यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

राजधानी में घूंस लेते हेड कांस्टेबल का वीडियो हुआ वायरल,SSP ने किया निलंबित


🗒 गुरुवार, मार्च 14 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 राजधानी में पुलिस का दामन दागदार होता जा रहा है। एक के बाद एक घटना पुलिस विभाग की छवि धूमिल करती जा रही है। गुरुवार को हेड कांस्टेबल हमीदुल्‍लाह का शस्त्र की फाइलों को बढ़ाने की एवज में रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल हुआ। सूचना मिलते ही एसएसपी कलानिधि नैथानी ने तत्काल कार्रवाई करते हुए हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया। वहीं मामले के जांच के आदेश दे दिए।पुलिस कार्यालय स्थित डीसीआरबी में तैनात हेड कांस्टेबल का गुरुवार को रिश्वत लेते वीडियो वायरल हो गया। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने आरोपित हेड कांस्टेबल हमीदुल्लाह को निलंबित कर दिया। एसएसपी के मुताबिक आरोपित सिपाही एएसपी क्राइम के अधीन डीसीआरबी शाखा में तैनात था। मामले की जांच एएसपी ग्रामीण विक्रांत वीर को सौंपी गई है।एसएसपी ने बताया कि सिपाही पर शस्त्र लाइसेंस की फाइल आगे बढ़ाने के नाम पर पांच सौ रुपये रिश्वत लेने का आरोप लगा था। एक वीडियो भी वायरल हुआ था। वीडियो देखने के बाद हमीदुल्लाह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही सभी शाखा प्रभारियों, अपर पुलिस अधीक्षकों को अपने अधीनस्थ पर समुचित नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। एसएसपी ने प्रभारियों को अधीनस्थ पर समुचित अंकुश लगाने की हिदायत दी है ताकि भविष्य में कोई पुलिसकर्मी रिश्वत न ले।

राजधानी में घूंस लेते हेड कांस्टेबल का वीडियो हुआ वायरल,SSP ने किया निलंबित

आरोपित सिपाही पहले भी क्राइम ब्रांच में तैनात था, जहां से उसे लाइन हाजिर कर दिया गया था। बाद में उसने अपनी पोस्टिंग क्राइम ब्रांच के जरिए डीसीआरबी में कराई थी। कुछ माह पहले हमीदुल्लाह समेत अन्य पुलिसकर्मियों को वहां से स्थानांतरित कर दिया गया था। इसके बाद उसे सेटिंग के जरिए अपनी पोस्टिंग फिर से क्राइम ब्रांच के माध्यम से पैरवी प्रकोष्ठ में करा ली थी। कुछ समय बिताने के बाद वापस डीसीआरबी चला गया था।पुलिस ऑफिस में वसूली का खेल कोई नया नहीं है। इससे पहले भी कई मामले प्रकाश में आ चुके हैं और कार्रवाई भी हुई है। हालांकि सत्यापन के नाम पर रिश्वतखोरी आज भी जारी है। आरोप है कि कुछ कर्मचारी लोगों की फाइल दबा देते हैं और फिर उनका काम तेजी से कराने के नाम पर वसूली करते हैं।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» लखनऊ मे R Sons कंपनी पर 5.87 लाख ठगी का मुकदमा, प्लाट दिलाने के नाम पर बनाते थे शिकार

» कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का लखनऊ दौरा रद, अब चुनावी समीक्षा के लिए 17 को आने की संभावना

» बसपा सुप्रीमो मायावती कल जारी कर सकती हैं लोकसभा प्रत्याशियों की सूची, 25 से शुरू होगा प्रचार

» अब प्रियंका गांधी व चंद्रशेखर की मुलाकात से BSP मुखिया मायावती में बेचैनी

» तहसील मोहनलालगंज में स्वच्छ भारत अभियान की धज्जियां उड़ा रहा है तहसील प्रशासन

 

नवीन समाचार व लेख

» वाराणसी के शिवदासपुर रेड लाइट एरिया में क्राइम ब्रांच का छापा, पांच लडकियां हुईं मुक्‍त

» लखनऊ मे R Sons कंपनी पर 5.87 लाख ठगी का मुकदमा, प्लाट दिलाने के नाम पर बनाते थे शिकार

» राजधानी में घूंस लेते हेड कांस्टेबल का वीडियो हुआ वायरल,SSP ने किया निलंबित

» जिला उन्नाव के इंडाग्रो स्लॉटर हाउस में गुटखा को लेकर खूनी संघर्ष, 35 घायल

» जिला प्रतापगढ़ में बसपा लोकसभा प्रभारी सहित 68 के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का मामला दर्ज