यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

राजधानी लखनऊ के ओमेक्स रेजीडेंसी डकैती आरोपित मधुकर की रिश्तेदार के घर पर छापा


🗒 शुक्रवार, मार्च 15 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

राजधानी के ओमेक्स रेजीडेंसी स्थित कोयला कारोबारी के फ्लैट में पुलिसकर्मियों के डाका डालने के मामले में पुलिस अभी रुपये बरामद नहीं कर सकी है। गुरुवार को पुलिस टीम गोसाईगंज जेल से आरोपित मधुकर को कस्टडी रिमांड पर लेकर रवाना हुई। एएसपी ग्रामीण विक्रांत वीर के मुताबिक, आरोपित मधुकर से पूरे मामले के बारे में पूछताछ की गई है, लेकिन वह सहयोग नहीं कर रहा है।

राजधानी  लखनऊ के ओमेक्स रेजीडेंसी डकैती आरोपित मधुकर की रिश्तेदार के घर पर छापा

पुलिस टीम ने बाराबंकी के बद्दूपुर में मधुकर की रिश्तेदार महिला के घर पर गुरुवार शाम को दबिश दी। संदेह के आधार पर पुलिस ने घर में तलाशी ली। कई घंटे तक चले सर्च ऑपरेशन के बाद पुलिस टीम खाली हाथ वापस लौट आई। एएसपी ग्रामीण ने बताया कि जिस महिला के घर पर छापेमारी की गई है वह सभी आरोपितों की परिचित है। आरोपितों का वहा आना जाना था। मधुकर से कई बिंदुओं पर पूछताछ की गई है। वह बातों को घुमा फिराकर बता रहा है। फरार आरोपित यशराज और राधाकृष्ण के बारे में भी मधुकर ने कोई ठोस जानकारी नहीं दी है। पूछताछ के लिए अलग-अलग टीमें लगाई गई हैं। अभी चार दिन तक आरोपित पुलिस कस्टडी रिमांड में रहेगा, जिससे रुपये बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है।पुलिस ने आरोपित मधुकर से घटना क्रम के बारे में पूछताछ की है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने मधुकर से पूछा है कि उसने वारदात को अंजाम देने के लिए कैसे साजिश रची थी? वह निलंबित आरोपित दारोगा पवन और आशीष से कब और कैसे मिला था। यही नहीं, एएसपी क्राइम के गनर प्रदीप को कब बुलाया था? क्या इस घटना में अन्य लोगों की भी संलिप्तता है? पुलिस ने आरोपित से फरार दोनों साथियों की लोकेशन के बारे में भी पूछा है। हालांकि आरोपित मधुकर पुलिस को छकाता रहा और उसने अब तक कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दी है।अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप बंसल गुरुवार को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती घायल व्यापारी राजीव गुप्ता से मिले। उनकी हालत में सुधार है। संगठन अध्यक्ष संदीप बंसल ने कहा कि 14 दिन बीतने के बाद भी अभी तक अपराधियों का सुराग नहीं लग सका है। पुलिस महानिदेशक समेत सभी अधिकारी दावा कर रहे हैं कि बहुत जल्द अपराधी पकड़े जाएंगे, लेकिन अभी तक कोई भी गिरफ्त में नहीं आया है। इससे व्यापारियों में आक्रोश है। पुलिस जल्द खुलासा करे नहीं तो मजबूरी में व्यापारी सड़क पर उतरेगा। इस दौरान संगठन के महामंत्री सुरेश छबलानी, हाफिज जलील अहमद सिदीकी, प्रदीप अग्रवाल, आकाश गौतम, संजय सोनकर, अश्वनी वर्मा, रितेश गुप्ता, जावेद बेग, आसिम मार्शल आदि थे।

लखनऊ से अन्य समाचार व लेख

» ब्रह्मोस एयरोस्पेस के इंजीनियर निशांत अग्रवाल पर अब नागपुर में चलेगा मुकदमा

» राजधानी पुलिस टप्पेबाजों पर लगाम करने में पूरी तरह नाकाम बंटी-बबली ने ज्वैलरी की दुकान से उड़ाया आधा किलो सोना

» लखनऊ के अमीनाबाद में वाहन पार्किंग को लेकर व्यवसायी और संचालक भिड़े, हंगामा

» अखिलेश सरकार में मंत्री रहीं अरुण कुमार कोरी ने भी छोड़ा सपा का साथ, शिवपाल की पार्टी में हुईं शामिल

» राजधानी लखनऊ मे चलती ऑटो से युवती ने लगाई छलांग, लोगों ने चालक का किया ऐसा हाल

 

नवीन समाचार व लेख

» UP पुलिस ने आपत्तिजनक संदेशों को वायरल करने वालों से निपटने के लिए कसी कमर

» ब्रह्मोस एयरोस्पेस के इंजीनियर निशांत अग्रवाल पर अब नागपुर में चलेगा मुकदमा

» राजधानी पुलिस टप्पेबाजों पर लगाम करने में पूरी तरह नाकाम बंटी-बबली ने ज्वैलरी की दुकान से उड़ाया आधा किलो सोना

» लखनऊ के अमीनाबाद में वाहन पार्किंग को लेकर व्यवसायी और संचालक भिड़े, हंगामा

» अखिलेश सरकार में मंत्री रहीं अरुण कुमार कोरी ने भी छोड़ा सपा का साथ, शिवपाल की पार्टी में हुईं शामिल