यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

SP-SSP से कानून-व्यवस्था पर सीएम योगी आदित्यनाथ सख्त कहा, तबादला नहीं बड़ी कार्रवाई होगी


🗒 रविवार, मार्च 03 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 त्योहार तथा चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश की कानून-व्यवस्था तथा सुरक्षा के उपाय को लेकर बेहद गंभीर हैं। कल रात में उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सभी जिलाधिकारियों तथा एसपी/एसएससी से वार्ता की।

SP-SSP से कानून-व्यवस्था पर सीएम योगी आदित्यनाथ सख्त कहा, तबादला नहीं बड़ी कार्रवाई होगी

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उनके तेवर काफी सख्त थे। उन्होंने नोएडा, गाजियाबाद व लखनऊ के एसएसपी को खराब कानून-व्यवस्था पर काफी फटकार लगाई। उन्होंने साफ कहा कि अब ढीला पडऩे पर अब तबादला ही नहीं इससे भी बड़ी कार्रवाई होगी। सीएम योगी के कड़े तेवर के बाद पुलिस महकमे में खलबली मची है। सीएम योगी ने पश्चिमी यूपी के आधा दर्जन जिलों के कप्तानों को नसीहत दी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य की पुलिस को सुधारने का बीड़ा उठाया है।सीएम योगी आदित्यनाथ ने कल रात वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से समीक्षा बैठक की। इसमें अधिकारियों को राज्य की कानून व्यवस्था सुधारने के लिए कड़े दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान सीएम योगी ने गाजियाबाद के कप्तान भूपेंद्र अग्रवाल ,नोएडा के एसएसपी वैभव कृष्ण, एसपी हापुड़ और लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने जिलों के पुलिस प्रमुखों से कहा कि अब तबादला ही नहीं कार्रवाई भी होगी। बैठक के दौरान कई बड़े अफसरों पर भी सीएम योगी नाराज हुए। योगी आदित्यनाथ ने पुलिसकर्मियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि बढ़ रहे अपराधों के ग्राफ को कम किया जाए और लंम्बित मामलों को जल्द से जल्द सुलझाया जाए। बैठक में सीएम योगी ने राज्य के कई शहरों से लगातार आ रही जाम की समस्या को भी उठाया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यातायात की भी बहुत शिकायतें आ रही हैं।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिवरात्रि व होली के त्योहारों तथा लोकसभा चुनाव के दृष्टिगत पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश देने के साथ ही मुस्तैदी से काम करने पर सब ठीक होने का भरोसा भी जताया। कल कैबिनेट बैठक के बाद रात में सीएम योगी आदित्यनाथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सभी जिलाधिकारियों के साथ एसपी व एसएसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की थी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि त्योहार व चुनाव को शांतिपूर्ण निपटाना पूरी तरह संभव है। इसके लिए प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों का हर स्तर पर पूरी मुस्तैदी बरतनी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस चुनौती से निपटने के लिए शासन, मंडल, जिला व तहसील से लेकर थाना स्तर तक अधिकारी अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का पूरी तरह से निर्वाहन करें।

उन्होंने कहा कि सुरक्षा-व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त किये जायें और वरिष्ठ अधिकारी अपने नेतृत्व में नियमित फुट पेट्रोलिंग करायें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शिवरात्रि के अवसर पर शिवालयों/ज्योतिर्लिंगों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे। ऐसे में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जायें और मन्दिरों के आसपास साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। पेयजल तथा विद्युत सप्लाई भी निर्बाध रहे। डीएम अपने-अपने जिलों में पवित्र स्थलों को चिन्हित कर वहां साफ-सफाई सुनिश्चित करायें। उन्होंने कहा कि यह काम आज से ही शुरू कर दिया जाये। धार्मिक स्थलों में गंदगी की शिकायत मिलने पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी।जिला प्रशासन को त्योहारों के मद्देनजर सकारात्मक रवैया अपनाने का निर्देश भी दिया। मुख्यमंत्री ने कहा सभी एसएसपी/एसपी कानून-व्यवस्था को दुरुस्त रखें। अधिकारी सुनिश्चित करें कि शिवरात्रि व होली के त्योहार शांतिपूर्ण ढंग से मनाये जायें। इसके साथ ही असामाजिक तत्वों व अपराधियों के खिलाफ कड़ी निरोधात्मक कार्रवाई की जाए। छोटी से छोटी घटनाओं को भी पूरी गंभीरता से लेकर पुलिस तत्काल घटनास्थल का निरीक्षण करे और विवाद को हल करने के लिए प्रभावी कार्रवाई करे। चुनाव के दृष्टिगत पेशेवर अपराधियों के खिलाफ अभी से अभियान चलाकर कार्रवाई की जाए। टॉप टेन अपराधियों को चिह्नित कर उन पर शिकंजा कसा जाये।लूट की घटनाओं पर जताई नाराजगी मुख्यमंत्री ने लखनऊ के साथ अन्य जिलों में लूट की घटनाओं को लेकर कड़ी नाराजगी जताई। जिन जिलों में लूट की वारदात हुई हैं, वहां और प्रभावी फुट पेट्रोलिंग कराने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में बड़ी संख्या में डायल-100 के दुपहिया और चैपहिया वाहन मौजूद हैं। ऐसे में इनकी तैनाती संवेदनशील स्थलों पर सुनिश्चित की जाये। कहा कि खराब कानून-व्यवस्था होने पर हर थाने के पुलिस अधिकारी की जिम्मेदारी तय की जाएगी।योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को और प्रभावी बनाने के लिए एम्बुलेंस सेवा का रिस्पांस टाइम सात से 10 मिनट के बीच किया जाये। 102 व 108 सेवा के तहत सभी एम्बुलेंस हमेशा सक्रिय रहें और संवेदनशील स्थलों पर तैनात रहें। लोगों की सुविधा के लिए अस्पतालों में नोडल अधिकारी तैनात किये जायें। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जाये कि अस्पतालों में नर्स व वॉर्ड ब्वॉय नेम प्लेट लगायें। 

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ के आरके ज्वैलर्स लूटकांड में मृत कर्मचारी और ATM गार्ड के घरवालों को पांच लाख का मुआवजा

» कृष्णा नगर थाना क्षेत्र में पत्रकार के घर में लाखों की चोरी,

» लखनऊ का नाम बदलने के विरोध में पासी समाज ने दिया धरना

» 48 घण्टें में घटना की खुलासा का आश्वासन देकर आक्रोशित व्यापारीयों को शांत कराया

» लापरवाह शिक्षकों पर कसेगा आन लाइन मॉनिटरिंग सिस्टम का शिकंजा

 

नवीन समाचार व लेख

» अलीगढ़-:मुस्लिम समाज के लोगों ने भी कावरियों की सेवा करके उठाया पुण्य लाभ

» अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति की बैठक हुई सम्पन्न हुआ साथ ही संगठन का हुआ विस्तार

» 3 मार्च अलीगढ़ नगर आयुक्त ने मेरठ की तरज़ पर करायी कावंड यात्रा में नगर निगम व्यवस्था

» अलीगढ़-:प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया महानगर महानगर द्वारा महाशिवरात्रि के पर्व पर शिव भक्तों का स्वागत किया गया

» राष्ट्रपति ने दी अध्यादेश को मंजूरी आपका आधार होगा आपकी पहचान