ने मानी 25 करोड़ रुपये की अघोषित आय
  • नोएडा में डॉक्टर के घर से नकद 58 लाख बरामद, 14 लॉकर भी मिले
  • प्रधान आयकर निदेशक (जांच) अमरेंद्र कुमार ने बताया कि मरीजों से रोजाना ली जाने वाली रकम को बहीखातों में दर्ज न करने की गड़बड़ी सभी डॉक्टरों के यहां मिली है। यह डॉक्टर बहीखातों में कम आमदनी दिखाकर कम रकम का आयकर रिटर्न भर रहे थे। डॉक्टरों के यहां से काले धन को संपत्ति में खपाये जाने के भी सुबूत मिले हैैं। आयकर निदेशक ने बताया कि लखनऊ में अस्पताल, पैथोलॉजी व कॉलेज संचालित करने वाले एक डॉक्टर ने 25 करोड़ रुपये की अघोषित आय स्वीकार की है। इस डॉक्टर द्वारा संपत्ति में भी रकम लगाये जाने की जांच की जा रही है। नोएडा में अस्पताल संचालित करने वाले दो डॉक्टरों में से एक न्यूरोफिजीशियन के यहां 58 लाख रुपये नकद और दो लॉकर मिले, जबकि दूसरे फिजीशियन डॉक्टर के यहां 20 लाख रुपये नकद मिले। डॉक्टरों ने दोनों लॉकरों में अघोषित ज्वेलरी होने की जानकारी आयकर अधिकारियों को दी है। हापुड़ में एक डॉक्टर ने 7.5 करोड़ रुपये की अघोषित आय स्वीकार की। इस डॉक्टर के ठिकानों से 38 लाख रुपये व चार किलो ज्वेलरी के साथ दो लॉकरों के दस्तावेज बरामद किए गए। 
  • मुरादाबाद में बच्चों के एक डॉक्टर के यहां से 1.18 करोड़ रुपये की नकदी व ज्वेलरी जब्त की गई। यहां से भी पांच लॉकरों के कागज मिले हैैं। मेरठ के न्यूरोफिजीशियन की काली कमाई से चार करोड़ रुपये का आलीशान बंगला सामने आया, जबकि उनके घर से 13 लाख रुपये नकद और पांच लॉकरों के दस्तावेज मिले हैैं। डॉक्टर ने इन लॉकरों में ज्वेलरी होने की जानकारी दी है। दवाओं की खरीद में भी यहां असल कमाई छिपाने के सुबूत सामने आए हैैं। कानपुर व लखनऊ में अस्पताल संचालित करने वाले पूर्व डीजीएमई के यहां नकद रकम तो केवल सात लाख रुपये मिली लेकिन, यहां ट्रस्ट की रकम व्यक्तिगत इस्तेमाल में लगाने के साक्ष्य सामने आए। पूर्व डीजीएमई द्वारा संपत्ति में अघोषित आय का निवेश किए जाने की भी जांंच की जा रही है।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की अपर मुख्य सचिव अनीता भटनागर जैन ने बताया उत्तर प्रदेश में बड़ी कंपनियों के खाद्य पदार्थों में मिलावट पर कसेगा शिकंजा

» डीजीपी ओपी सिंह ने यूपी में संदिग्ध आतंकियों की धरपकड़ के बीच गणतंत्र दिवस पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के निर्देश दिये

» केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन भाजपा की चुनाव संचालन समिति में

» यूपी सरकार ने किसान हित में उठाया एक और बड़ा कदम

» उत्तर प्रदेश सरकार चित्रकूट के रामायण मेला का खर्च उठाएगी

 

नवीन समाचार व लेख

» अब UP COP app के जरिये अब घर बैठे एफआइआर दर्ज कराने लगे पीडि़त, 27 सुविधाएं और भी

» आयकर छापे में डॉक्टरों के ठिकानों पर सामने आया 40 करोड़ रुपये से अधिक का काला धन

» डीजीपी ओपी सिंह ने यूपी में संदिग्ध आतंकियों की धरपकड़ के बीच गणतंत्र दिवस पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के निर्देश दिये

» केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन भाजपा की चुनाव संचालन समिति में

» यूपी सरकार ने किसान हित में उठाया एक और बड़ा कदम